scorecardresearch

पति के पैरों की पूजा करने पर ट्रोल हुई थीं एक्ट्रेस, बोलीं हीरोइन हूं तो क्या संस्कार भूल जाऊं?

प्रणिता सुभाष ने कहा कि मैं एक अभिनेत्री हूं और ग्लैमर की दुनिया से मेरा संबंध है। इसका मतलब यह नहीं है कि मैं उन रिचुअल को फॉलो नहीं करूंगी

Pranitha Subhash, actress
प्रणिता सुभाष ने कहा कि जिंदगी में हर चीज के दो पहलू होते हैं।( image: instagram)

साउथ एक्ट्रेस प्रणिता सुभाष खूबसूरती और शानदार एक्टिंग स्किल्स के लिए मशहूर हैं। एक्ट्रेस अपने काम के अलावा अन्य मुद्दों पर भी अपनी राय रखने के लिए जानी जाती हैं। फिल्हाल एक्ट्रेस अपनी कुछ तस्वीरों को लेकर सुर्खियों में हैं। जिस पर उन्हें ट्रोल किया जा रहा है। अब एक्ट्रेस ने इस पर रिएक्ट किया है।

फोटो में ऐसा क्या था?

दरअसल प्रणिता ने भीमना अमावस्या पर अपने इंस्टाग्राम पर कुछ तस्वीरें साझा की थीं। जिसमें एक्ट्रेस जमीन मैं बैठी दिखाई दे रही थीं, जबकि उनके पति कुर्सी पर थे और उनके पैर थाली में रखे हुए थे। इन तस्वीरों को शेयर करने के बाद लोगों ने एक्ट्रेस को ट्रोल करना शुरू कर दिया।

एक्ट्रेस ने दी प्रतिक्रिया

हाल ही में ईटाइम्स को दिए इंटरव्यू में एक्ट्रेस ने कहा कि जिंदगी में हर चीज के दो पहलू होते हैं,लेकिन इस केस में 90 प्रतिशत लोगों के पास अच्छी बातें हैं कहने के लिए। बाकी पर मैं ध्यान नहीं देती। मैं एक अभिनेत्री हूं और ग्लैमर की दुनिया से मेरा संबंध है। इसका मतलब यह नहीं है कि मैं उन रिचुअल को फॉलो नहीं करूंगी जिनके साथ मैं पली बढ़ी हूँ, जिनमें मेरा पूरी तरह से विश्वास है।

मैं सनातन धर्म का पालन करती आई हूं। मेरे सभी कजिन्स, पड़ोसी और दोस्तों ने यह पूजा की है। मैंने पिछले साल भी पूजा की थी जब मेरी नई-नई शादी हुई थी, लेकिन तब तस्वीर साझा नहीं की थी।

आधूनिक होने का मतलब रीति-रिवाजों को भूलना नहीं

एक्ट्रेस ने आगे कहा कि मेरे लिए इसमें कुछ भी नया नहीं है, मैं हमेशा से एक ट्रेडिशनल लड़की रही हूं, इसलिए परंपरा, मान्यताएं और परिवार से जुड़ी चीजों को मानती हूं। घरेलू रहना मुझे हमेशा से पसंद रहा है और इसलिए एक संयुक्त परिवार में रहना पसंद है। अपने माता पिता के अलावा मैं भी चाची, दादी और चाचाओं से घिरी हुई बड़ी हुई हूं और मुझे यह पसंद है। सनातन धर्म एक अवधारणा है, जो बहुत सुंदर है और सभी को गले लगाती है और मैं इसका पूरे मन से पालन करती हूं। कोई आधुनिक हो सकता है, लेकिन इसका मतलब यह नहीं है कि कोई अपनी जड़ों को भूल जाए।

पढें मनोरंजन (Entertainment News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट

X