ताज़ा खबर
 

पुण्य प्रसून बाजपेयी ने केन्द्र सरकार पर साधा निशाना, बोले – जैसे सीएए का लाभ मुसलमान नहीं समझ पाए, ऐसे ही कृषि कानूनों का लाभ किसान नहीं समझ पा रहे, आने लगे ऐसे कमेंट

पुण्य प्रसून बाजपेयी ने कहा है,'नोटबंदी का लाभ जनता समझ नहीं पायी,जीएसटी का लाभ व्यापारी समझ नहीं पाया।सीएए का लाभ मुसलमान समझ नहीं पाया,कृषि क्षेत्र कानून का लाभ किसान समझ नहीं पा रहा।'

Author Edited By यतेंद्र पूनिया December 9, 2020 1:11 PM
punya prasun bajpai, farmer protestपुण्य प्रसून बाजपेयी ने साधा निशाना

नए कृषि कानूनों को लेकर केंद्र सरकार और किसान संगठनों के बीच कई दौर की बातचीत हो चुकी है परन्तु अभी तक कोई हल नहीं निकल पाया। किसान आंदोलन को लेकर विपक्ष लगातार केंद्र सरकार पर निशाना साध रहा है। जाने-पहचाने पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपेयी लगातार सरकार पर निशाना साध रहे हैं। उन्होंने एक बार फिर से नरेंद्र मोदी सरकार पर निशाना साधा है।

पुण्य प्रसून बाजपेयी ने ट्वीट करते हुए लिखा है,’नोटबंदी का लाभ जनता समझ नहीं पायी,जीएसटी का लाभ व्यापारी समझ नहीं पाया।सीएए का लाभ मुसलमान समझ नहीं पाया,कृषि क्षेत्र कानून का लाभ किसान समझ नहीं पा रहा।’ पुण्य प्रसून बाजपेयी के इस ट्वीट पर यूजर्स की तरह-तरह की प्रतिक्रिया सामने आ रही हैं।

विमल जैन नाम के ट्विटर यूजर ने लिखा है,’बाजपेयी जी जनता तो सब कुछ समझ गई और जनता अपना हित भी समझ गई कि जिनके हाथों में हमारा और हमारे देश का भविष्य है लेकिन आप नहीं समझ पाए क्योंकि आप पत्रकार कम राजनीतिक ज्यादा हो और तथाकथित राजनीतिक दलों के तुम प्रवक्ता बने हुए हो।’ रजनीश कश्यप नाम के ट्विटर यूजर ने लिखा है,’कमाल है बाजपेयी जी, फिर भाजपा का जनाधार और मोदी जी की लोकप्रियता कैसे बढ़ रही है, जनता अब समझदार हो गई है, जनता को बरगलाइये मत, मोदी जी के हाथों देश सुरक्षित है, ट्वीटर पढ़े-लिखे जागरुक लोगों का मंच है , यहां जो भी बोलिए तथ्य के साथ बोलिए।’

जितेंद्र सिंह चौहान नाम के ट्विटर यूजर ने लिखा है,’समझ भी नहीं पाएगा, अभी और भी बहुत कुछ आने वाला है उसकी भी तैयारी करो, लोकतंत्र ख़तरे में नहीं है, लोकतंत्र ओवरफ्लो हो रहा है भारत में उसकी तैयारी भी जोरों से हो रही है।’

लक्ष्य चोपड़ा नाम के ट्विटर यूजर ने लिखा है,’सरकार जिन कानूनों को जिनके हित में लेकर आती है जब वो ही इससे सहमत नहीं हैं तो ऐसे कानूनों को लागू क्यों किया जाता है? निजी हित में तो नहीं?’ अतुल नाम के ट्विटर यूजर ने लिखा है,’पर आपकी हरकतें सब समझ रहे हैं । दिन भर छाती कूटने के अलावा शायद ही कुछ बचा है अब। कब जमीनी हकीकत से रूबरू होंगे आप।’

Next Stories
1 ‘ये मसला अब हल होना ही चाहिए..’ किसानों पर बोलतीं सुषमा स्वराज का पुराना वीडियो शेयर कर बोल पड़े शत्रुघ्न सिन्हा, तो होने लगी धड़ाधड़ कमेंट्स की बरसात
2 29 साल की उम्र में वीजे चित्रा की मौत, होटल के कमरे में मृत पाई गईं मशहूर साउथ एक्ट्रेस
3 ‘इमाम और मदरसा में बलात्कार..’ तसलीमा नसरीन ने बांग्लादेश के धर्मस्थलों को लेकर किया पोस्ट, यूजर्स कर रहे ऐसे रिएक्ट
आज का राशिफल
X