scorecardresearch

हिजाब पहनने के लिए कोई दबाव नहीं बना सकता, मुल्लाओं को जेल में डाल देना चाहिए- बिफरे बॉलीवुड एक्टर

अभिनेता ने कहा है कि अमेरिका सुपर पावर है इसलिये उसे मामले में हस्तक्षेप करना चाहिए।

हिजाब पहनने के लिए कोई दबाव नहीं बना सकता, मुल्लाओं को जेल में डाल देना चाहिए- बिफरे बॉलीवुड एक्टर
बॉलीवुड एक्टर कमाल राशिद खान (फोटो सोर्स- KRK/Twitter)

कमाल आर. खान यानी केआरके अपने वीडियो और ट्वीट्स को लेकर हमेशा सुर्खियों में रहते हैं। कमाल सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं और तमाम राजनीतिक-सामाजिक मसलों पर अपनी राय रखते है।

ताजा ट्वीट में अभिनेता ने ईरान में हिजाब विवाद का जिक्र किया है और कहा कि कोई भी शख़्स महिलाओं पर हिजाब या बुर्का पहनने का दबाव नहीं डाल सकता है।

केआरके ने क्या लिखा?

केआरके ने लिखा कि ”मैं ईरान की उन महिलाओं के साथ खड़ा हूं जो हिजाब से आजादी की लड़ाई लड़ रही हैं। किसी को भी किसी महिला को हिजाब पहनने के लिए मजबूर नहीं करना चाहिए। अगर अमेरिका एक महाशक्ति है तो ईरान की महिलाओं की मदद करना अमेरिका का कर्तव्य है। ईरान के उन सभी मुल्लाओं को जेल में डाल देना चाहिए, जो अमीनी की हत्या के लिए जिम्मेदार हैं।”

यूजर्स की प्रतिक्रियाएं

केआरके के इस ट्वीट पर सोशल मीडिया यूजर्स अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। नयन नाम के यूजर ने लिखा कि ‘भारतीय मुस्लिम महिलाओं के बारे में क्या? नेकी घर से शुरू होती है भाई।’ काशिफ नाम के यूजर ने लिखा ‘आप ईरान की नहीं भारतीय महिलाओं के साथ खड़े हैं।’ राजेश नाम के यूजर ने लिखा कि ‘केआरके जी, आपको आधी जानकारी है। शिक्षण संस्थानों में हिजाब बैन है।’

क्या है हिजाब विवाद

ईरान हिजाब ना पहनने पर पुलिस ने एक 22 साल की लड़की अमीनी को कस्टडी में लिया था जिसके बाद उसकी पुलिस कस्टडी में ही मौत हो गई। इसके बाद से महिलाएं उग्र आंदोलन कर रही हैं। कई जगहों पर महिलाओं ने अपने बाल काटने के साथ ही हिजाब को जलाकर भी विरोध प्रदर्शन किया है। चूंकि ईरान एक इस्लामिक राष्ट्र है, जहां शख्त कानून लागू है।

इसके तहत महिलाओं पर कई तरह के प्रतिबंध हैं। ईरान के शरिया कानून के मुताबिक, महिलाओं को बाल ढंकने और ढीले-ढाले कपड़े पहनने के लिए बाध्य किया जाता है और ऐसा नहीं करने पर सजा और जुर्माने का प्रावधान है।

भारत की बात करें तो यहां भी बीते कुछ वक्त से हिजाब का मुद्दा गरमाया है। कर्नाटक के शिक्षण संस्थानों में हिजाब पहनने पर रोक के हाई कोर्ट के फैसले के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में बहस जारी है।

पढें मनोरंजन (Entertainment News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट