अद्भुत लोग हैं- पीएम के दौरे की मीडिया कवरेज पर उठा सवाल तो गुस्साईं ऋचा अनिरुद्ध, अमिश देवगन भी बिफरे

PM मोदी की इस तीन दिवसीय यात्रा को लेकर भारतीय मीडिया में चर्चा तो हुई ही लेकिन विदेशी मीडिया ने पीएम मोदी के दौरे को अहमियत नहीं दी।

USA, PM MODI
वाशिंगटन में राष्ट्रपति जो बाइडेन से मिलते पीएम नरेंद्र मोदी। (File Photo/Source: Twitter/@narendramodi)

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की यूएस तीन दिवसीय यात्रा की चर्चा विदेशी मीडिया में नहीं हुई। ऐसे में इस मामले में पीएम मोदी को निशाना बनाने वाले लोगों पर पत्रकार ऋचा अनिरुद्ध और पत्रकार अमिश देवगन भड़कते हुए नजर आए।

पत्रकार ऋचा अनिरुद्ध सोशल मीडिया पर उन लोगों पर भड़कती हुई दिखीं जो लोग विदेशी मीडिया द्वारा पीएम मोदी को अहमियत न देने पर खुश होते नजर आए। ऋचा अनिरुद्ध ने ऐसे लोगों को पर तंज करते हुए गुस्से से भरा एक पोस्ट किया जिस पर पत्रकार अमिश देवगन ने भी रिएक्ट करते हुए ऐसे लोगों पर अपनी नाराजगी जाहिर की।

दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अमेरिका के तीन दिवसीय यूएस यात्रा पर गए थे। जहां शुक्रवार को पीएम मोदी की व्हाइट हाउस के ओवल ऑफिस में अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन से मुलाकात हुई। इस तीन दिवसीय यात्रा को लेकर भारतीय मीडिया में चर्चा तो हुई ही लेकिन विदेशी मीडिया ने पीएम मोदी के दौरे को अहमियत नहीं दी।

ऋचा अनिरुद्ध ने अपने पोस्ट में कहा-‘अद्भुत लोग हैं, जो इस बात पर खुश होते हैं कि देखो अमेरिकी मीडिया ने हमारे प्रधानमंत्री के दौरे को अहमियत नहीं दी। यही लोग तब भी खुश होते हैं जब विदेशी मीडिया आपके देश में सिर्फ़ बुराइयां ढूंढ कर छाप रहा हो और अपने देश की कमियां छुपा रहा हो। इनके लिए विदेशी मीडिया ही सब कुछ है!’

ऋचा अनिरुद्ध के इस पोस्ट पर अपना रिएक्शन देते हुए अमिश देवगन ने कहा- ‘इस लॉबी को पूरी तरह से विपरीत बोलने का जुनून सवार है। ये भारत विरोधी हैं। ये लोग तो खुद अपनी साख के लिए लड़ रहे हैं। जो हर दिन गिरते ही जा रहे हैं।’

ऋचा अनिरुद्ध और अमिश देवगन के इस पोस्ट पर ढेरों लोगों के रिएक्शन सामने आने लगे। पुखराज नाम के यूजर ने कहा- ‘अमेरिकी मीडिया से हमें क्या लेना-देना वो तो भारत की कमियां बताते हैं, बुराई करते हैं। तब तुम लोग बहुत खुश होते हो। कब तक विदेशी मीडिया की गुलामी, उन पर विश्वास करते रहोगे? भारत पर भरोसा करना सीखो। अमेरिकी मीडिया के कवरेज नहीं करने से भारत को कोई फर्क नहीं पड़ता।’ (प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने राष्ट्रपति बाइडेन के सामने उठाया एच-1बी वीजा का मुद्दा)

जया दीक्षित ने लिखा- ‘मोदीजी का विरोध करते-करते कब ये अपने देश के खिलाफ हो जाते हैं इन्हें पता ही नही चलता। विपक्ष का काम होता है सत्ता की गलत नीतियों का विरोध करना, ना कि एक व्यक्ति विशेष का ही विरोध करना। शायद ये भूल जाते हैं कि अगर किसी पर एक उंगली उठाते हैं, तो वापस तीन अपनी तरफ ही मुड़ती हैं।

दिनेश नाम के यूजर ने जवाब देते हुए कहा- ‘कभी आपने PM care fund की वैधता पर सवाल खड़े किये? नहीं ना और शायद करेंगी भी नहीं। आप जैसे लोगों का ज़मीर मर चुका है।’ रिज्वान नाम के यूजर ने कहा- ‘अद्भुत इसलिए है कि अंधभक्त कहते हैं कि 70 साल में ऐसा 56 इंचा वाला प्रधानमंत्री पैदा नहीं हुआ। अंधभक्त कहते हैं कि विदेशों में डंका बज रहा है, तो लोगों ने सोचा कि डंका देख लिया जाए लेकिन मीडिया ने जगह ही नहीं दी, डंका की तो बात छोड़िए।’

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट