ताज़ा खबर
 

टीवी पर भेड़चाल की मानसिकता, जोखिम लेने की बहुत कम गुंजाइश: मुकेश खन्ना

टीवी जगत में जोखिम लेने की बहुत कम गुंजाइश के साथ झुंड में चलने की मानसिकता है।

Author मुंबई | June 24, 2016 16:09 pm
मुकेश ‘शक्तिमान’ और ‘महाभारत’ जैसे प्रतिष्ठित धारावाहिक का हिस्सा रह चुके हैं।

जाने माने टेलीविजन कलाकार मुकेश खन्ना का मानना है कि कुछ नया करने के प्रति असुरक्षा की भावना ने आज छोटे पर्दे को पीछे धकेल दिया है, जहां कोई भी सीमित दायरे से बाहर जाकर नहीं सोच पाता।  ‘शक्तिमान’ और ‘महाभारत’ जैसे प्रतिष्ठित धारावाहिक का हिस्सा रह चुके खन्ना ने कहा कि टीवी जगत में जोखिम लेने की बहुत कम गुंजाइश के साथ झुंड में चलने की मानसिकता है।

खन्ना ने एक साक्षात्कार में बताया, ‘‘आज टीवी में भेड़चाल की मानसिकता है। कोई भी व्यक्ति लीक से हट कर नहीं सोच रहा है। ‘क्योंकि सास भी कभी बहु थी’ सफल रही क्योंकि यह नयी थी, तब इसी तर्ज पर 100 धारावाहिकों का निर्माण किया गया। जब ‘बालिका वधु’ आयी हर किसी ने ऐसा ही करना शुरू कर दिया।’’ उन्होंने बताया, ‘‘निर्माता यह देखते हैं कि क्या बिक रहा है और केवल उस पर ध्यान केन्द्रित करते हैं। यह काफी दुखद है। टीवी चैनलों को जोखिम मोल लेना चाहिए और अलग चीजें प्रयोग करना चाहिए। बदलाव बहुत जरूरी है।’’

58 वर्षीय अभिनेता ने बताया कि निर्माताओं की मानसिकताएं हैं कि शाम के कार्यक्रम मुख्यरूप से महिलाएं देखती हैं और इस तरह इसमें चीजें नहीं डाली जाती हैं।’’ उन्होंने बताया, ‘‘एक अन्य समस्या है कि उन्हें लगता है कि शाम सात से 11 बजे तक का समय केवल महिलाओं के लिए है। ऐसे में एक बार जब आपको लगता है कि केवल महिलाएं आपका कार्यक्रम देखती हैं तो आप सभी की सामग्री एक जैसी हो जाती हैं।’’

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App