ताज़ा खबर
 

अपने झूठ पर शर्म नहीं आती? मोदी सरकार पर बिफरे पुण्य प्रसून बाजपेयी, कहा- पहले मौत छुपाई, अब वजह

मंगलवार को राज्यसभा में केंद्र सरकार ने यह बयान दिया था कि कोरोना काल के दौरान ऑक्सीजन की कमी की वजह से एक भी मौत नहीं हुई।

विदेश अख़बार सहित कई संस्थाओं ने कोरोना महामारी की वजह से हुई मौतों के सरकारी आंकड़ों पर सवाल उठाए हैं। (फोटो- पीटीआई)

कोविड 19 महामारी के दूसरी लहर के बीच ऑक्सीजन की कमी से देश काफी दर्दनाक स्थिति से गुजरा। वहीं ऑक्सीजन पर आए केंद्र सरकार के बयान पर अब लोग गुस्साते दिख रहे हैं। वहीं वरिष्ठ पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपेयी ने भी मोदी सरकार पर निशाना साधा है। बिफरते हुए पुण्य प्रसून बाजपेयी ने कहा ‘साहब क्या वाकई, अपने झूठ पर शर्म नहीं आती?’ उन्होंने आगे कहा- ‘पहले मौत छुपाई, अब मौत की वजह छुपाई।’

दरअसल, मंगलवार को राज्यसभा में केंद्र सरकार ने यह बयान दिया था कि कोरोना काल के दौरान ऑक्सीजन की कमी की वजह से एक भी मौत नहीं हुई। सरकार ने कहा था कि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान किसी भी राज्य या केंद्र शासित प्रदेश से ऑक्सीजन के अभाव में किसी भी मरीज की मौत की खबर नहीं मिली है।

बाजपेयी के इस पोस्ट पर ढेरों लोगों के रिएक्शन आने शुरू हो गए। पोनी जाट नाम के अकाउंट से कमेंट आया- ‘शर्म उनको आती है, जिनके पल्ले कुछ शर्म बची हो। नंगे नहाये वहां निचोड़ने को कुछ नहीं होता।’ परेश नाम के यूजर बोले- ‘अंधभक्त क्या वाकई ऑक्सीजन कि कमी से देश में कोई नहीं मरा। है कोई जवाब? क्या जमीर बिक गया है?’ रॉकी यादव ने तंज कसते हुए कहा- ‘कोरोना से भारत में एक भी मौत नहीं हुई। सबने अंतरराष्ट्रीय साजिश के तहत देश को बदनाम करने के लिए खुदकुशी कर ली थी। अगले सत्र तक सरकार संसद में यह भी कह सकती है।’

साहिब….

क्या वाक़ई….
आपको अपने झूठ पर शर्म नहीं आती…

— punya prasun bajpai (@ppbajpai) July 21, 2021

बता दें, सरकार के इस बयान पर कांग्रेस प्रवक्ता पवन खेड़ा ने कहा-‘गंगा में तैर रही उन लाखों बेनाम, बेज़ुबान लाशों की ओर से मनोज कुमार झा को धन्यवाद।’ आरजेडी नेता ने कहा था- ‘पूरे सदन को उन लोगों से माफ़ी मांगनी चाहिए, जिनकी लाशें गंगा में बह रही थी।’ इसके अलावा सरकार के इस बयान पर राजद नेता तेजस्वी यादव, कुमार विश्वास, राहुल गांधी से लेकर ऋचा चड्ढा तक ने रिएक्ट किया था।

राजद नेता तेजस्वी यादव ने सरकार के इस बयान पर भड़कते हुए कहा था कि मतलब सबने आत्महत्या की थी। केंद्र सरकार के बयान की कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने भी जमकर आलोचना की थी। राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा कि सिर्फ़ ऑक्सीजन की ही कमी नहीं थी। संवेदनशीलता व सत्य की भारी कमी- तब भी थी, आज भी है।

केंद्र सरकार पर बरसते हुए कुमार विश्वास (Kumar Vishvas) ने भी ट्वीट किया और कहा था- ‘मुझें सरकारों-नेताओं की बेशर्मी का दुख नहीं है। उस संवेदनहीनता का तो दीर्घकालिक निजी अनुभव है। मुझे कष्ट उन हजारों फोन करने वालों की खामोशी का है जो उन कठिन दिनों में सिलेंडर/कन्सन्ट्रेटर की एक मिनट की देरी पर दस कॉल करते थे। उन्होंने कहा कि नागरिकों की बेचैनी का मर जाना लोकतंत्र का शोकपर्व है।’ सरकार पर भड़ास निकालते हुए एक्ट्रेस ऋचा चड्ढा ने भी एक पोस्ट किया जिसमें वह मोदी सरकार पर बिफरती नजर आईं।

Next Stories
1 TMKOC की ‘रीटा रिपोर्टर’ को बोल्ड तस्वीरें शेयर करने पर की गई ट्रोल करने की कोशिश, यूजर पर भड़क गए पति
2 एक्टिंग मेरे बस की नहीं है- इस फिल्म में अपनी एक्टिंग देख हताश हो गए थे शाहरुख ख़ान, कर लिया था मुंबई छोड़ने का फैसला
3 दुबई में है सलमान खान की पत्नी और 17 साल की बेटी! यूजर के दावे पर सलमान ने दिया ये जवाब
यह पढ़ा क्या?
X