स्कूल की प्रिंसिपल मत बनिए, मुझे बोलने दीजिए- डिबेट में राघव चड्ढा से उलझ गईं अंजना ओम कश्यप तो बोले AAP नेता

डिबेट के दौरान राघव चड्ढा और अंजना ओम कश्यप के बीच जोरदार बहस हो गई। नरेंद्र मोदी से अरविंद केजरीवाल की बातचीत को सार्वजनिक किए जाने की बात पर राघव चड्ढा ने कहा कि हम तो प्रधानमंत्री के दिखाए नक़्शे कदम पर चल रहे हैं।

arvind kejriwal, narendra modi, raghav chadhaनरेंद्र मोदी और अरविंद केजरीवाल के बीच की बातचीत सार्वजनिक होने पर राजनीति तेज हो गई है (Photo-ANI/File)

कोरोना के बिगड़ते हालात पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शुक्रवार को राज्यों के मुख्यमंत्रियों से मीटिंग की जिस पर अब विवाद हो गया है। प्रधानमंत्री के साथ हुई मीटिंग में दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने जो संबोधन दिया, वो लाइव था जिस पर नरेंद्र मोदी ने उन्हें टोका तो केजरीवाल ने हाथ जोड़कर माफी मांग ली। अब इस मुद्दे पर काफी राजनीति देखने को मिल ही है। आम आदमी पार्टी सांसद और दिल्ली जल बोर्ड के अध्यक्ष राघव चड्ढा इस मुद्दे पर बात करने के लिए आज तक के डिबेट शो ‘हल्ला बोल’ में शामिल हुए थे जहां शो की एंकर अंजना ओम कश्यप से उनकी जोरदार बहस हो गई।

राघव चड्ढा ऑक्सीजन के मुद्दे पर बोल रहे थे कि तभी अंजना ओम कश्यप ने राघव चड्ढा से पूछा कि ऑक्सीजन के लिए दिल्ली सरकार ने क्या तैयारी की। जब में उन्होंने बीजेपी प्रवक्ता नूपुर शर्मा का नाम लेकर कहा, ‘आपने भाजपा की प्रवक्ता को नहीं रोका, मुझे समय दीजिए, मुझे बोलने दीजिए।’

उनकी इस बात पर अंजना ओम कश्यप ने कहा, ‘आपने उनको वक्त दिया, इनको वक्त दिया, मत कीजिए। स्कूल के बच्चें नहीं बैठे हैं यहां पर कि उसको बोला है तो इसको भी बोलिए। आप पहले सवाल सुनिए फिर जवाब दीजिए। हम न्यूज एंकर हैं, पत्रकार हैं, हमने उनसे (BJP प्रवक्ता) भी सवाल पूछा। आपको सवाल का जवाब देना होगा राघव चड्ढा जी, आप बेवजह की बात कर रहे हैं।’

जवाब में राघव चड्ढा ने कहा, ‘आप भी स्कूल की टीचर मत बनिए, मुझे बोलने दीजिए। स्कूल प्रिंसिपल मत बनिए, सवाल पूछिए जवाब मिलेगा। कौन भाग रहा है आपके सवाल से।’

 

अंजना ओम कश्यप ने उनसे कहा कि जिस तरीके से आज केजरीवाल ने नरेंद्र मोदी के साथ बातचीत लाइव कर दी उस तरह से तो दिल्ली सरकार को अपनी हर बैठक को सार्वजनिक करना चाहिए। उनके इस बात पर राघव चड्ढा ने कहा, ‘बिल्कुल करना चाहिए। प्रधानमंत्री जी ऐसा खुद करते हैं, हम तो उनके दिखाए नक्शे कदम पर चल रहे हैं। मुख्यमंत्रियों की इस तथाकथित गोपनीय बैठक के अंत में जो अपना भाषण देते हैं, उसे सार्वजनिक करते हैं तो क्या प्रधानमंत्री जी उस वक्त अपनी छवि चमकाते हैं?’

 

इधर मुख्यमंत्री कार्यालय ने भी बातचीत को सार्वजनिक करने पर बयान जारी किया है जिसमें कहा गया है कि उन्हें कभी निर्देश नहीं दिया गया था कि संबोधन को लाइव नहीं किया जा सकता। अगर इससे कोई दिक्कत हुई है तो वो अपनी तरफ से खेद प्रकट करते हैं।

मीटिंग के दौरान केजरीवाल ने नरेंद्र मोदी से कहा कि ऑक्सीजन की कमी पर वो सीएम होकर भी कुछ नहीं कर पा रहे हैं। उन्होंने प्रधानमंत्री से अपील की है कि ऑक्सीजन एक्सप्रेस की सुविधा दिल्ली में भी होनी चाहिए और हवाई मार्ग द्वारा भी ऑक्सीजन दिल्ली को मिलनी चाहिए।

Next Stories
1 ऐसे आरोप तो रोज लगेंगे…वहीदा रहमान ने लगाया धर्मेंद्र पर ‘फ्लर्ट’ करने का आरोप तो एक्टर ने दिया ये जवाब
2 काजोल को शाहरुख खान की पत्नी मानते थे वरुण धवन, घर में गौरी खान को देख दिया था ये रिएक्शन
3 जब राजकुमार को नीचा दिखाने के लिए राज कपूर ने ‘मेरा नाम जोकर’ में किया उनके डुप्लीकेट को कास्ट; इस बात से थे खफ़ा
यह पढ़ा क्या?
X