ताज़ा खबर
 

पद्मावत विवाद: वेटरन अभिनेत्री आशा पारेख बोलीं- देश पागल हो गया है, मैं तो फिल्‍म देखकर सो नहीं सकी

Padmaavat: इंडस्ट्री के जाने-माने चेहरे भी फिल्म 'पद्मावत' देखने के लिए समय निकाल कर शो देखने जा रहे हैं। इस बीच हिंदी सिनेमा की दिग्गज अभिनेत्रियां वहीदा रहमान और आशा पारेख ने भी फिल्म की तारीफ की है।

पद्मावत पर बोलीं एक्ट्रेस वहीदा रहमान और आशा पारेख

संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावत’ दर्शकों को खूब पसंद आ रही है। वहीं इंडस्ट्री के जाने-माने चेहरे भी फिल्म ‘पद्मावत’ देखने के लिए समय निकाल कर शो देखने जा रहे हैं। इस बीच हिंदी सिनेमा की दिग्गज अभिनेत्रियां वहीदा रहमान और आशा पारेख ने भी फिल्म की तारीफ की है। इन एक्ट्रेसेस को संजय लीला भंसाली द्वारा बनाई गई फिल्म और दीपिका पादुकोण की लाजवाब एक्टिंग खूब पसंद आई।

फिल्म को देखने के बाद एक्ट्रेस आशा पारेख कहती हैं, ‘देश पागल हो गया है। यकीन मानिए फिल्म देखने के बाद मैं सो नहीं पाई। संजय लीला भंसाली ने कमाल की फिल्म बनाई है।’ आशा पारेख संजय लीला भंसाली की तारीफ करते हुए कहती हैं, ‘जिस तरह से संजय अपने एक्टर्स से फिल्म में काम कराते हैं वह कमाल है। काश मैं 30 साल की होती और भंसाली की हिरोइन होती। मैं दीपिका को उनके बेहतरीन परफॉर्मेंस के लिए बधाई देती हूं।’

पारेख आगे कहती हैं, ‘अगर मैं रानी पद्मावती पर फिल्म बनाती तो दीपिका की जगह और किसी को नहीं लेती। वह बहुत ग्रेसफुल डांसर हैं और उनकी एक्टिंग लाजवाब है। रणवीर सिंह का काम फिल्म में बहुत बढ़िया है। फिल्म का हर फ्रेम बहुत मेहनत से बनाय गया है। ‘घूमर’ में डांस बहुत खूबसूरत है।’ पारेख आगे कहती हैं,’ मैं हैरान हूं कि करणी सेना इतना हल्ला क्यों मचा रही है। फिल्म में राजपूतों के खिलाफ कुछ भी नहीं है। फिल्म में राजपूतों को ऐसा दिखाया गया है जैसे कभी किसी ने फिल्मों में नहीं दिखाया। उन्होंने एक गलती जरूर की है यह फिल्म बनाने की उन्होंने हिम्मत की है। उन्होंने कोशिश की मुगल-ए-आजम के सामने एक और जबरदस्त फिल्म को खड़ा करने की।

पद्मावत: दूसरी स्‍पेशल स्‍क्रीनिंग में भी नहीं दिखे रणवीर सिंह, दीपिका पादुकोण ने अपनाया साड़ी लुक

एक्ट्रेस वहीदा रहमान ने संजय लीला भंसाली की फिल्म देखने के बाद कहा, ‘मैं क्या कहूं? मेरे पास फिल्म के लिए शब्द नहीं हैं। इस फिल्म को लंबे वक्त तक याद रखा जाएगा। फिल्म का हर फ्रेम लाजवाब है।’ वहीदा आगे कहती हैं, ‘लगता ही नहीं है कि कोई चीज फिल्म में असली नहीं है। फिल्म में इस्तेमाल की गई लाइट्स, सूरज का दिखाना, चांद दिखान सब कुछ असली लगता है। मैं फिल्म के गाने और डांस से भी बहुत प्रभावित हुई। भंसाली ने फिल्म बना कर भारतीयों को गर्व महसूस करवाया है।’

https://www.jansatta.com/entertainment/

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App