कभी सोनिया तो कभी मोदी की प्रशंसा में नवजोत सिंह सिद्धू ने पढ़ा एक ही शेर, अब वीडियो शेयर कर लोग ले रहे मज़े

पंजाब में मची राजनीतिक उथल पुथल के बीच नवजोत सिंह सिद्धू का एक पुराना वीडियो वायरल हो रहा है जिसमें वो अपने एक ही शेर के माध्यम से कभी सोनिया गांधी तो कभी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा करते दिख रहे हैं।

navjot singh sidhu, captain amrinder singh, punya prasun bajpai
नवजोत सिंह सिद्धू का पुराना वीडियो वायरल है (Photo-Indian Express/File)

कैप्टन अमरिंदर सिंह और पंजाब कांग्रेस अध्यक्ष नवजोत सिंह सिद्धू के बीच लंबे चले सियासी घमासान के बाद आखिरकार कैप्टन ने मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया। इस्तीफे के बाद कैप्टन अमरिंदर सिंह ने सिद्धू की जमकर आलोचना की और कहा कि वो उनके सीएम बनने का विरोध करेंगे। इसी बीच नवजोत सिंह सिद्धू का एक वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है जिसमें वो अपने एक ही शेर के माध्यम से कभी सोनिया गांधी तो कभी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा करते दिख रहे हैं।

सोशल मीडिया पर शेयर वीडियो में सिद्धू के चार अलग अलग पुराने वीडियो क्लिप्स को जोड़कर एक वीडियो बनाया गया है। एक पुराने वीडियो में वो नाबालिग से दुष्कर्म के आरोपी, जेल में बंद आसाराम की प्रशंसा में कहते दिख रहे हैं, ‘आकाश की कोई सीमा नहीं, पृथ्वी का कोई तोल नहीं। साधु की कोई जात नहीं, पारस और बापू आसाराम का कोई तोल नहीं, कोई मोल नहीं।’

नवजोत सिंह सिद्धू जब बीजेपी में थे तब उन्होंने नरेंद्र मोदी की प्रशंसा में यही शेर पढ़ते हुए कहा था, ‘नरेंद्र भाई मोदी का कोई तोल नहीं, कोई मोल नहीं। वहीं तीसरे वीडियो में वो सोनिया गांधी के सामने एक सभा में यही शेर दुहराते दिख रहे हैं। वो कह रहे हैं, ‘पारस और सोनिया जी का कोई तोल नहीं, कोई मोल नहीं।’

चौथे वीडियो क्लिप में सिद्धू सिख गुरु गुरु नानक की प्रशंसा में वही शेर पढ़ते दिख रहे हैं। इस वीडियो को शेयर करते हुए गिरिंद्रनाथ नाम के एक यूजर ने लिखा, ‘हर दौर में मालिक बदलने में गुरु माहिर हैं।’ वरिष्ठ पत्रकार पुण्य प्रसून बाजपेयी ने भी नवजोत सिंह सिद्धू पर कपिल शर्मा शो का ज़िक्र करते हुए तंज़ किया है। उन्होंने ट्वीट किया, ‘क्या मुबंई से पंजाब शिफ्ट होगा कपिल शर्मा शो…।’

श्रीनाथ चौधरी नाम के एक यूजर ने लिखा, ‘आज की भारतीय राजनीति में देश के सबसे प्रथम ऊंचे राजनेता से लेकर नीचे तक चलताऊ और झूठे बयानबाजों का बोलबाला हो रहा है। चारों तरफ नज़रें घुमाकर देख लीजिए। किसी प्रकार सत्ता हासिल करना ही नेता की सफलता की कसौटी बन गया है। साध्य महत्वपूर्ण है, साधन अर्थहीन हो गया है।’

फिरोज रहमान नाम के एक यूजर ने लिखा, ‘सिद्धू जी की कॉमेडी अच्छा लगती है मगर उनकी राजनीतिक मुझे थोड़ा भी अच्छी नहीं लगती। जब वो बीजेपी में थे तभी भी और अब कांग्रेस में हैं तभी भी। ये कल आम आदमी पार्टी में चले जाएंगे तो भी।’ जितेंद्र नाम के एक यूजर ने लिखा, ‘पता नहीं कांग्रेस को अपनी ताबूत में कील ठोकने वालों को सिर पर बिठाने में क्या मजा आता है। चूहे मारने की लिए कोबरा पालना कोई इनसे सीखे।’

कंचन कुमार नाम के एक यूजर लिखते हैं, ‘और कांग्रेस को लगता है कि यह शायर कैप्टन अमरिंदर सिंह का विकल्प है।’ पंकज नाम के एक यूजर लिखते हैं, ‘ये कैसे नेता हैं? कहीं भी लुढ़क जाते हैं। शायरी भी वैसी ही है।’

सोशल बकवास नाम के एक ट्विटर हैंडल से ट्वीट किया गया, ‘अगर ये सीएम बने तो पंजाब में कांग्रेस खत्म। इनकी कोई विचारधारा नहीं है। ये एक कॉमेडियन हैं और कुछ नहीं। क्रिकेट भी अच्छा नहीं खेल पाए हैं ये।’

रोबिन जैन नाम के एक यूजर ने लिखा, ‘भोली भाली जनता को ऐसे ही मूर्ख बनाया जाता है।’ रामवीर सिंह नाम के एक यूजर लिखते हैं, ‘उन्हें सबका पता है कि किसका क्या तोल है और किसका क्या मोल है। बस खुद का पता नहीं है।’

बहरहाल, पंजाब के ताजा घटनाक्रम की बात करें तो, रविवार सुबह कांग्रेस विधायकों की बैठक हुई है। बताया जा रहा है कि सोनिया गांधी पंजाब का अगला मुख्यमंत्री चुनेंगीं।

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट