ताज़ा खबर
 

साहेब आपको सच से डर क्यों लगता है? पुण्य प्रसून बाजपेयी ने किया सवाल तो लोग देने लगे ऐसा जवाब

पुण्य प्रसून बाजपेयी ने इस बार सोशल मीडिया पर ट्वीट कर सरकार पर निशाना साधते हुए कहा- साहेब आपको सच से डर क्यों लगता है?

PM Narendra Modi (Photo: ANI)

वरिष्ठ पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपेयी सोशल मीडिया पर लगातार एक्टिव रहते हैं। आए दिन बाजपेयी अपने पोस्ट में मोदी सरकार और पीएम नरेंद्र मोदी पर निशाना साधते रहते हैं। इस बार भी उन्होंने एक और पोस्ट किया जिसमें उन्होंने पूछा- ‘साहिब, आपको सच से डर क्यों लगता है?’ इससे पहले भी बाजपेयी ने एक ट्वीट किया था जिसमें वह सरकार पर तंज कसते दिखे थे- बिना रीढ़ जज, भयभीत मीडिया, चापलूस नौकरशा, बिके हुए विपक्षी नेता और क्या चाहिए मनमर्ज़ी के लिए।

इससे पहले एक पोस्ट में बाजपेयी ने कहा था- देश में कोई नया पॉलिटिकल आइडिया क्यों नहीं? जो लाइमलाइट में आए वो जल्दी अस्त क्यों हुए? विरासत संभाले बच्चों की राजनीति भोथरी क्यों? धर्म की राजनीति ने भारतीय सभ्यता की नींव हिला दी ?

प्रसून बाजपेयी के इन पोस्ट को देख सोशल मीडिया पर ढेरों रिएक्शन सामने आने लगे। प्रियंका सिंह नाम की एक यूजर ने लिखा- ‘जो हमेशा ही झूठ बोलते हों उनको सच बोलने वालों से डर लगता है।’ मनीष नाम के शख्स ने कहा- ये कभी एक बड़े और धुरंधर पत्रकार हुआ करते थे लेकिन मोदी विरोध में अंधे होकर आज एक सस्ते ट्रोल बनकर रह गए हैं।

श्रद्धा तिवारी नाम की महिला यूजर ने कहा- सच कहने से डर नहीं लगता साहब, सत्ता खोने से डर लगता है। दीपक नाम के यूजर बोले- तुमको सच दिखाने में क्यों डर लगता था ? तब तो बड़े क्रांतिकारी इंटरव्यू ले रहे थे ! रेनु धवन नाम की यूजर बोलीं- सच कड़वा होता है, जिनकी सुबह ही झूठ से होती है वो सच का सामना कैसे कर सकते हैं? एक यूजर ने लिखा- चैरिटी की शुरुआत घर से होती है, पहले आप बोले।

रविंद्र नाथ नाम के यूजर बोले- सच से डर लगने का मतलब है कि वह झूठ के दायरे में खड़ा है। वह निकल नहीं पाता है, क्योंकि वह रास्ता भूल चुका होता है। और जब रास्ता भूल चुका होता है तो खुद एक बोझ बनकर, बोझ ढोने से डरता रहता है? राज नाम के यूजर ने कहा- आप लोगों की सच की परिभाषा ही ऐसी है कि उससे आम आदमी डर जाए तो वो तो बहुत बड़े नेता हैं जिनके ऊपर बड़ी जिम्मेदारी है। ऐसे ही एक ट्वीट में पुण्य प्रसून बाजपेयी प्रधानमंत्री की सुरक्षा का खर्च बता बोले- गरीब होते देश में रईसी का आलम; लोग करने लगे ऐसे कमेंट

Next Stories
1 खून-पसीने से चार पैसे कमाए तो राजद्रोह कर दिया? RBI ने एटीएम ट्रांजेक्शन पर बढ़ाई फीस तो भड़के कुमार विश्वास
2 यूपी CM योगी आदित्यनाथ को अजय बिष्ट कहने लगीं कांग्रेस प्रवक्ता तो सोनिया गांधी का नाम ले बिफर पड़े संबित पात्रा
3 फिज़ा में तपिश का पहला पोस्टर जारी, धार्मिक कट्टरता और उदारवादी सोच के बीच ठनी लड़ाई का जीवन्त चित्रण
ये  पढ़ा क्या?
X