ताज़ा खबर
 

ऐक्ट्रेस की मां का आरोप- रेप कर बेटी को उतारा मौत के घाट, कत्ल में नेता भी थे शामिल

प्रत्युषा तीन फरवरी 2002 को बेंगलुरू जाने वाले थी। अगले दिन उसकी कन्नड़ फिल्म की लॉन्चिंग थी। वह आखिरी मौका था, जब उसकी मां ने उसे देखा था।

माना जाता है कि प्रत्युषा ने खुदकुशी की थी, क्योंकि दोनों के परिवार वालों उनकी नजदीकियों पर ऐतराज जताया था।

साउथ की एक्ट्रेस प्रत्युषा की मौत के 15 साल बाद उसकी मां सरोजिनी देवी ने कहा है कि उसका कत्ल किया गया था। उन्होंने आरोप लगाया कि बेटी का पहले रेप किया गया, बाद में कुछ हाई-प्रोफाइल लोगों ने उसकी हत्या कर दी थी। घटना को अंजाम देने के लिए आरोपियों ने उसके बॉयफ्रेंड की मदद भी ली थी। माना जाता है कि प्रत्युषा ने खुदकुशी की थी, क्योंकि दोनों के परिवार वालों उनकी नजदीकियों पर ऐतराज जताया था। हालांकि, सरोजिनी ने इस बात से असहमति जताई है कि मौत से पहले वह अपने करियर को लेकर खुश थी। तेलुगू मीडिया को उसकी मां ने बताया कि तीन फरवरी 2002 को वह कर्नाटक में बेंगलुरू जाने वाले थी। अगले दिन उसकी कन्नड़ फिल्म की लॉन्चिंग थी। वह आखिरी मौका था, जब उन्होंने बेटी को देखा था।

एक्ट्रेस की मां ने बेटी की हत्या के पीछे बड़ी साजिश बताई है। उनके मुताबिक, इस मामले में कुछ तेलुगू राजनेता भी शामिल हैं। बेटी की मौत के वक्त उन्हें इस बात का अंदेशा नहीं था। उन्होंने इस बाबत कहा कि अगर उन्हें पता होता कि उनकी बेटी हत्या के पीछे कई लोगों का हाथ है, तो वह तब उसका अंतिम संस्कार न होने देतीं। उन्होंने यह भी बताया कि वह कभी भी बेटी और उसके बॉयफ्रेंड के संबंध के खिलाफ नहीं थीं। उन्होंने दोनों की नजदीकियों पर सहमति जताई थी। लेकिन शादी से पहले दोनों को करियर पर ध्यान देने की सलाह भी दी थी।

साल 2002 में यह विवाद तब सामने आया था, जब गांधी अस्पताल के फॉरेंसिक एक्सपर्ट बी मुणिस्वामी ने प्रत्युषा के शव की जांच की थी। तब उन्होंने उसकी हत्या की आशंका जताई थी। पुरानी रिपोर्ट्स की मानें, तो उसकी रिपोर्ट में बताया गया था कि मौत गले पर दबाव पड़ने से हुई थी। उन्होंने यह भी आरोप लगाया था कि उसके शरीर पर वीर्य के निशान पाए थे, जिससे लग रहा था कि किसी ने उससे रेप की कोशिश की थी। आंध्र प्रदेश हाईकोर्ट ने इस मामले में सीबीआई को जांच के निर्देश दिए थे, जिसमें प्रत्युषा के खुदकुशी करने की बात सामने आई थी। वहीं, बॉयफ्रेंड को उसे खुदकुशी के लिए उकसाने का दोषी पाया गया था। कोर्ट ने छह हजार रुपए का जुर्माना लगाते हुए उसे पांच साल जेल की सजा सुनाई थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App