ताज़ा खबर
 

Mirzapur 2: अपनी स्क्रिप्ट खुद सेंसर करते हैं कालीन भैया, मिर्जापुर में गालियों को लेकर पंकज त्रिपाठी ने कही ये बात

पंकज त्रिपाठी का कहना है कि कालीन भैया का किरदार उन्हें बहुत ही रोचक लगा था। वो बाहर तो बाहुबली हैं लेकिन घर में कोई उनकी नहीं सुनता।

mirzapur 2, pankaj tripathi, kaleen bhaiyaपंकज त्रिपाठी का कहना है कि इस बार मिर्ज़ापुर में अधिक मनोरंजन होने वाला है

Mirzapur 2 का ट्रेलर कुछ दिनों पहले ही रिलीज़ हुआ जिसपर लोगों ने जमकर अपनी प्रतिक्रिया दी। ट्रेलर के बाद दर्शकों को अब इसके रिलीज़ होने का बेसब्री से इंतज़ार है। मिर्जापुर का दूसरा सीजन 23 अक्टूबर को Amazon Prime video पर रिलीज होगी। बहुप्रतीक्षित वेब सीरीज में पंकज त्रिपाठी के ‘कालीन भैया’ का किरदार बहुत अहम होने वाला है। इस किरदार को निभाने के अनुभवों का ज़िक्र उन्होंने बीबीसी को दिए एक इंटरव्यू में किया है।

बहुत ज़रूरी होने पर ही करते हैं गालियों का इस्तेमाल- मिर्ज़ापुर की पहली सीरीज देखी जाए तो उसमें हिंसा और गालियों का भरपूर इस्तेमाल किया गया है। सीजन 2 के ट्रेलर को देखकर अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि इस बार भी हिंसा और गालियां खूब इस्तेमाल की गईं हैं। अपने किरदार द्वारा गालियों के इस्तेमाल को लेकर पंकज त्रिपाठी ने इंटरव्यू में बताया, ‘मैं बतौर एक्टर बहुत अवेयर रहता हूं। मेरे सीन में आप देखेंगे कि जब तक बहुत जरूरी न हो तब तक मैंने गालियों का इस्तेमाल नहीं किया है। स्क्रिप्ट में लिखा हो बावजूद इसके। मैं अपने सीन की स्क्रिप्ट को खुद सेंसर करता हूं। मैं सनसनी के लिए कोई भी हरकत नहीं करता हूं। जब कहानी के लिए बहुत ज़रूरी हो वैसे शब्द तब हीं मैं उनका इस्तेमाल करता हूं और ध्यान रखता हूं कि वो महज़ सनसनी के लिए न हो।’

क्यों बने कालीन भैया- पंकज त्रिपाठी ने बताया कि कालीन भैया का किरदार बहुत प्रभावशाली है और लोगों के बीच उसकी धाक है। उन्होंने कहा, ‘ मुझे ये किरदार बहुत रोचक लगा था, वो बाहर तो बाहुबली होते हैं लेकिन घर के अंदर उनकी बात पत्नी नहीं सुनती, बेटा नहीं मानता और वो सबसे ज़्यादा क्राइसिस में रहते हैं। कालीन भैया के किरदार को बड़े ही अच्छे ढंग से लिखा गया है इसलिए मैंने सोचा कि चलो करते हैं।’

इस बार क्या नया है मिर्ज़ापुर में- पंकज त्रिपाठी ने बताया कि मिर्जापुर 2 में मनोरंजन बहुत ज़्यादा होने वाला है। उन्होंने कहा, ‘इस बार मनोरंजन ज़्यादा होगा, कहानी में गहराई बढ़ जाएगी और किरदारों की महत्वाकांक्षा बढ़ेगी। कहानी के किरदारों के बीच का षड्यंत्र भी बड़ा होगा।’ पंकज त्रिपाठी ने बताया कि मुझे हमेशा से मिर्जापुर एक फैमिली ड्रामा लगती है क्योंकि इसमें 3 परिवार, एक बाहुबली का परिवार, एक वकील का परिवार और एक पुलिस वाले का परिवार, की कहानी है।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 इन दिनों कहां हैं राम विलास पासवान की पहली पत्नी? जानिये- सौतेले बेटे चिराग से कैसे हैं उनके संबंध
2 चार साल से डिप्रेशन में हैं आमिर खान की बेटी इरा खान, लिखा- चीजें वास्तव में भ्रामक और तनावपूर्ण हैं
3 Republic टीवी पर गलत शेर पढ़कर अपनी हिम्मत बयां करने लगे अर्नब गोस्वामी, हुए ट्रोल
ये पढ़ा क्या?
X