तब लोग मुझपर हंसते थे…शादी के अगले साल ही स्कूल में पढ़ाने लगी थीं नीता अंबानी, मिलते थे 800 रुपए; बताया था किस्सा

नीता अंबानी स्कूल में बतौर टीचर काम करती थीं। इस चीज के लिए नीता अंबानी को करीब 800 रुपए प्रति महीना वेतन दिया जाता था। इस बात का खुलासा खुद नीता अंबानी ने अपने इंटरव्यू में किया था।

Nita Ambai, Nita Ambani Newsशादी के अगले साल ही स्कूल में पढ़ाने लगी थीं नीता अंबानी (फोटो क्रेडिट- फाइल फोटो)

रिलायंस इंडस्ट्रीज के मालिक और विश्व के टॉप 10 अरबपतियों में शामिल मुकेश अंबानी और उनका परिवार अकसर चर्चा में रहता है। हाल ही में उन्होंने ब्रिटेन का प्रतिष्ठित कंट्री क्लब स्टोक पार्क भी खरीदा है, जिसकी कीमत करीब 592 करोड़ है। मुकेश अंबानी के साथ-साथ नीता अंबानी भी अपने लग्जरी शौक और अंदाज को लेकर चर्चा में रहती हैं। लेकिन एक समय ऐसा था जब नीता अंबानी स्कूल में बतौर टीचर काम करती थीं। इस चीज के लिए नीता अंबानी को करीब 800 रुपए प्रति महीना वेतन दिया जाता था। इस बात का खुलासा खुद नीता अंबानी ने अपने इंटरव्यू में किया था।

नीता अंबानी और मुकेश अंबानी ने सिमी गरेवाल के टॉक शो में शिरकत की थी। जहां उन्होंने अपनी लव स्टोरी के साथ-साथ जिंदगी के अलग-अलग पहलुओं के बारे में भी बातें कीं। दरअसल, शो में सिमी गरेवाल ने मुकेश अंबानी से पूछा कि क्या आपने ही शादी के बाद इन्हें अपनी पहचान बनाए रखने की सीख दी थी।

इसका जवाब देते हुए मुकेश अंबानी ने कहा, “हां, बिल्कुल। जैसे ही हमने शादी की, उसके अगले साल ही उन्होंने स्कूल में पढ़ाना शुरू कर दिया।” इसी बीच नीता अंबानी ने स्कूल का नाम बताते हुए कहा, “मैंने ‘सैंट फ्लावर नर्सरी’ में पढ़ाना शुरू किया था और मुझे उस चीज के लिए 800 रुपए प्रतिमाह मिलते थे।”

नीता अंबानी ने इस बारे में बात करते हुए आगे कहा, “उस वक्त इस चीज को लेकर लोग मुझपर हंसा करते थे। लेकिन इसने मुझे बहुत ही संतुष्टी दी।” वहीं, मुकेश अंबानी ने नीता अंबानी की सैलरी को लेकर कहा, “वो पूरी सैलरी मेरी हुआ करती थी। उस सैलरी से हम डिनर का भुगतान किया करते थे।”

बता दें कि नीता अंबानी अपनी सादगी के लिए भी खूब जानी जाती हैं। एक इंटरव्यू में उन्होंने बताया था कि उनकी जिंदगी में उनके लिए सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण भूमिका एक मां की है। अपने तीनों बच्चों की मां बनने से ज्यादा मेरी जिंदगी में और कुछ जरूरी नहीं है। आकाश, ईशा और अनंत, तीनों ही मेरे दिल की धड़कन हैं।

बता दें कि नीता अंबानी एक सामाजिक कार्यकर्ता भी हैं। उन्होंने अपने एक इंटरव्यू में बताया था कि उन्हें दान करना पसंद है और ऐसा करके वह काफी खुश भी होती हैं। उन्होंने कहा, “मैं ये काम तब से ही कर रह हूं, जब से मैं बहुत छोटी थी। बचपन में भी मैं अपने पिता और दादी के साथ कभी खाना बांटती थी तो कभी किताबें बांटती थी।”

Next Stories
1 मैं उनसे माफी मांगना चाहता था- राजेश खन्ना के खिलाफ चुनाव लड़कर शत्रुघ्न सिन्हा को हुआ था पछतावा, बताई ये वजह
2 तो आज जूनियर आर्टिस्ट के साथ काम कर रहा हूं- जितेंद्र को देख बोल पड़े थे राजकुमार, दी थी सफाई
3 जब अपने वादे से मुकर गए थे विनोद खन्ना, बर्बादी के रास्ते पर आ गई थीं सिमी ग्रेवाल, फिर हुई मिथुन चक्रवर्ती की एंट्री
ये पढ़ा क्या?
X