ताज़ा खबर
 

महेश भट्ट कर रहे हैं पाकिस्तानी कलाकारों को वापस भारत लाने के मिशन की शुरुआत, जानिए कैसे

महेश भट्ट ने पाकिस्तानी गायक-एक्टर अली जफर को करांची में कॉल किया और उन्हें सीमा पर शांति की थीम पर गाना गाने का ऑफर दिया।
Author नई दिल्ली | February 25, 2017 12:39 pm
भारतीय फिल्म निर्माता-निर्देशक महेश भट्ट और पाकिस्तानी कलाकार फवाद खान (दाईं ओर)।

साल 2016 में उरी हमले के बाद भारत में पाकिस्तानी कलाकारों के काम करने पर लगे बैन के बाद कई एक्टर्स और डायरेक्टर्स ने इसका विरोध किया था, हालांकि आखिरकार राजनीतिक शक्तियों के आगे बॉलीवुड को झुकना पड़ा और सिर्फ करण जौहर निर्देशित फिल्म ऐ दिल है मुश्किल में पाकिस्तानी कलाकार फवाद खान नजर आए। उनके फिल्म में कास्ट किए जाने को लेकर भी काफी तूतू-मैंमैं हुई। लेकिन करण जौहर के इस वादे पर कि वह आगे से अपनी फिल्मों में किसी भी पाकिस्तानी अभिनेता को कास्ट नहीं करेंगे, फिल्म को राजनीतिक दल मनसे (महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना) ने महाराष्ट्र में रिलीज किए जाने की परमिशन दे दी। इसके बाद राहुल ढोलकिया निर्देशित फिल्म रईस में भी शाहरुख खान के अपोजिट पाकिस्तानी एक्ट्रेस माहिरा खान को साइन किया गया। यह फिल्म 2017 में रिलीज हुई, लेकिन इसकी रिलीज से पहले भी काफी बवाल हुआ।

हालांकि अब ऐसा सुनने में आ रहा है कि निर्देशक महेश भट्ट पाकिस्तानी कलाकारों को वापस भारत बुलाने की शुरुआत करने जा रहे हैं। अंग्रेजी मनोरंजन साइट बॉलीवुड लाइफ की एक रिपोर्ट के मुताबिक महेश भट्ट ने पाकिस्तानी गायक-एक्टर अली जफर को करांची में कॉल किया और उन्हें सीमा पर शांति की थीम पर गाना गाने का ऑफर दिया। खबर की मानें तो अली ने इस बारे में सकारात्मक रिस्पॉन्स दिया है। इतना ही नहीं महेश के इस प्रोजेक्ट में साथ देने के लिए शफकत अमानत अली भी राजी हो गए हैं और वह भी बिना किसी फीस के। इस प्रोजेक्ट के वीडियो की बात करें तो दिल्ली बेस्ड एक्टर इमरान जाहिद इस प्रोजेक्ट पर महेश भट्ट के साथ काम करेंगे।

इमरान ने कहा- भट्ट साब ने जिस भी पाकिस्तानी कलाकार से इस बारे में संपर्क किया है, सभी ने बहुत ही जोशपूर्ण रिस्पॉन्स दिया है। शफकत अमानत अली के मैनेजर ने तो यहां तक कहा कि वह इसके लिए कोई भी फीस चार्ज नहीं करेंगे। हम राहत फतेह अली खान और आतिफ असलम को भी इस प्रोजेक्ट से जोड़ने का प्रयास कर रहे हैं। इमरान ने बताया कि हम 8 जून को दिल्ली में परफॉर्म किए जाने वाले एक प्ले जिसका नाम “मिलने दो” होगा, के लिए पाकिस्तानी कलाकारों की आवाज का इस्तेमाल करेंगे। यह प्ले मुंबई में 23 जून को आयोजित किया जाएगा। वहीं भारत सरकार ने यह साफ कर दिया है कि उन्होंने पाकिस्तानी कलाकारों पर किसी तरह का बैन नहीं लगाया है। जब भारत सरकार ने सब कुछ साफ कर दिया है तो अब विरोधी क्या कर सकते हैं?

मनोरंजन जगत की खबरों के लिए क्लिक करें

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.