7, लोककल्याण मार्ग पर भेजें मोबाइल की बातचीत, रुक जाएगी जासूसी- बोले पुण्य प्रसून बाजपेयी, लोग करने लगे ट्रोल

पेगासस मामले को लेकर पुण्य प्रसून बाजपेयी ने मोदी सरकार पर निशाना साधा है।

Spyware Pegasus, Ravish Kumar, NDTV
कई देशों में पेगासस के जरिये जासूसी का आरोप लग रहा है (Photo- Indian Express)

पेगासस मामले पर सियासत जारी है। विपक्ष इस मामले को लेकर हमलावर है और सदन में भी सरकार को घेरा। इसी बीच वरिष्ठ पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपेयी ने भी पेगासस मामले पर तंज कसते हुए मोदी सरकार पर निशाना साधा है। उन्होंने ताना मारते हुए ट्वीट किया और लिखा, ‘जासूसी रुक जाएगी… सभी नागरिक अपने मोबाइल की बातचीत कागज पर लिखकर 7, लोक कल्याण मार्ग, दिल्ली के पते पर भेजें।’ आपको बता दें कि यह प्रधानमंत्री का आधिकारिक आवास है।

बाजपेयी की इस पोस्ट को देख कर ढेरों लोगों के रिएक्शन भी सामने आने लगे। तमाम यूज़र बाजपेयी की खिंचाई करने लगे। एक यूजर ने कहा- ‘हम ऐसे ही दे देंगे फोन भारत सरकार को। तिकड़मबाज अपना मोबाइल फॉरेंसिक जांच के लिए क्यों नहीं दे देते? कोर्ट में क्यों नहीं जाते? किस बात का डर है? वैसे देशद्रोहियों की पहचान के लिए राजा महाराजा गुप्तचर रखा करते थे, रखना भी जरूरी है।’ रजनीश कुमार कश्यप बोले- ‘जिसकी हुई है, या जो इल्जाम लगा रहे हैं, वो पहले शिकायत लिख कर मोबाइल को जमा कराएं थाने में। दूध का दूध पानी का पानी हो जायेगा। बरगलाओ मत, मोदी जी को बदनाम करने का दूसरा बहाना ढूंढो। ‘

सीपी जैन नाम के यूजर ने लिखा- ‘जासूसी हो रही है, राई का पहाड़ खड़ा किया जा रहा है। जबकि पूर्व सरकारों का इतिहास बेहद डरावना है और इस कारण कई सरकारें गिर चुकी हैं।’ भारत नाम के शख्स ने लिखा- ‘अच्छा, सिर्फ 300 लोग ही भारत हैं क्या? सर, लगता है कोई नशा करते हैं आप।’

वेदांतिका नाम की महिला यूजर बोलीं- ‘उसपर भी आप जैसे संतुष्ट नहीं होंगे, तब मुद्दा होगा कि फासीवादी सरकार अब तो नागरिकों से बलपूर्वक उनकी बातचीत का ब्यौरा मांग रही है। देश का लोकतंत्र, संविधान खतरे में है।’ अमित गर्ग नाम के शख्स ने लिखा- ‘मुंह पर मास्क ना लगाने की पीड़ा आप और हम भुगत रहे हैं। याद रखना मुंह पर ताला लगाने की पीड़ा हमारी पीढ़िया भुगतेंगी!’ कुमार मिश्रा ने कहा- ‘कुछ दिन बाद ये कानून बना देंगे, अभी आप बोल रहे हो। हो सकता है कुछ दिन बाद ये करना पड़े।’

बता दें, पेगासस से कथित जासूसी मामले को लेकर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी मोदी सरकार पर जमकर निशाना साधा। राहुल गांधी ने कहा, ‘हमारा सिर्फ एक सवाल है कि क्या हिंदुस्तान की सरकार ने पेगासस को खरीदा, हां या ना? क्या हिंदुस्तान की सरकार ने अपने लोगों पर पेगासस हथियार का इस्तेमाल किया?’

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।