अखिलेश ने तो पोस्टर से पिता मुलायम की तस्वीर हटा दी- बोले BJP नेता तो चीखने लगे सपा प्रवक्ता

त्रिवेदी ने तंज कसते हुए कहा कि सपा पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपने पिता की तस्वीर पोस्टर से गायब कर दी। इस पर भदौरिया गुस्सा जाते हैं।

Uttar Pradesh, Yogi Adityanath
सपा प्रमुख अखिलेश यादव (फोटो सोर्स – पीटीआई)

न्यूज 18 इंडिया की लाइव डिबेट में बीजेपी प्रवक्ता सुधांशु त्रिवेदी और सपा नेता अनुराग भदौरिया के बीच तीखी बहस देखने को मिली। इस बीच अनुराग भदौरिया सुधांशु त्रिवेदी की एक बात सुन कर उनपर बिफरने लगे। दरअसल, त्रिवेदी ने तंज कसते हुए कहा कि सपा पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश यादव ने अपने पिता की तस्वीर पोस्टर से गायब कर दी। इस पर भदौरिया गुस्सा जाते हैं।

सुधांशु त्रिवेदी कहते हैं- ‘भदौरिया जी, पिताजी का फोटो हटा दिया अखिलेश जी ने पोस्टर से? आपकी पार्टी के अध्यक्ष ने पोस्टर से पिताजी की फोटो ही गायब कर दी। हमारे प्रदेश अध्यक्ष ने तो सवाल भी पूछा है- फोटो कहां गई बबुआ?’ त्रिवेदी की इस बात पर बिफरते हुए भदौरिया कहते हैं- आप लखीमपुर की घटना पर कुछ मत कहिएगा? बाकी जगहों की बात करते रहिएगा।

सुधांशु त्रिवेदी आगे कहते हैं- ‘एक बात औऱ कहना चाहता हूं, जो लोग मारे गए हैं सभी के लिए दुख है। मगर ये बताइए जो लाठी से पीट-पीट कर मारे गए वो तो हत्या है। इसके लिए कोई प्रश्न क्यों नहीं पूछा जाता? दूसरी बात कहना चाहता हूं कि- कितनी खरीद की थी किसानों ने? योगी जी ने बताया था कि 2007 से 2017 तक कुल 90 हजार करोड़ रुपए गन्ना किसानों को दिया गया 10 साल में, सपा और बसपा दोनों की सरकार में।’

इस बीच चिल्लाते हुए भदौरिया कहने लगते हैं- ‘राजस्थान मत जाना, महाराष्ट्र मत जाना, उत्तर प्रदेश में जो मर रहे हैं उनके बारे में बात नहीं करोगे आप?’ इस बीच अमिश देवगन भदौरिया को टोकते हुए कहते हैं- ‘पहले सुनिए वो यूपी की ही बात कर रहे हैं।’

सुधांशु त्रिवेदी कहते हैं- ‘आप ‘गुंडा-गुंडा’ जैसी अभद्र भाषा का प्रयोग कर रहे हैं, किसने नारा दिया था ये उत्तर प्रदेश में?- ‘जड़ मुंडन की छाती पर, मुहर लगाओ हाथी पर’ ये हमारा नारा नहीं था। बसपा का नारा था। आपके बबुआ की बुआ की पार्टी का नारा था। लखीमपुर में जो लाठी से पीट पीट कर मार दिए गए उनके लिए भी तो कुछ शब्द बोलिए।’

बता दें, यूपी में अगले साल होने जा रहे विधानसभा चुनावों के लिए समाजवादी पार्टी ने तैयारियां कर ली हैं। पार्टी जोर शोर से 12 अक्‍टूबर से समाजवादी विजय यात्रा निकालने जा रही है। ऐसे में मंगलवार को सपा ने एक पोस्‍टर जारी किया था। इस पोस्‍टर में अखिलेश यादव के साथ साथ बाबा भीमराव आंबेडकर, पूर्व राष्‍ट्रपति डॉ एपीजे अब्‍दुल कलाम और कई वरिष्‍ठ समाजवादी नेताओं की तस्‍वीरें दिखीं लेकिन पोस्‍टर में सपा के संस्‍थापक और अखिलेश यादव के पिता मुलायम सिंह यादव की तस्वीर गायब थी।

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट