कोई बता सकता है 2047 तक सिंगापुर की प्रति व्यक्ति आय कितनी होगी? मनीष सिसोदिया पर पुण्य प्रसून बाजपेयी ने कसा तंज

मनीष सिसोदिया ने वर्चुअल बैठक में कहा कि 2047 तक दिल्ली की प्रति व्यक्ति आय सिंगापुर जितनी होगी। उनकी बात पर पुण्य प्रसून बाजपेयी ने तंज कसा है।

manish sisodia
दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया। फोटो- आम आदमी पार्टी ट्विटर हैंडल

केंद्रीय वित्तमंत्री निर्मला सीतारमण की अध्यक्षता में हुई वर्चुअल बैठक में दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि बीते छह सालों में दिल्ली की विकास दर 11 से 12 प्रतिशत पहुंच गई है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि दिल्ली में प्रति व्यक्ति आय पूरे देश की तुलना में तीन गुणा ज्यादा है और सरकार का लक्ष्य है कि साल 2047 तक दिल्ली की प्रति व्यक्ति आय सिंगापुर की प्रति व्यक्ति आय जितनी होगी। मनीष सिसोदिया की इस बात पर अब मशहूर पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपेयी ने तंज कसा है।

उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने इस संबंध में ट्वीट भी किया था, जिसे रिट्वीट करते हुए पुण्य प्रसून बाजपेयी ने सवाल किया कि तब तक सिंगापुर की प्रति व्यक्ति आय कितनी होगी। उन्होंने लिखा, “क्या कोई बता सकता है कि साल 2047 तक सिंगापुर की प्रति व्यक्ति आय कितनी होगी।” मनीष सिसोदिया को लेकर किया गया पुण्य प्रसून बाजपेयी का ट्वीट खूब वायरल हो रहा है।

पुण्य प्रसून बाजपेयी के इस ट्वीट पर अब सोशल मीडिया यूजर भी खूब कमेंट कर रहे हैं। अमरनाथ कुमार नाम के यूजर ने लिखा, “तब भारत की स्थिति नजरिये से भी नीचे होगी। दिल्ली को नर्क बनाकर भाषण देना बहुत आसान है।” हैदर नाम के यूजर ने लिखा, “दिल्ली में काम का जितना हल्ला हुआ है, उतना काम हुआ नहीं है।”

अरविंद कुमार नाम के यूजर ने पुण्य प्रसून बाजपेयी के ट्वीट का जवाब देते हुए लिखा, “इसके दो रास्ते हैं। पहला कि दिल्ली की प्रति व्यक्ति आय को साल 2047 की सिंगापुर प्रति व्यक्ति आय जितनी बना दो, या फिर सिंगापुर की प्रति व्यक्ति आय को साल 2047 में दिल्ली की प्रति व्यक्ति आय जितनी बना दो।” बैठक के दौरान उप मुख्यमंत्री ने बताया कि दिल्ली में स्वास्थ्य सुविधाओं पर भी बड़े पैमाने पर काम हो रहा है, साथ ही सरकारी जमीनों पर अस्पताल भी खोले जा रहे हैं।

बता दें कि इससे पहले पुण्य प्रसून बाजपेयी ने दिल्ली में बढ़ते प्रदूषण को लेकर भी तंज कसा था। उन्होंने ट्वीट में लिखा था, “विकास की परिभाषा बदलें या राजधानी दिल्ली को ही शिफ्ट कर दें। प्रदूषण से मुक्ति मिल जाएगी।”

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट