इंडस्ट्री में नेपोटिज्म नहीं रेसिज्म है, सालों से लड़ रहा हूं- नवाजुद्दीन सिद्दीकी बोले, ‘सांवली एक्ट्रेस को भी बनाया जाए हीरोइन’

‘सीरियस मैन’ की एक्ट्रेस इंदिरा तिवारी पर बात करते हुए नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी ने कहा कि फिल्म इंडस्ट्री में नेपोटिज्म से ज्यादा रेसिज्म है, सांवली लड़कियों को हीरोइन नहीं बनाया जाता है।

indira tiwari, nawazuddin siddiqui, serious man
'सीरियस मैन' में इंदिरा तिवारी ने नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी की पत्नी का किरदार निभाया है (Photo-Netflix)

साल 2020 में आई फिल्म ‘सीरियस मैन’ में अभिनेता नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी के काम को काफी पसंद किया गया। कुछ समय पहले इस फिल्म के लिए नवाज़ुद्दीन को इंटरनेशनल एमी अवॉर्ड 2021 में बेस्ट एक्टर के लिए नोमिनेट भी किया गया है। इस फ़िल्म में नवाज़ की पत्नी का किरदार अभिनेत्री इंदिरा तिवारी ने निभाया जो लोगों को काफी पसंद आया है। इंदिरा तिवारी पर बात करते हुए ही नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी ने हाल ही में कहा कि फिल्म इंडस्ट्री में नेपोटिज्म से ज्यादा रेसिज्म है, सांवली लड़कियों को हीरोइन नहीं बनाया जाता है।

बॉलीवुड हंगामा से बातचीत करते हुए नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी ने कहा कि वो भी रंगभेद का शिकार रहे हैं और लंबे समय से इससे लड़ते आए हैं। उन्होंने कहा, ‘उस लड़की (इंदिरा तिवारी) को सुधीर मिश्रा (सीरियस मैन के डायरेक्टर) ने हीरोइन लिया। मैं आपको गारंटी देता हूं इस बात की…हमारे इंडस्ट्री में इतना रेसिज्म है, मुझे बड़ी ख़ुशी होगी अगर उस लड़की को फिर से फिल्मों में हीरोइन बनाया जाए। सुधीर मिश्रा ने तो बना दिया लेकिन हमारे इंडस्ट्री में जो बड़े लोग बैठे हैं अगर वो उसे हीरोइन बनाते हैं तो मुझे बहुत ख़ुशी होगी कि थैंक गॉड, रसिज्म कुछ कम हुआ।’

उन्होंने आगे कहा, ‘सच बात तो ये है कि नेपोटिज्म नहीं हमारे यहां रेसिज्म सबसे बड़ा है। उससे लड़ते लड़ते मुझे भी बहुत साल हो गए और मुझे उम्मीद है कि जो ब्लैक या सांवली एक्ट्रेस हैं उन्हें भी हीरोइन बनाया जाएगा, ये बहुत जरुरी है। मैं गोरे या काले रंग की बात नहीं कर रहा हूं बल्कि मेरा कहना है कि एक खास रंग को लेकर इंडस्ट्री का जो पक्षपात पूर्ण रवैया है, वो खत्म होगा तब बेहतर फ़िल्में बनेंगी।’

नवाज़ुद्दीन ने इसी दौरान बताया कि वो जब इंडस्ट्री में आए तब कई बार रंग और कद को लेकर उन्हें काम नहीं मिला। नवाज़ इससे पहले भी कई बार इस मुद्दे पर बोल चुके हैं। एक बार अभिनेता ऋषि कपूर ने भी उनके कद को लेकर टिप्पणी कर दी थी।

दरअसल विवाद की शुरुआत तब हुई थी जब नवाज़ुद्दीन सिद्दीकी ने कहा था कि पहले फिल्मों में हीरो बस पेड़ों के आगे पीछे डांस करते थे, उनके लिए एक्टिंग आसान था। उनकी इस टिप्पणी पर जब ऋषि कपूर से उनकी प्रतिक्रिया मांगी गई तो उन्होंने कहा था कि न तो उनके पास अच्छा चेहरा है, न हाइट है, न आवाज़ है और न ही टैलेंट है, उन्हें एक्टर किसने बना दिया।

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

Next Story
सेक्स रैकेट में गिरफ्तार हुई ‘मकड़ी’ बाल कलाकार श्वेता बसु