scorecardresearch

पूरी फिल्म के रवि किशन को 25 हजार मिले थे और मुझे एक सॉन्ग के एक लाख रुपये- मनोज तिवारी ने सुनाया दिलचस्प किस्सा

मनोज तिवारी ने रवि किशन और अपने पुराने दिन की बात करते हुए मजेदार किस्सा शेयर किया।

manoj tiwari, Ravi kishan, Entertainment
मनोज तिवारी और रवि किशन (फोटो क्रेडिट-इंडियन एक्सप्रेस)

भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री के दो दिग्गज व राजनेता रवि किशन और मनोज तिवारी की नोंक-झोंक किसी से छिपी नहीं है। दोनों एक दूसरे की खिंचाई करने का एक मौका नहीं छोड़ते। ऐसा ही कुछ कपिल शर्मा के शो में भी हुआ था। जब दोनों ने एक दूसरे की खूब खिंचाई की थी। मनोज ने कहा कि उन्हें एक फिल्म में गाना गाने के लिए रवि किशन से तीन गुना अधिक पैसे मिले थे।

दोनों साथ में काम करने के अनुभव को साझा करते हुए एक-दूसरे की टांग खींच रहे थे। तभी मनोज तिवारी ने कहा,”ये हमारे सीनियर हैं, मैं इनके बाद आया हूं। मैं इनकी फिल्म में आइटम सॉन्ग कर चुका हूं। फिल्म में इन्होंने 25 हजार रुपये लिये थे और मैंने आइटम सॉन्ग के 1 लाख लिए थे।” ये कहकर मनोज तिवारी जोर से हंसने लगे और रवि किशन ने भी ठहाके लगाए।

इसके अलावा मनोज ने कहा कि जब मैं गाना गाया करता था, उस वक्त सिंगर की अहमियत ज्यादा थी। लेकिन रवि किशन भोजपुरी इंडस्ट्री के इकलौते स्टार थे, इसलिए उस वक्त ये हमें कुछ नहीं समझते थे। इसके अलावा भी दोनों ने काफी किस्से शेयर किए और मस्ती की।

इसके अलावा कपिल ने दोनों को अलग-अलग एपिसोड के क्लिप्स दिखाए। जिसमें वो दोनों ही दावे करते दिख रहे हैं कि किसने किसको क्रिकेट सिखाया। एक वीडियो में रवि किशन दावा कर रहे हैं कि मनोज तिवारी, निरहुआ और कई अन्य भोजपुरी अभिनेताओं को क्रिकेट खेलना उन्होंने सिखाया। वहीं मनोज तिवारी कह रहे हैं कि रवि किशन फिल्डिंग करते समय इधर-उधर देखते हैं।

जिसपर रवि ने कहा कि हां, फील्डिंग करते समय उनका ध्यान दर्शकों की तरफ चला जाता है। रवि ने कहा,’भले ही मैं सांसद हूं, लेकिन उससे पहले एक कलाकार हूं। एक कलाकार की औकात दर्शकों के बिना कुछ भी नहीं है।’ रवि किशन ने कहा कि वोऔर मनोज तिवारी 10 साल पहले एक दूसरे के धुर-विरोधी हुआ करते थे, लेकिन अब एक पार्टी में हैं। अब वे अच्छे दोस्त हैं।

बता दें कि रवि किशन और मनोज तिवारी दोनों ही बीजेपी पार्टी के सांसद हैं। मनोज तिवारी ने राजनीति की शुरुआत साल 2009 में समाजवादी पार्टी में शामिल होकर की थी। जिसके बाद उन्होंने भाजपा का दामन थाम लिया। उनके बाद रवि किशन भी राजनीति में शामिल हो गए।

पढें मनोरंजन (Entertainment News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट