ताज़ा खबर
 

सभी CM इस्तीफ़ा देकर गद्दी मोदी जी को सौंप दें- बोले पुण्य प्रसून बाजपेयी तो यूजर्स देने लगे ऐसा रिएक्शन

पुण्य प्रसून बाजपेयी ने ट्विटर के ज़रिए प्रधानमंत्री मोदी पर तंज कसा है। उन्होंने कहा है कि सभी मुख्यमंत्रियों को इस्तीफ़ा देकर गद्दी नरेंद्र मोदी को सौंप देनी चाहिए।

punya prasun bajpai, covid 19, narendra modiपुण्य प्रसून बाजपेयी ने नरेंद्र मोदी पर तीखा प्रहार किया है (File Photo)

भारत में कोरोनावायरस संक्रमण के हर दिन रिकॉर्डतोड़ मामले सामने आ रहे हैं। कई राज्य लॉकडाउन लगाकर कोरोना पर काबू करने की कोशिश कर रहे हैं लेकिन पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में नेताओं की रैली, रोड शो बदस्तूर जारी है। केंद्र सरकार के कोरोना से निपटने की रणनीति पर उसकी खूब आलोचना भी हो रही है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी स्वयं पश्चिम बंगाल में लगातार चुनावी रैलियों को संबोधित कर रहे हैं जहां लोग कोविड 19 के गाइडलाइंस की धज्जियां उड़ा रहे हैं। उनके इस कदम की खूब आलोचना हो रही है। केंद्र सरकार के कोविड से लड़ने के ढुलमुल रवैए पर वरिष्ठ पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपेयी ने तीखा प्रहार किया है।

जिस तरह से विभिन्न राज्यों से ऑक्सीजन, हॉस्पिटल- बेड, कोविड- 19 वैक्सीन की कमी आदि की शिकायतें आ रही हैं, लोग उचित इलाज के अभाव में कोरोना संक्रमण से मर रहे हैं, उस पर बाजपेयी ने कहा है कि ये अमानवीयता बंद होनी चाहिए। उन्होंने ट्विटर पर किए गए अपने ट्वीट में लिखा, ‘बंद हो अमानवीयता, सभी सीएम इस्तीफ़ा दे कर गद्दी मोदी जी को सौंप दें।’

पुण्य प्रसून बाजपेयी के इस ट्वीट पर यूजर्स भी अपनी प्रतिक्रिया दे रहे हैं। मेहुल मारू नाम के यूज़र लिखते हैं, ‘मोदी जी कैसे प्रधानमंत्री हैं। जिम्मेदारी से कोरोना से लड़ने के बदले जिम्मेदारी से भाग कर बंगाल में चुनावी रैली कर रहे हैं। अब कोरोना संभल नहीं रहा तो राज्यों के मुख्यमंत्रियों से कह दिया जो करना है आप लोग कर सकते हैं। भगवान ही बचाए इस देश को अब।’

 

ई वैद नाम के एक यूजर यूजर लिखते हैं, ‘ये बात अब देश की जनता को समझनी चाहिए कि क्या ये लोग देश चलाने के काबिल हैं? क्या ऐसे लोगों को नेता बनाकर सत्ता में बैठना चाहिए जिन्हें जनता के दुख- दर्द से कुछ लेना देना नहीं है?’

 

हरीश रजा खान नाम के यूजर लिखते हैं, ‘पब्लिक भी तो ऐसी ही है। उनकी बात मान रही है और खुद भीड़ जमा कर रही है रैलियों में।’ सुनंदा शर्मा नाम की एक यूजर लिखती हैं, ‘यह सत्ता के लालची क्या कुर्सी छोड़ सकते हैं? कभी नहीं।’

 

आदित्य महेश पूरी नाम से एक यूजर ने लिखा, ‘कोई सीएम पोस्ट नहीं छोड़ेगा। ताईवान में एक ट्रेन हादसा होता है जिसमें 59 लोग मारे जाते हैं, रेलवे मिनिस्टर तुरंत इस्तीफा देते हैं। अपने यहां रोज सैकड़ों लोगों को मरता देख भी कोई मिनिस्टर या सीएम ने कोई जिम्मेदारी तक नहीं ली। सबकी आंखों का पानी सूख चुका है।’

Next Stories
1 सनातन की तुलना मरकज से नहीं हो सकती- कुंभ पर डिबेट में बोले BJP नेता संबित पात्रा तो मिला ऐसा जवाब
2 जब राजेश खन्ना से मिलने फ़िल्म के सेट पर अपनी स्टूडेंट्स को लेकर पहुंच गए प्रिंसिपल, ऐसा हो गया था ‘काका’ का हाल
3 मिठाई के बदले एक फोन तो कर लेते…जब शत्रुघ्न सिन्हा ने लौटा दी अमिताभ बच्चन की भेजी हुई मिठाई; इस बात से हो गए थे नाराज़
यह पढ़ा क्या?
X