ताज़ा खबर
 

किसानों के आंदोलन पर पुण्य प्रसून बाजपेयी ने पीएम मोदी को मारा ताना तो आने लगे ऐसे कमेंट

किसान संगठन और विभिन्न राजनीतिक दल कृषि बिल 2020 को लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साध रहे हैं। किसान आंदोलन को लेकर जाने-पहचाने पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपेयी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम लिए बगैर परोक्ष रूप से ताना मारा है।

Author Edited By यतेंद्र पूनिया November 26, 2020 9:03 PM
punya prasun bajpai, farmer protest, narendra modiपुण्य प्रसून ने पीएम मोदी पर मारा ताना

नए कृषि बिल के विरोध में पंजाब से दिल्ली कूच कर रहे किसानों को हरियाणा में जगह-जगह रोकने पर राजनीति गरमाई हुई है। पिछले कुछ महीनों से पंजाब और हरियाणा सहित कई प्रदेशों के किसान लगातार इन कानूनों का विरोध कर रहे हैं। किसान संगठनों से लेकर विभिन्न राजनीतिक दल इसे लेकर केंद्र सरकार पर निशाना साध रहे हैं। किसान आंदोलन को लेकर जाने-पहचाने पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपेयी ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम लिए बगैर परोक्ष रूप से ताना मारा है।

पुण्य प्रसून बाजपेयी ने ट्वीट करते हुए लिखा है,’KBC का सवाल : वो कौन शख़्स था जिसने शास्त्री जी के नारे “जय जवान जय किसान” को 49 वर्ष बाद 2014 में बुलंद किया था।विकल्प : 1. प्रधानमंत्री पद का दावेदार, 2. आरएसएस का प्रचारक, 3. गुजरात के मुख्यमंत्री, 4. खुद को प्रधानसेवक कहने वाला।’ पुण्य प्रसून बाजपेयी के इस ट्वीट पर यूजर्स की तरह-तरह की प्रतिक्रिया सामने आ रही हैं।

भरत पांडे नाम के एक यूजर ने लिखा है,’वो कौन-सा पत्रकार है जो पिछले 20-25 सालों से चाहता है कि मोदी जी हारे, उनकी लोकप्रियता कम हो, रात दिन उनके खिलाफ मुहिम चलाता है, पत्रकार के रूप में एक कट्टर कांग्रेसी है। जिसने तेजस्वी को भी मुख्यमत्री बना दिया था लेकिन होता उल्टा है। उत्तर – पुण्य प्रसून बाजपेयी।’ वेद नाम के एक यूजर ने लिखा है,’बिहारी बाबू अपनी मोदी घृणा में इतना बेकाबू हो गया है कि इसे हर वक्त खराब सपने ही आते हैं। सोचिए इतनी असहिष्णुता का 1 प्रतिशत भी उनमें हो तो क्या परिणाम होगा।’

संजय झा नाम के एक यूजर ने लिखा है,’अभी जब पंजाब में किसान आंदोलन हो रहा था और किसानों ने कई दिनों तक रेल पटरियों को जाम कर रखा था तो हमारे ‘क्रांतिकारी’ पत्रकारों के मुँह में कांग्रेस ब्रांड ताला लगा हुआ था।’ प्रमिला नाम की एक यूजर ने लिखा है,’आपके अनुसार तो किसान मोदी से नाराज ही हैं ? बेरोजगार मोदी से नाराज ही हैं ? छात्र मोदी से नाराज ही हैं ? बुद्धिजीवी मोदी से नाराज ही हैं ? मुस्लिम मोदी से नाराज ही हैं ? मोदी को इतना वोट कौन करता है फिर ?’

सुधीर नाम के एक यूजर ने लिखा है,’वो कौन-से पत्रकार हैं जो प्रधानमंत्री को गाहे-बगाहे टारगेट करते है 1.जिनको कांग्रेस के राज में सिर पर चढ़ाया गया लेकिन आजकल नही। 2.जिनकी झूठ और दिखावे की पत्रकारिता विफल हो गई। 3.जो पक्षपातपूर्ण और गैरजिम्मेदारना खबरें छापते हैं। 4.जो किसी एक पार्टी विशेष की चाटुकारिता करते थे।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बिगबॉस 14: रुबीना और जैस्मिन की दोस्ती में पड़ी दरार, टास्क को लेकर हो गई भिड़ंत
2 Anupama, Preview Episode: वनराज का सच जानकर शॉक में परिवार, अनुपमा संग बदतमीजी करने पर बापूजी ने बेटे को सिखाया सबक!
3 अर्नब गोस्वामी की मुश्किल बढ़ाने वाले शिवसेना विधायक को 175 करोड़ के कॉन्ट्रेक्ट में मिली थी घूस, ईडी ने किया दावा
यह पढ़ा क्या?
X