ताज़ा खबर
 

बेटी के जन्म से ही घर में बंद हूं : कपिल शर्मा

'अफसोस मैं किसी बात का नहीं करता। मेरा मानना है कि हमे जो मिले उसमें संतुष्ट होना चाहिए। और मुझपर तो ऊपर वाले की मेहरबानी है। ‘द कपिल शर्मा’ शो से मुझे इतने लोगों का प्यार मिला है कि उतना तो मुझे दस फिल्मों में काम करके भी नहीं मिलता।'

कॉमेडी किंग कपिल शर्मा भी इन दिनों परिवार के साथ घर में समय बिता रहे हैं।

आरती सक्सेना

कोरोना वायरस को देखते हुए देशभर में बंदी है। बड़े पर्दे से लेकर छोटे पर्दे के तमाम कलाकार भी अपने-अपने घरों में बंद है। कॉमेडी किंग कपिल शर्मा भी इन दिनों परिवार के साथ घर में समय बिता रहे हैं। बंदी पर अपनी राय रखते हुए उन्होंने कहा कि मैं अभी से नहीं बल्कि बेटी की पैदाइश से ही घर में बंद हूं।

सवाल : लॉकडाउन में आप कैसे समय बिता रहे हैं?
-मेरा लॉकडाउन तो तभी हो गया था, जब मेरी बेटी अनायरा ने जन्म लिया था। वो इतनी क्यूट है कि मेरा घर से बाहर निकलने का मन ही नहीं होता था। अगर मैं बाहर आता भी था तो लगता था कब उसके पास चला जाऊं। अब तो लॉकडाउन है। मैं कई दिनों से घर में ही हूं। घर में छोटा बच्चा है इसलिए ज्यादा सावधानी बरतनी पड़ रही है। वैसे भी ये बीमारी काफी खतरनाक है, इसलिए मुझे ही नहीं सभी को सावधानी बरतनी चाहिए। एक समय था जब कहा जाता था जो डर गया वो मर गया। लेकिन अब कहा जा रहा है जो नहीं डरा और घर से बाहर गया समझो वो मर गया।

सवाल : सुना है कि आपने भी कोरोना की इस लड़ाई में करीबन 20 लाख का दान किया है?
-आज जो देश के हालात हैं उसके लिए हर कोई आगे आकर दान दे रहा है। सो मुझसे भी जितना बन सका मैंने भी अपना योगदान दिया। लेकिन इस संबंध में ज्यादा बात करना ठीक नहीं लगता है। मेरी मां कहती है कि जब तुम दाएं हाथ से दान करो तो बाएं हाथ को भी पता नहीं चलना चाहिए। मैं तो भगवान से सिर्फ यही प्रार्थना कर रहा हूं कि जल्द से जल्द इस भयानक बीमारी से निजात मिल जाए और हम सभी की जिंदगी फिर से सामान्य हो जाए।

सवाल : इस लॉकडाउन के दौरान आपकी दिनचर्या क्या है?
-मैं आराम फरमा रहा हूं, देर तक सोता हूं आराम से उठता हूं और फिर चाय नाश्ता करके अपनी बेटी अनायरा के साथ खेलता हूं। आज कल वो बहुत शैतान हो गई है, बहुत मस्ती करती है। पहले तो वह सिर्फ गिन्नी को देख कर हसंती थी लेकिन अब मुझे भी देख कर मुस्कुराने लगी है। मैं कई दिनों से घर में जो हूं। मेरे लिए तो लॉकडाउन अच्छा साबित हुआ है क्योंकि मुझे अपनी प्यारी बेटी के साथ वक्त बिताने का मौका मिल रहा है। अनायरा का मतलब होता है खुशी और जब से मेरी बेटी मेरी जिंदगी में आई है तब से मेरी जिंदगी में खुशी ही खुशी है। लॉकडाउन की वजह से सारा रूटीन बिगड़ गया है। सोने उठने का टाइम बदल गया है, हालांकि धीरे-धीरे उसमें सुधार कर रहा हूं।

सवाल : कुछ लोग इस बीमारी को गंभीरता से नहीं ले रहे और घर से बाहर निकल रहे। ऐसे लोगों से आप क्या कहना चाहेंगे?
-ऐसे लोगों से मैं यही कहूंगा कि करोड़ों की आबादी वाले शहर को लॉकडाउन किया गया है तो निश्चित ही कोई गंभीर समस्या होगी। वर्ना ऐसा करना ही क्यों पड़ता। मेरी जनता से यही अपील है प्रार्थना है कि इस बीमारी को मजाक में ना ले। यह बहुत ही गंभीर बीमारी है, जिसमें सिर्फ आप ही नहीं आपका पूरा परिवार, आपके साथ के सभी लोग मौत के मुंह में जा सकते हैं। लिहाजा घर पर ही रहे, सफाई का पूरा ध्यान रखे, बार-बार हाथ धोएं और जबतक जरूरी न हो घर से बाहर न निकलें। अगर आप अपने आप से और अपने परिवार से प्यार करते हैं तो पूरी तरह सावधानी बरतें। और कुछ समय तक सारे नियमों का पालन करें जो आपके अच्छे के लिए सरकार ने बनाए हैं।

सवाल : कुछ समय पहले आपने पर्सनली और प्रोफेशनली बहुत बुरा दौर देखा। उस बुरे दौर से आपने क्या सीखा?
-यही की वक्त अच्छा हो या फिर बुरा टिकता नहीं है और कुछ समय के बाद चला ही जाता है। परिवर्तन जीवन का नियम है, जिसे झेलने और सहने की ताकत हममे होनी चाहिए। बुरे दौर में कुछ ऐसा नहीं करना चाहिए, जिसकी वजह से जिंदगी भर पछताना पड़े। मैंने कभी ये नहीं सोचा था कि मैं अवसाद में चला जाउंगा और ये भी कि अच्छा वक्त दोबारा आएगा। मेरी जिंदगी वापस लौट आएगी, गिन्नी और अनायरा आएंगे। मुझे सलमान सर का साथ मिलेगा और मेरी डुबती नैया को किनारा मिल जाएगा।
बुरे दौर से यही स्ीाखा कि जिंदगी में कभी गलत काम मत करो, किसी का दिल मत दुखाओ, अपने कर्म सही रखो तो बुरे से बुरा वक्त भी निकल जाएगा और आपको अच्छे लोगों का साथ जरूर मिलेगा। मैं आज जो कुछ भी हूं, अच्छे लोगों के साथ की वजह से ही हूं। जैसे मेरी मां, पत्नी, मेरी बेटी और सलमान सर। ये सब मेरी जिंदगी के अहम लोग हैं, जिन्होंने मुझे फिर से एक बार जीना सिखा दिया और मुझे पहले जैसी जिंदगी दोबारा दे दी।

सवाल : बतौर निमार्ता आपका अनुभव कुछ अच्छा नहीं रहा। आपकी फिल्म ‘फिरंगी’ बॉक्स ऑफिस पर असफल रही, जिसकी वजह से आपको काफी नुकसान उठाना पड़ा। ऐसे में क्या आप भविष्य में बतौर निमार्ता कोई फिल्म बनाएंगे?
-फिलहाल तो इस बारे में कुछ सोचा नहीं है। अभी तो अपने शो पर ही सारा ध्यान है। आगे के बारे में आगे सोचूंगा।

सवाल : आप मुंबई अभिनेता और गायक बनने आए थे। आपका यह सपना अब तक अधूरा है, तो क्या आपको इसका अफसोस है?
-अफसोस मैं किसी बात का नहीं करता। मेरा मानना है कि हमे जो मिले उसमें संतुष्ट होना चाहिए। और मुझपर तो ऊपर वाले की मेहरबानी है। ‘द कपिल शर्मा’ शो से मुझे इतने लोगों का प्यार मिला है कि उतना तो मुझे दस फिल्मों में काम करके भी नहीं मिलता। जहां तक गाने का सवाल है तो अपने शो में गाने की भड़ास निकाल लेता हूं। अगर भगवान ने चाहा तो आगे प्लेबैक सिंगिंग भी कर लूंगा। मेरी कौन सी उम्र निकली जा रही है। मेरे पास बहुत समय है, नया करने के लिए।

सवाल : आपके ‘द कपिल शर्मा’ में करीबन हर क्षेत्र के नामी गिरामी सेलीबे्रटी आ चुके हैं। तो क्या कोई ऐसा है जिसे आप शो में लाने की इच्छा रखते हो?
-मेरी इच्छा है कि शो में सुर कोकिला लता दीदी और सचिन तेंदुलकर आएं। लता जी उम्र और सेहत के चलते आने में असमर्थ हैं वहीं सचिन सर को शो में लाने की लगातार कोशिश कर रहा हूं। इन दोनों ही हस्तियों को शो में लाने की मेरी दिली तमन्ना है, जो न जानें कब पूरी होगी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App। जनसत्‍ता टेलीग्राम पर भी है, जुड़ने के ल‍िए क्‍ल‍िक करें।

Next Stories
1 पालतू जानवरों को छोड़ने वालों को सोनाक्षी ने लगाई फटकार
2 हमारी याद आएगीः …और फिल्मों में बिकिनी बेमानी हो गई
3 मसकली 2.0 गाने से खफा हुए एआर रहमान, शाहरुख ने जीता सबका दिल