सबरंग, बॉक्स ऑफिस: जॉन और खान की टक्कर में कौन छोड़ेगा ‘मैदान’

जॉन अब्राहम की ‘सत्यमेव जयते 2’ और सलमान खान की ‘राधे : द मोस्ट वांटेड भाई’ के एक ही दिन ईद पर रिलीज की घोषणा हुई है। दो बड़ी फिल्मों के टकराव से बचने वाले बॉलीवुड में इस साल ऐसे टकराव खूब देखने को मिल सकते हैं।

salman Khanसलमान खान।

उखाड़ा होगा ‘गदर’ में सनी देओल ने पाकिस्तान जाकर हैंडपंप, जॉन अब्राहम भी पीछे नहीं हैं। उन्होंने भी ‘फोर्स’ में 150 किलो की मोटरसाइकिल उठा डाली थी। कमजोर बंदे नहीं हैं, न उनकी भुजा की मछलियां किसी एक्शन हीरो से कमजोर है। आजकल भाई लोग उन्हें एक्शन हीरो सलमान खान के सामने खड़ा कर रहे हैं। खान-जॉन का परदे के बाहर टकराव होता रहा है। दोनों के भिड़ने के किस्से चिकने पन्ने वाली पत्रिकाएं पढ़ाती रहती हैं।

ताजा भिडंत परदे पर बताई जा रही है। दोनों की फिल्में एक ही दिन रिलीज होने वाली हैं। 13 मई को खान की ‘राधे- द मोस्ट वांटेड भाई’, तो जॉन की ‘सत्यमेव जयते 2’ 14 मई को। इतनी हिम्मत! बॉक्स आॅफिस पर भाई से मुकाबला!! अच्छे-अच्छे धाकड़ हफ्ते-दो हफ्ते पीछे हट जाते हैं। भाई को रास्ता दे देते हैं कि मना ले भाई, ईद तेरी। मगर धंधे की वाट ऐसी लगी पड़ी है कि कोई निर्माता हातिमताई बनने को तैयार नहीं है। सबको बॉक्स आॅफिस जीतना है भाई।

‘सत्यमेव जयते 2’ के निर्माता टी सीरीज के भूषण कुमार हैं। गुलशन कुमार के बेटे भूषण ने दिव्या खोसला कुमार से शादी की है और दिव्या ‘सत्यमेव जयते 2’ में जॉन की हीरोइन भी हैं। तो भूषण कुमार इतना बड़ा जोखिम कैसे लेंगे कि गृहमंत्रालय को बॉक्स आॅफिस की अग्निपरीक्षा में उतार दें। वह भी खान साब की फिल्म के सामने, उनकी ईद खराब करने! यानी मामला फोकट के प्रचार का है और ऐन मौके पर ‘सत्यमेव जयते 2’ आगे-पीछे कर ली जाएगी।

ऐसे खेल बॉलीवुड में खूब होते हैं। प्रचार का करोड़ों का बजट बचता है। देश की नौ हजार स्क्रीनों को लेकर छीना झपटी शुरू है। इन दिनों शिकार हुए हैं बोनी कपूर। उन्होंने अजय देवगन की प्रमुख भूमिकावाली अपनी फिल्म ‘मैदान’ की घोषणा छह महीने पहले की थी कि इसे दशहरे पर रिलीज करेंगे। दूसरी ओर ‘मक्खी’ और ‘बाहुबली’ वाले राजमौली, जो इस साल आठ जनवरी पर अपनी पंचभाषी फिल्म ‘आरआरआर’ (हिंदी में ‘राइज, रोअर, रिवोल्ट’) रिलीज करने वाले थे, ने बोनी के सामने अपनी फिल्म लगा दी।

13 अक्तूबर को दोनों फिल्में रिलीज होंगी और दोनों में अजय देवगन हैं। धंधा खराब होने की आशंका से बोनी बिलबिला रहे हैं और राजमौली के इस कृत्य को अनैतिक बता रहे हैं। इस तरह से निर्माता अब एक दूसरे से उलझ रहे हैं।

आजकल मुंबइया निर्माता फिल्मों की घोषणा के साथ ही रिलीज का टाइम भी बता रहे हैं। यह बड़ा दिलचस्प है। जिस बॉलीवुड में फिल्मों की शूटिंग शुरू होने के बाद निर्माता उसकी कहानी लिखवाता था, उस बॉलीवुड में निर्माता फिल्म की घोषणा के दिन ही रिलीज का टाइम टेबल पेश कर रहा है। इतने अच्छे दिन है, फिर भी निर्माता परेशान हैं।

इस चक्कर में समझदार लोग ठेठ हिंदुस्तानी की तरह बस या ट्रेन की सीट पर रूमाल रख कर सीट बुकिंग कर रहे हैं। अक्षय कुमार को देख लें। उनकी ‘सूर्यवंशी’ बीते साल ईद पर रिलीज होनी थी, जो आज तक नहीं हुई। उन्होंने अपनी ताजा फिल्म ‘बच्चन पांडे’ की रिलीज के लिए सीट पर रूमाल बिछा दिया है और घोषणा कर दी है कि सब लोग सुन लो हमारी ‘बच्चन पांडे’ अगले साल गणतंत्र दिवस पर रिलीज की जाएगी।

Next Stories
1 सबरंग, रुपहला पर्दा : दिग्गजों की डुगडुगी
2 सबरंग, उम्मीद: इस साल धमाल मचाएंगी बॉलीवुड की ये जोड़ियां
3 जब भीख मांगने वाली को देख ‘हीरो नंबर 1’ को हुआ भिखारी होने का अहसास, गोविंदा पर टूटा था दुख का पहाड़; खो दी थी बेटी
यह पढ़ा क्या?
X