ताज़ा खबर
 

पूर्णबंदी ने काफी कुछ सिखाया: मनीष पॉल

देश में लॉकडाउन है और सारे काम धंधे बंद है और लोग घरों में कैद हैं। मनीष पॉल भी घर में हैं और उनका कहना है कि इस लॉकडाउन ने उन्हें काफी कुछ सिखाया है।

Author Published on: May 22, 2020 3:16 AM
मनीष पॉल ने एक वेब सीरीज बनाई है, जिसका नाम ‘विजयनगर’ है।

आरती सक्सेना

टीवी के लोकप्रिय होस्ट मनीष पॉल ने हर तरह की एंकरिंग के साथ फिल्मों में भी काम किया है। करीब दस साल बाद मनीष एक बार फिर जीटीवी के चर्चित शो ‘सा रे गा मा पा लिटिल चैंप्स’ की एंकरिंग कर रहे हैं। फिलहाल देश में लॉकडाउन है और सारे काम धंधे बंद है और लोग घरों में कैद हैं। मनीष पॉल भी घर में हैं और उनका कहना है कि इस लॉकडाउन ने उन्हें काफी कुछ सिखाया है।

सवाल : मनीष आज हर कोई लॉकडाउन में अपने घरों में रहने को मजबूर हैं। वहीं कुछ लोगों को इससे परेशानी भी हो रही है। क्या आप भी घर में रह कर परेशान हो गए हैं ?

-जब जिंदगी में कुछ अलग होता है तो हर कोई परेशान हो जाता है। मैं दूसरों से अलग नहीं हूं। जब से मैंने होश संभाला है तब से कभी घर पर इतने दिनों तक खाली नहीं बैठा। समझ नहीं आ रहा है कि यह सब क्या हो रहा है। हाल ही में मैंने एक शॉट फिल्म बनाई है, जो कोरोना महामारी और लॉकडाउन पर आधारित है। इस फिल्म के माध्यम से मैंने बताया है कि अगर हम इस बीमारी को गंभीरता से नहीं लेंगे तो इसी तरह लॉकडाउन बढ़ता चला जाएगा और हमारी सहनशक्ति जवाब देने लगेगी। सो समझदारी इसी में है कि हम सभी अपने-अपने घरों में रहे। मैं जानता हूं कि ये मुश्किल है लेकिन इसके अलावा हमारे पास कोई चारा नहीं है। क्योंकि हम जितना लोगों के संपर्क में आएंगे इस बीमारी के करीब जाएंगे। इसलिए मैं भी भले ही परेशान और बोर हो रहा हूं लेकिन घर में ही हूं, क्योंकि मझे पता है कि मैं घर में हूं तो सुरक्षित हूं।

सवाल : कोरोना बीमारी के बारे में आए दिन सोशल मीडिया पर कुछ न कुछ वायरल हो रहा है, जिसके कारण लोगों में डर है। ऐसे में आप लोगों को क्या सलाह देना चाहेंगे?

-मैं यही कहना चाहूंगा कि ये छूत की बीमारी है इसलिए जितना हो सके सामाजिक दूरी का पालन करने के साथ मास्क जरूर पहनें। हाथों को सेनेटाइज करें, स्वच्छता का ख्याल रखें। घर से बाहर निकलते समय सावधान रहे और सबसे जरूरी बात कि नकारात्मक बातें सोचना और देखना बंद कर दें। भगवान पर विश्वास करें। जिस तरह अच्छा वक्त गुजर जाता है वैसे ही बुरा वक्त भी गुजर जाएगा। बस थोड़ा सब्र रखें ।

सवाल : आप जी टीवी पर प्रसारित ‘सा रे गा मा पा लिटिल चैंप्स ’ शो की एंकरिंग कर रहें थे। इस शो ने आपको बतौर एंकर काम करने के लिए किस आधार पर आकर्षित किया?

-बहुत सारी वजहें हैं। सबसे पहली वजह तो ये है कि जी टीवी से मेरा बहुत पुराना रिश्ता है। जी टीवी के साथ जुड़ने का मेरा अनुभव भी काफी अच्छा रहा है। मैंने उनके साथ कई शो किए हैं। जब मुझे इस शो के जजों के बारे में पता चला तो मैं इस बार इस शो को करने के लिए और ज्यादा उत्साहित हो गया। इस बार शो के जज कुमार सानू, उदित नारायण और अलका याज्ञिक हैं, इसलिए मैं शो करने के लिए पागल हो गया। मैं तीनों जजों का जबरदस्त फैन हूं इनके गाने गा गा कर और सुन कर बड़ा हुआ हूं। इसलिए इस बार तो यह शो करना ही था। मेरे लिए यह शो इसलिए भी खास है क्योंकि ये शो बच्चों का है और मुझे बच्चों से और बच्चों को मुझसे बहुत प्यार है। आप यकीन नहीं करेंगे जब मैं लिटिल चैंप्स के सेट पर पहुंचा तो सारे बच्चे मुझे पकड़ कर लटक गए। और मेरे साथ मस्ती करने लगे जिसे देखकर यूनिट परेशान हो गई लेकिन मैं नहीं हुआ।

सवाल : अपने अभी तक के करिअर में डांस, मिमिक्री, अदाकारी सभी कुछ कर लिया है। क्या कुछ ऐसा करना बाकी है जो आपने अभी तक नहीं किया हो?

-मुझे एक्शन करने का बहुत शौक है और मैं एक थ्रिलर एक्शन फिल्म करने की इच्छा रखता हूं जिसका मौका मुझे अभी तक नहीं मिला है।

सवाल : अगर आपको एक्शन इतना ही पसंद है तो आप कलर्स के शो ‘खतरों के खिलाड़ी’ का हिस्सा क्यों नहीं बने जहां रोहित शेट्टी एक से एक स्टंट करवाते हैं?

-मुझे ‘खतरों के खिलाड़ी’ शो का आॅफर कई बार मिला। लेकिन मैं कीडे-मकोड़े और चूहे-काकरोच को अपने शरीर पर चलते हुए बर्दाशत नहीं कर सकता। इसलिए मैंने ये शो करना मंजूर नहीं किया।

सवाल : आप में इतने सालों में कोई बदलाव नहीं आया। आप जैसे आज से दस साल पहले थे वैसे ही आज भी हैं। आपकी अच्छी सेहत और फिटनेस का राज क्या है?

-मैं रोज डेढ़ घंटा कसरत करता हूं। चाहे मैं कितना भी थका हुआ हूं या व्यस्त हूं, कसरत करना नहीं छोड़ता। मैं पंजाबी आदमी हूं इसलिए मुझसे ज्यादा डाइटिंग तो होती नहीं है लिहाजा मैं जिम और एक्सरसाइज पर खास ध्यान देता हूं। इस के अलावा मेरी अच्छी सेहत का राज मेरी पत्नी का साथ भी है। वो मुझे जरा भी टेंशन नहीं देती। मेरा, बच्चों और घर का वो ख्याल रखती है। मुझे जरा भी चिंता नहीं करनी पड़ती। यही वजह है कि मैं खुश और फिट रहता हूं।

सवाल : क्या आपके बच्चों में आपके गुण आए हैं। आप के दोनों बच्चे किस पर गए हैं आप पर या आपकी पत्नी पर?

-मेरी बेटी अपनी मां पर गई है वो थोड़ी इंटेलिजेंट है, बुद्धिमानी वाली बातें करती है। बेटा पूरा मुझ पर गया है वो अभी से अपने बाल, ड्रेस पर ध्यान देता है। जब हम कही बाहर जाते हैं तो वो मुझसे कहता है डैडी मेरा बाल भी आप अपने जैसे सेट कर दो, जेल लगा दो, स्टाइलिस्ट जूते पहना दो। उसकी हरकतों को देख कर मुझे बहुत हंसी आती है क्योंकि वह मुझे मेरा बचपन याद दिलाता है।

सवाल : बॉलीवुड में कई सारे अभिनेता है जिन्होंने अपने प्रोडक्शन हाउस के तहत फिल्म बनाई है और उसमें मुख्य भुमिका भी निभाई है। फिर चाहे वो अक्षय कुमार हो या शाहरुख खान या फिर जॉन अब्राहम। आपने भी अपना खुद का प्रोडक्शन हाउस खोल दिया है तो क्या आप भी भविष्य में अपने लिए फिल्म बनाएंगे, जिसमें आपको अपना हुनर दिखाने का मौका मिले?

-हां, मैंने एक वेब सीरीज बनाई है, जिसका नाम ‘विजयनगर’ है। यह लगभग पूरी हो चुकी है। इसकी कहानी बहुत ही अलग है। इसमें मेरा डबल रोल है। ये मार्च तक रिलीज होने वाली थी, लेकिन लॉकडाउन लग गया। लॉकडाउन खुलने पर ही यह रिलीज होगा।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 राणा दग्गुबाती ने मिहिका बजाज से कर ली सगाई
2 इस रोल ने मेरी जान ही ले ली थीः रणदीप हुड्डा
3 शूट के लिए अबुधाबी गई थीं मौनी रॉय, लॉकडाउन के चलते 2 महीने से दोस्त के घर रहने को मजबूर