ताज़ा खबर
 

हरियाणवी टोन के लिए करनी पड़ी डबल मेहनत, लेने पड़े कई टेक- नुसरत भरुचा ने सुनाए अपकमिंग फिल्म ‘छलांग’ के अनुभव

नुसरत भरुचा ने अपनी अपकमिंग मूवी 'छलांग' के लिए हरियाणवी सीखी है। उन्होंने बताया कि हरियाणवी टोन पकड़ने में उन्हें बहुत मुश्किलें हुई और फिल्म के पूरे कास्ट में सिर्फ वही थीं जिन्हें हरियाणवी नहीं आती थी।

nushrat bharucha, bollywood news in hindi, chhalangनुसरत भरुचा राजकुमार राव के साथ फिल्म, ‘छलांग’ में नज़र आने वाली हैं

राजकुमार राव, नुसरत भरुचा स्टारर मूवी ‘छलांग’ दीवाली से ठीक एक दिन पहले यानि 13 नवंबर को रिलीज हो रही है। यह फिल्म अमेज़न प्राइम वीडियो पर रिलीज़ होने वाली है। ‘छलांग’ की कहानी की बात करें तो यह हरियाणा के एक अर्ध सरकारी स्कूल में पीटी टीचर मोंटू (राजकुमार राव) के इर्द- गिर्द घूमती है। नुसरत भरुचा फिल्म में राजकुमार राव की प्रेमिका बनी हैं और फिल्म में उनका नाम नीलू है। इस फिल्म के जरिए यह दिखाने की कोशिश की गई है कि स्कूल में स्पोर्ट्स एजुकेशन कितना जरूरी है।

थोड़ी देर पहले नुसरत भरुचा ने बॉलीवुड टीवी को एक इंटरव्यू दिया है जिसमें उन्होंने बताया कि उन्हें हरियाणवी डिक्शन सीखने में कितनी मुश्किल उठानी पड़ी। उन्होंने बताया, ‘हरियाणवी टोन पकड़ने के लिए मुझे बहुत मेहनत करनी पड़ी क्योंकि मुझे हरियाणवी बिल्कुल भी नहीं आती। मेरी हिंदी ही अभी तक उतनी स्पष्ट नहीं बन पाई है, जितना मैं चाहती हूं। तो एक नई बोली सीखना और उसे फिल्म में बोलना तो मेरे लिए बहुत ही मुश्किल था। सबसे ज़्यादा दिक्कत की बात ये थी कि बाकी सारे एक्टर्स कहीं न कहीं हरियाणवी से वाकिफ थे, या तो वो वहां रह चुके थे या किसी और फिल्म में हरियाणवी बोल चुके थे। उन्हें पता था लेकिन मुझे कुछ भी नहीं पता था।’

नुसरत भरुचा ने बताया कि उन्हें फिल्म में हरियाणवी सीखने के लिए डबल मेहनत करनी पड़ी। उन्होंने कहा, ‘बहुत आसान हो जाता मेरे लिए कि कोई एक भी एक्टर मुझे दिख जाता जिसे हरियाणवी न आती हो, लेकिन बाकी सब बहुत ज़्यादा मंझे हुए कलाकार हैं। मुझे डबल मेहनत करनी पड़ी। वर्कशॉप से लेकर, मेरा कोच हर दिन सेट पर ही रहता था। वो मेरे टेक सुनता था और ज़रा सा भी लगता कि ऑफ गई हूं तो रीटेक होता था सिर्फ़ डिक्शन के लिए। एक्टिंग के लिए अलग रीटेक हुए और डिक्शन के लिए अलग। मुश्किल था लेकिन मुझे करना था।’

 

नुसरत भरुचा ने बताया कि फिल्म के डायरेक्टर हंसल मेहता ने उनका बहुत सपोर्ट किया और कहा कि जितने टेक लेने है ले लो, लेकिन डिक्शन सही कर लो। नुसरत भरुचा ने बताया कि हरियाणवी सीखना मुश्किल था लेकिन एक अलग चीज़ पर जीत हासिल करने में उन्हें बहुत मज़ा आया और अचीवमेंट वाली फीलिंग मिली।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 Kapil Sharma Show: जब क्रिकेट के चक्कर में घर नहीं पहुंचे, पिता ने बैट से की थी पिटाई- अनुभव सिन्हा ने सुनाया रोचक किस्सा
2 नीतीश बने CM तो उन्हें बीजेपी का पपेट बनकर रहना होगा, जिसकी उन्हें आदत नहीं- बोले बॉलीवुड एक्टर तो आने लगे ऐसे कमेंट्स
3 क्या सुप्रीम कोर्ट में दीवाली की छुट्टी नहीं है?- SC पहुंचे अर्नब गोस्वामी तो कांग्रेस नेता ने किया सवाल; मिले ऐसे जवाब
यह पढ़ा क्या?
X