ताज़ा खबर
 

संबित पात्रा को बैठाकर कॉमेडी करना बंद करें- अमिश देवगन से बोले AAP नेता तो भड़क गए BJP प्रवक्ता

अमिश देवगन के शो में राघव चड्ढा कहते हैं- 'ये आपदा का समय है। इसमें हमको मिलकर काम करना चाहिए। इसमें अगर राजनीति हो, खासकर कि कॉमेडी नाइट्स विद संबित पात्रा चलाया जाए..

News 18 India, Amish Devgan, अमिश देवगन, संबित पात्रा, आम आदमी पार्टी, Live DEBATE, comedy, Sambit Patra,आप प्रवक्ता राघव चड्ढा और बीजेपी नेता संबित पात्रा (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

न्यूज 18 इंडिया की लाइव डिबेट में आप प्रवक्ता राघव चड्ढा और बीजेपी नेता संबित पात्रा के बीच तीखी बहस छिड़ गई। राघव चड्ढा ने डिबेट के दौरान संबित पात्रा के लिए कहा कि वह डिबेट शो में आकर कॉमेडी करते हैं, तो ये काम वह करना बंद करें। आप प्रवक्ता की इस बात को सुन कर संबित पात्रा बेहद गुस्से में आ गए और लाइव डिबेट में बिफरते हुए कहने लगे कि कॉमेडी तो आप लोग कर रहे हैं। आप कितनी हल्की बात कर रहे हैं।

अमिश देवगन के शो में राघव चड्ढा कहते हैं- ‘ये आपदा का समय है। इसमें हमको मिलकर काम करना चाहिए। इसमें अगर राजनीति हो, खासकर कि कॉमेडी नाइट्स विद संबित पात्रा चलाया जाए न्यूज चैनल की डिबेट पर तो ये सही नहीं है! ये इस चीज का समय नहीं है। ये गंभीर विषय है इस पर गंभीरता से बात होनी चाहिए।

इस बात को सुनते ही बीजेपी नेता संबित पात्रा भड़क उठे। वह बोलने लगे- ये क्या कह रहे हैं। आप अपनी रिस्पॉन्सिब्लिटी ट्रांस्फर कर रहे हैं। ये कॉमेडी नाइट्स नहीं है ये बहुत सीरियस है। आप अगर इस तरह की हल्की बीतें करेंगे तो मैं आपसे कहूंगा कि ये हल्की बातें नहीं चलने वाली। लोग मर रहे हैं और आप लोग कॉमेडी नाइट्स करना चाहते हैं? व्हॉट इज कॉमेडी नाइट? आप कॉमेडी कर रहे हैं दिल्ली में आप ये बंद करिए।

इस बीच अमिश देवगन संबित पात्रा और राघव चड्ढा दोनों को टोकते हैं और कहते हैं कि ‘एक एक कर अपनी बात रखें। अभी दो मेहमान और बाकी हैं।’ लेकिन दोनों में से कोई अमिश देवगन की बात नहीं सुनता। ऐसे में अमिश सबका वॉल्युम म्यूट करा देते हैं।

इसके बाद अमिश राघव चड्ढा को बोलने का मौका देते हैं। राघव कहते हैं- ‘देखिए ये जोक क्रैक करने का बिलकुल भी समय नहीं है। सीरियस बात होनी चाहिए। सीरियसनेस की अगर बात करें तो आप जानते हैं दिल्ली में आप रहे हैं कि 50 ऑक्सीजन बेड्स 18 हजार ऑक्सीजन बेड पर दिल्ली को लाने वाले शख्स का नाम केजरीवाल है। दिल्ली में एक लाख से अधिक रोजाना कोविड के टेस्ट होते हैं जिसमें 75% आरटीपीसीआर के टेस्ट होते हैं।’

राघव आगे कहते हैं- ‘केंद्र सरकार द्वारा कही बातों का पालन हो रहा है, आप हमें हम सब जानते हैं उस विषय में मैं बात नहीं कर रहा हूं। पर मैं ये कहना चाहता हूं कि जो मीटिंग की बात बार बार हो रही है, अभी संबित जी ने कहा कि सर्वसम्मति से पीएम का भाषण दिखाया जाता। एक भी मुख्यमंत्री से क्या सहमती ली जाती है प्रधानमंत्री जी के भाषण को लाइव करने से पहले? जिस वीडियो का तथा कथित उदाहरण देकर ये आरोप लगा रहे हैं कि मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल जी आराम कर रहे थे जब पीएम भाषण दे रहे थे वो भी मुख्यमंत्रियों की बैठक थी।’

उन्होंने आगे कहा- ‘वो वीडियो खुद प्रधानमंत्री कार्यालय ने लाइव किया। तो इसमें तो इनको कुछ नजर नहीं आता है। बिना राजनीति करे झोली फैला कर 2 करोड़ की राज्य की आबादी वाले मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल अगर अभी अपने ही देश के लोकप्रिय पीएम से झोली फैला कर ऑक्सीजन की मांग करें,सांस की मांग करें तो इनको आग लगती है।’  वे आगे बोले- दूसरी बात केंद्र सरकार से सवाल क्यों नहीं पूछा जाएगा? इसलिए पूछा जाएगा अमिश भाई क्योंकि ऑक्सीजन में राज्यों का वितरण केंद्र सरकार की जिम्मेदारी है।

Next Stories
1 लोगों के पास खाना नहीं और आप पैसे फेंक रहे- भड़के नवाजुद्दीन सिद्दीकी; जानें पूरा मामला
2 लोग दवा और ऑक्सीजन मांग रहे, ये यह मन की बात सुना रहे- PM मोदी पर भड़के बॉलीवुड एक्टर
3 हालात बताते हैं अब आप झोला लेकर निकल नहीं पाएंगे- पुण्य प्रसून बाजपेयी ने PM मोदी को मारा ताना, लोग करने लगे ऐसे कमेंट
यह पढ़ा क्या?
X