ताज़ा खबर
 

‘पद्मावती’ को लेकर आया सलमान खान का बयान

विवादों से घिरी संजय लीला भंसाली निर्देशित फिल्म 'पद्मावती' पर सुपरस्टार सलमान खान ने अपनी चुप्पी तोड़ते हुए कहा कि फिल्म पर विवाद से किसी को भी फायदा नहीं होगा, बल्कि सिर्फ नुकसान ही होगा।

Author मुंबई | December 1, 2017 05:40 am
सलमान खान

विवादों से घिरी संजय लीला भंसाली निर्देशित फिल्म ‘पद्मावती’ पर सुपरस्टार सलमान खान ने अपनी चुप्पी तोड़ते हुए कहा कि फिल्म पर विवाद से किसी को भी फायदा नहीं होगा, बल्कि सिर्फ नुकसान ही होगा। सलमान का कहना है कि फिल्म पर जारी विवाद में सही या गलत की पहचान कर पाना मुश्किल है। राजधानी दिल्ली में गुरुवार को एक कार्यक्रम के दौरान सलमान ने दीपिका पादुकोण अभिनीत फिल्म के खिलाफ जारी विरोध प्रदर्शन पर अपने विचार साझा किए। सलमान ने कहा, “फिल्म पर विवाद से किसी को भी फायदा नहीं होगा। इससे सिर्फ नुकसान हो सकता है। फिल्म की रिलीज में देरी और लोग थियेटरों में जाने से डरेंगे। यहां तक कि थियेटर के मालिक भी इस फिल्म को रिलीज करने से घबराएंगे। इस कारण सिनेमा हॉल के बाहर विरोध प्रदर्शन हो सकते हैं। ‘हम दिल दे चुके सनम’ के अभिनेता सलमान ने कहा, “मुझे नहीं लगता कि फिल्म को देखने से पहले इस पर टिप्पणी कर किसी की भावनाओं को आहत करना सही होगा। हिंदुस्तान टाइम्स के लीडरशिप सम्मेलन में शामिल हुए सलमान ने विचार साझा किए।

उल्लेखनीय है कि ‘पद्मावती’ फिल्म में राजपूत रानी पद्मावती की हिम्मत और जज्बे की कहानी को दर्शाया जा रहा है। फिल्म शूटिंग के समय से ही विवादों का सामना कर ही है। इस दौरान, राष्ट्रीय पुरस्कार विजेता निर्देशक भंसाली के साथ राजपूत संगठन करणी सेना के कार्यकर्ताओं ने जयपुर में बुरा व्यवहार किया था। उनका कहना था कि इस फिल्म में पद्मावती और अलाउद्दीन खिलजी के किरदारों के बीच अन्तरंग दृश्य डाले गए हैं। फिल्म के खिलाफ करणी सेना का विरोध प्रदर्शन यहीं नहीं रुका। एक दिसम्बर को इस फिल्म की रिलीज तारीख तय की गई थी, जिसे रोकने के लिए राजपूत संगठन के कार्यकर्ताओं ने कई प्रयास किए। उन्होंने थियेटरों को जलाने की धमकी भी दी।

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के एक नेता ने भंसाली और दीपिका के सिर काटने पर 10 करोड़ रुपये का पुरस्कार देने की घोषणा की। ‘पद्मावती’ पर जारी इस विवाद के बारे में सलमान ने कहा, “ऐसे मामले में कई और चीजें निकल कर सामने आएंगी। हम नहीं जानते कि क्या गलत है और क्या सही। केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड (सीबीएफसी) और सर्वोच्च न्यायालय को इस मामले में फैसला लेने की जरूरत है। सीबीएफसी के लिए गए फैसले का हम सम्मान करेंगे।”

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App