ताज़ा खबर
 

टैक्सपेयर का कितना खर्च? सेंट्रल विस्टा को लेकर पुण्य प्रसून बाजपेयी ने किया सवाल, ट्वीट कर सरकार पर मारा ताना

कोरोना महामारी के बीच भी जारी सेंट्रल विस्टा के निर्माण कार्य को लेकर मशहूर पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपेयी ने एक बार फिर ट्वीट कर सराकर को ताना मारा है।

सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट पर पत्रकार ने किया सवाल (फोटो क्रेडिट- इंडियन एक्सप्रेस)

लॉकडाउन के बीच भी सेंट्रल विस्टा का काम जारी है। सुप्रीम कोर्ट ने भी सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट को स्थगित करने की याचिका को स्वीकार करने से इंकार कर दिया था। कोरोना महामारी के बीच भी जारी सेंट्रल विस्टा के निर्माण कार्य को लेकर मशहूर पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपेयी ने एक बार फिर ट्वीट कर सराकर को ताना मारा है। उन्होंने सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट के निर्माण पर किये जा रहे खर्च को लेकर सरकार से सवाल किया है। पुण्य प्रसून बाजपेयी का यह ट्वीट सोशल मीडिया पर भी खूब सुर्खियां बटोर रहा है।

पुण्य प्रसून बाजपेयी ने अपने ट्वीट में सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट के निर्माण पर तंज कसते हुए लिखा, “साहिब, सेंट्रल विस्टा पर टैक्सपेयर का कितना रुपए खर्च हुआ? 13400 करोड़, 15000 करोड़ रुपये, 20000 करोड़ रुपये या 22000 हजार करोड़ रुपए। सही जानकारी दें, ‘सोने की चिड़िया’ का अंदाजा लगे।”

पुण्य प्रसून बाजपेयी के इस ट्वीट को लेकर सोशल मीडिया यूजर भी खूब कमेंट कर रहे हैं। उनके ट्वीट का जवाब देते हुए एक यूजर ने लिखा, “साहब जरा एक सवाल महाराष्ट्र सरकार से भी पूछ लीजिए। एमएलए निवास के लिए कितना खर्च हो रहा है और महाराष्ट्र से शुरुआत से ही सबसे ज्यादा केस हैं।” वहीं, दूसरे यूजर ने लिखा, “साहब सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट केवल अपने लिए बना रहे हैं क्या। उसमें कांग्रेस, सपा, बसपा, शिवसेना और अन्य पार्टी क सांसद नहीं बैठने वाले हैं क्या?”


बता दें कि यह पहली बार नहीं है जब पुण्य प्रसून बाजपेयी ने ट्वीट कर सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट को लेकर सरकार पर तंज कसा हो। इससे पहले उन्होंने अपने एक ट्वीट में सेंट्रल विस्टा पर चर्चा करते हुए लिखा, “सेंट्रल विस्टा…संभलें, कहीं हालात इतने न बिगड़ जाएं कि पीएम निवास व राष्ट्रपति भवन को भी अस्पताल में तब्दील करना पड़ जाए।”

इससे इतर पुण्य प्रसून बाजपेयी ने सेंट्रल विस्टा के निर्माण कार्य से जुड़ी तस्वीर भी अपने ट्विटर हैंडल से साझा की थी। इस तस्वीर को साझा करते हुए उन्होंने लिखा, “दिल्ली में राजपथ का एक नजारा…सांसें थमीं पर सेंट्रल विस्टा का प्रोजेक्ट नहीं थमा।”

सेंट्रल विस्टा प्रोजेक्ट के अलावा पुण्य प्रसून बाजपेयी ने दवाओं की कालाबाजारी और सांसद व विधायकों की खरीद-फरोख्त को लेकर भी ट्वीट किया था। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा, “दवाई/ऑक्सीजन की काला बाजारी बंद होनी चाहिए। सांसद/विधायक की खरीद-फरोख्त भी बंद होनी चाहिए।”

Next Stories
1 घर मेरा, बर्थडे मेरा और प्राइज उसको- डांस में ऋतिक रोशन से हारने के बाद जितेंद्र से नाराज़ हो गईं थीं एकता कपूर; ये था पूरा किस्सा
2 प्रोड्यूसर्स के नाम का ड्रॉ करवाते थे राजेश खन्ना फिर चुनते थे फिल्में- अरुणा ईरानी ने बताई थी वजह
3 भाई की मौत के बाद Khatron Ke Khiladi में गईं निक्की तंबोली तो लोगों ने कर दिया ट्रोल, बोलीं- मुझे भी खुश रहने का हक
यह पढ़ा क्या?
X