ताज़ा खबर
 

नसीरुद्दीन शाह बर्थडे: 14 साल की उम्र में शुरू कर दी थी एक्टिंग, सबसे पहले शेक्सपियर के नाटक में किया था अभिनय

साल 20 जुलाई 1949 को उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में जन्में नसीरूद्दीन शाह ने अपनी पढ़ाई अजमेर से की। वहीं उन्होंने अपना ग्रेजुएशन 1971 में अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से किया। उन्होंने दिल्ली में नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में एडमिशन लिया।
बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता नसीरुद्दीन शाह ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत फिल्म ‘निशांत’ से की।

बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता नसीरुद्दीन शाह ने अपने फिल्मी करियर की शुरुआत फिल्म ‘निशांत’ से की। यह एक आर्ट फिल्म थी जिसमें नसीरुद्दीन शाह के साथ स्मिता पाटिल और शबाना आजमी जैसी बड़ी अभिनेत्रियों ने काम किया। यह फिल्म कमाई के हिसाब से तो पीछे रही पर फिल्म में नसीरुद्दीन शाह के अभिनय की सबने सराहना की। इसके बाद नसीरुद्दीन शाह ने आक्रोश, स्पर्श, मिर्च मसाला, अलबर्ट पिंटों को गुस्सा क्यों आता है, मंडी, मोहन जोशी हाज़िर हों, अर्द्ध सत्य, कथा आदि कई आर्ट फिल्में कीं।

आर्ट फिल्मों के साथ वह कॉमर्शियल फिल्मों में भी सक्रिय रहे। मासूम, कर्मा, इजाज़त, जलवा, हीरो हीरालाल, गुलामी, त्रिदेव, विश्वात्मा, मोहरा, सरफ़रोश जैसी कॉमर्शियल फिल्में कर उन्होंने साबित कर दिया कि वह सिर्फ आर्ट ही नहीं कॉमर्शियल फिल्में भी कर सकते हैं।

साल 20 जुलाई 1949 को उत्तर प्रदेश के बाराबंकी में जन्में नसीरूद्दीन शाह ने अपनी पढ़ाई अजमेर से की। वहीं उन्होंने अपना ग्रेजुएशन 1971 में अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी से किया। उन्होंने दिल्ली में नेशनल स्कूल ऑफ ड्रामा में एडमिशन लिया। नसीरुद्दीन शाह 3 बार नेशनल अवॉर्ड जीत चुके हैं, वहीं उन्हें पद्मभूषण से भी नवाजा जा चुका है। नसीरूद्दीन शाह को पद्मश्री सम्मान भी प्राप्त है। अब तक नसीरुद्दीन शाह 195 फिल्में कर चुके हैं। नसीरुद्दीन शाह ने 14 साल की उम्र में ही अभिनय करना शुरू कर दिया था। वहीं सबसे पहले उन्होंने शेक्सपियर के नाटक में एक्टिंग की थी।

नसीरुद्दीन शाह: करीब 200 मूवीज में किया है काम, पद्म श्री और पद्म भूषण से हैं सम्मानित

एक वक्त था जब नसीरूद्दीन शाह को इंडस्ट्री में काम नहीं मिल रहा था। ऐसे में उन्होंने सोचा था कि वह इस इंडस्ट्री में आ गए हैं, कहीं यहां आकर उन्होंने कोई गलती तो नहीं कर दी है। वह बताते हैं, ‘ शुरू में ऐसा दौर भी था जब मुझे काम नहीं मिल रहा था। दिल बहुत छोटा हुआ, लेकिन हिम्मत नहीं हारी मैंने, इसका मुझे यकीन है कि मैंने यहां आकर कोई गलती नहीं की। अगर मैं लगा रहूंगा और अपना काम सीख लूं तो सफलता जरूर मिलेगी।’ उन्होंने कहा कि इस दौर में उन्होंने मसाला फिल्में भी कीं। वह कहते हैं, ‘ शुक्र है कि जो मसाला फिल्में मैंने कीं वह लोग भूल गए हैं। क्योंकि वह बहुत बुरी फिल्में थीं। सुनैना जो मैंने जुनून के बाद की।’

नसीरुद्दीन की फिल्म ‘हे राम’ में उन्होंने गांधी जी के किरदार को पर्दे पर उतारा। वहीं उन्होंने बॉलीवुड में ‘द डर्टी पिक्चर’ जैसी फिल्में भी कीं। नसीरुद्दीन शाह सिर्फ इंडियन सिनेमा तक ही सीमित नहीं रहे। वह अंतरराष्ट्रीय फिल्मों में भी नजर आए। हॉलीवुड फिल्म ‘द लीग ऑफ एक्स्ट्रा ऑर्डिनरी जेंटलमैन’ और पाकिस्तानी फिल्म ‘खुदा’ जैसी अंतरराष्ट्रीय फिल्मों में नसीरुद्दीन शाह ने काम किया। इस बीच नसीरुद्दीन शाह ने एक फिल्म का निर्देशन भी किया है। हाल ही में उन्होंने ‘इश्किया’, ‘राजनीति’, ‘जिंदगी ना मिलेगी दोबारा’ और ‘बेगमजान’ जैसी फिल्मों में अपने अभिनय का जादू बिखेरा।

https://www.youtube.com/watch?v=U5Gyw-nGf1I

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.