ताज़ा खबर
 

‘एक शाह तो दूसरा बादशाह…’ पुण्य प्रसून बाजपेयी ने कसा तंज तो लोग करने लगे ऐसे कमेंट

पुण्य प्रसून बाजपेयी ने सरकार पर तंज कसते हुए एक ट्वीट किया है। उन्होंने लिखा कि एक शाह है तो दूसरा बादशाह..बस फ़िक्र...

punya prasun bajpai, petrol price hike, punya prasun bajpai twitterपुण्य प्रसून बाजपेयी अक्सर अपनी राय सोशल मीडिया के ज़रिए रखते हैं (फाइल फोटो)

देश में किसान आंदोलन, पेट्रोल, डीजल, रसोई गैस की बढ़ती कीमतों, बेरोजगारी, खराब इकोनॉमी आदि समस्याओं को लेकर विपक्ष केंद्र सरकार को घेर रही है। कई राज्यों में बढ़ती कीमतों को लेकर विपक्ष द्वारा विरोध प्रदर्शन भी किए गए हैं। सोशल मीडिया पर भी #मोदी रोजगार दो जैसे ट्रेंड्स टॉप ट्रेंड कर रहे हैं। इन्हीं सब मुद्दों पर वरिष्ठ पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपेयी ने केंद्र पर तंज कसा है। पुण्य प्रसून बाजपेयी समसामयिक मुद्दों पर अक्सर सरकार पर तंज कसते रहे हैं। उन्होंने अपने ट्विटर अकाउंट से एक ट्वीट किया है जिसपर यूजर्स भी अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं।

पुण्य प्रसून बाजपेयी ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘एक शाह तो दूसरा बादशाह..फिर फिक्र किस बात की..।’ उनके इस ट्वीट पर सोशल मीडिया यूजर्स की मिली जुली प्रतिक्रिया देखने को मिल रही है। जय भारत नाम के एक यूज़र ने मोदी सरकार का समर्थन करते हुए लिखा, ‘सारे भ्रष्टाचारी रो रहे हैं। वसूली, दलाली, भ्रष्टाचार, गरीबों की सब्सिडी की लूट, विधवाओं की फर्जी पेंशन, मजदूरों के फर्जी मनरेगा कार्ड, फर्जी राशन कार्ड की कमाई, मोदी सरकार द्वारा सहायता राशि सीधे ग़रीबों के खाते में पहुंचने से बंद हो चुकी है।’

हितेंद्र पिठादिया, जो कि कांग्रेस से जुड़े रहे हैं, लिखते हैं, ‘एक शाह तो दूसरा तानाशाह..फिर तो बर्बादी तय है।’ तपन शर्मा नाम से एक यूज़र ने मोदी सरकार पर तंज कसते हुए लिखा, ‘टैक्स भी लेंगे, पेट्रोल भी महंगा करेंगे, उपक्रम भी बेचेंगे, कर्ज भी लेंगे फिर भी विकास नहीं करेंगे क्योंकि नियत साफ नहीं है।’

 

रब दा बंदा नाम से एक यूज़र ने लिखा, ‘उन्हें बादशाह मत कहो, बादशाह वो राजा होता है जो एक ही लड़ाई में बहुत से राजाओं को हरा दे.. यहां कुछ ऐसा नहीं है.. यहां लुटेरे और शोषित की बात है।’

 

शब्बीर सरवर ने लिखा, ‘जिस देश का प्रधानमंत्री, गृह मंत्री का ज़्यादातर समय रैली में बीतने लगे तो वहां इकोनॉमी तो डाउन होगी ही।’

 

पुण्य प्रसून बाजपेयी के एक और ट्वीट पर यूजर्स अपनी राय दे रहे हैं। दरअसल उन्होंने किसान आंदोलन में हो रही महापंचायतों पर अपनी राय दी है। उन्होंने लिखा, ‘किसान आंदोलन की महापंचायतें.. इसने चाल- चरित्र- चेहरा का मुखौटा उतार दिया..।’

Next Stories
1 जब शूटिंग पर बियर पीने लगे धर्मेंद्र, मौसमी चटर्जी ने मांगा तो बोले- लस्सी पी रहा हूं; शोले के सेट पर भी हुआ था मजेदार वाकया
2 जब श्रीदेवी ने मिथुन को भरोसा दिलाने के लिए बोनी कपूर को बांध दी थी राखी; बोले थे अमर सिंह- वो शराब नहीं पीती हैं…
3 ऐश्वर्या राय बच्चन ने बेटी आराध्या संग ‘देसी गर्ल’ पर किया धमाकेदार डांस, देखें Viral Video
आज का राशिफल
X