ताज़ा खबर
 

साजिश के तहत हुई देश को जलाने की कोशिश- बोले बॉलीवुड एक्टर, गद्दारों का चेहरा…, देखें- क्या मिला जवाब

मनोज जोशी के इस पोस्ट पर ढेरों कमेंट आने लगे। एक यूजर ने मनोज जोशी को जवाब देते हुए लिखा, 'ये सोची समझी साजिश मौसा की ही हो सकती है, 65 दिनों से किसान शांति से धरना दे रहे थे, लेकिन...

दिल्ली में किसानों की ट्रैक्टर परेड के दौरान हुई हिंसा और उपद्रव के मामले में बॉलीवुड एक्टर मनोज जोशी का भी बयान सामने आया है। मनोज जोशी ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी में हिंसा और उपद्रव जानबूझकर सोची-समझी साजिश के तहत किया गया। उन्होंने ट्विटर पर एक पोस्ट में कहा, ‘संविधान और क़ानून के रक्षकों पर हमला मतलब देश की एकता और अस्मिता पर चोट। सोची-समझी साज़िश के तहत गणतंत्र दिवस के अवसर पर देश की राजधानी को जलाने की कोशिश बहुत ही शर्मनाक है। देश में छिपे ग़द्दारों का असली चेहरा मीडिया और प्रशासन को उजागर करना चाहिए।’

मनोज जोशी के इस पोस्ट पर ढेरों कमेंट आने लगे। एक यूजर ने मनोज जोशी को जवाब देते हुए लिखा, ‘ये सोची समझी साजिश मौसा की ही हो सकती है, 65 दिनों से किसान शांति से धरना दे रहे थे। 60 से ज्यादा लोग ठंड मे मर गये, उनको जान बूझ कर खालिस्तानी बोला गया और अब उस बात को साबित करने के लिये ये सब करवाया मौसा ने, और दंगे करवाने का उनका रिकॉर्ड जग जाहिर है।’

एक यूजर ने कहा, ‘मान्यवर गृह मंत्री जी और आदरणीय प्रधानमंत्री जी को तुरंत इन आतंकवादियों पर कार्रवाई करनी पडे़गी और जो भी किसान संगठनों ने परेड निकालने की मांग की थी उन सब से जो भी नुकसान हुआ है, वो वसूल करना चाहिए। ऐसे संगठनों पर तुरंत बैन लगाना चाहिए।’

एक यूजर ने लिखा, ‘अगर आज के बाद भी योगेन्द्र यादव को जेल में नहीं डाला जाता, राकेश टिकैत का भूत नहीं उतारा जाता, अगर अब भी ये दिल्ली की सड़कें बंद करके धरने की नौटंकी चालू रखते हैं तो इतिहास हमें कभी माफ नहीं करेगा।’ शिवम शर्मा नाम के यूजर ने कहा, ‘वो तो ये शुक्र मनाएं कि अभी देश में सरकार मोदी की है जो इतना कर लिया। अगर होती सरकार किसी ओर की, तो यहां लाशें बिछी हुई मिलतीं, क्योंकि उन्हें किसी से कोई मतलब नहीं था, मोदी जानते हैं कि ये चाहे नकली किसान ही सही लेकिन देश के नागरिक हैं!

गुरु जी नाम के यूजर ने लिखा- गांधी जी को गोली मारने वाले को तुरंत आतंकवादी बोल दिया था लेकिन यहां कानून और कानून के हजारों रखवालों पर जानलेवा हमला करने वाले खालिस्तानी कांग्रेसी आतंकियों को किसान घोषित किया जा रहा है।

रश्मि नाम की महिला यूजर बोलीं- इन लोगो के देशविरोधी कुकृत्य से आज पूरा जनमानस शर्मसार हो गया है। अब ऐसी कठोर कार्रवाई की जरूरत है कि कोई भी दोबारा ऐसी हिमाकत न कर सके। गिरीराज- नाम के शख्स ने लिखा-मैं मोदी जी के संयम की सराहना करता हूं। विपक्ष ऐसी परिस्थिति पैदा कर रहा है कि अच्छे अच्छों का संयम टूट जाये। मोदी और इंदिरा में यही फ़र्क़ है और इसी फ़र्क़ के कारण मुझे मोदी जी पर फक्र है।

Next Stories
1 ‘झंडे के साथ डंडा भी लाना है, लाठी भी साथ रखनी है..समझ जइयो सारी बात’ वायरल हुआ राकेश टिकैत का वीडियो, बोले- संघ के लोग भी तो…
2 गणतंत्र दिवस को दुख का दिन बना दिया, दुनिया हमपर हंस रही- बोले कुमार विश्वास तो आने लगे ऐसे कमेंट
3 ‘जिनको हम इतने दिनों से अन्नदाता कह रहे थे…’ किसानों के प्रदर्शन पर भड़के संबित पात्रा, बोले- ये तो उग्रवादी हैं
कोरोना LIVE:
X