ताज़ा खबर
 

‘लक्ष्मी बम दिवाली पर भी..’, Akshay Kumar के फिल्म टाइटल पर सवाल उठाने पर सामने आए ऐसे रिएक्शन, मुकेश खन्ना ने दिया जवाब

एक यूजर ने मुकेश खन्ना के पुराने पोस्ट पर कमेंट किया था कि लक्ष्मी बम नाम का बम दिवाली में भी फोड़ा जाता है। इस कमेंट का जिक्र करते हुए मुकेश खन्ना ने जवाब दिया।

Laxmi bomb, Akshay Kumar, Mukesh Khanna, Shaktiman, Diwali, Laxmi Bomb, Laxmi Bomb Explosion on Diwali,अक्षय कुमार की फिल्म लक्ष्मी बम का पोस्टर, दूसरी तरफ मुकेश खन्ना

अक्षय कुमार की फिल्म ‘लक्ष्मी बम’ के टाइटल को लेकर महाभारत एक्टर मुकेश खन्ना नाराज नजर आए थे। ऐसे में उन्होंने एक पोस्ट के जरिए अपनी नाराजगी अक्षय की फिल्म टाइटल को लेकर जाहिर की थी। वहीं लोगों ने मुकेश खन्ना के उस पोस्ट पर रिएक्ट किया था। अब एक बार फिर से मुकेश खन्ना ने अपना एक वीडियो पोस्ट किया है जिसमें वह उन लोगों को जवाब देते दिख रहे हैं जो उनसे सहमत नहीं हैं।

एक यूजर ने मुकेश खन्ना के पुराने पोस्ट पर कमेंट किया था कि लक्ष्मी बम नाम का बम दिवाली में भी फोड़ा जाता है। इस कमेंट का जिक्र करते हुए मुकेश खन्ना ने जवाब दिया। मुकेश खन्ना ने अपने पोस्ट के साथ कैप्शन में लिखा- ‘LAXMI BOMB टाइटल पर मेरे द्वारा अपने सोशल अकाउंट पर किए गए पोस्ट पर चन्द बुद्धिजीवी लोगों का ये बचकाना तर्क आया कि 5० सालों से देश भर में इसी नाम के पटाखे फोड़े जाते रहे हैं। किसी ने विरोध नहीं किया तो आज इतना बवाल क्यों ? उनको जवाब देने के लिए मैंने ये वीडियो बनाई है। ख़ुद देख लीजिये।’

मुकेश खन्ना ने अपने वीडियो में कहा- ‘पहली बात मैं ये कहूंगा कि ये जो मैंने मुद्दा उठाया है इसे हर वो शख्स समझेगा जिसे हिंदू धर्म या सनातन धर्म का सम्मान है। उसे इस बात का ऑब्जेक्शन होगा कि लक्ष्मी के आगे बम क्यों लग रहा है। जो लोग ऐशे सवाल कर रहे हैं कि उस वक्त क्यों नहीं रोका , अब क्यों रोक रहे हो। अरे भाई वो वक्त और था, उस वक्त सोशल मीडिया नहीं था।’

 

View this post on Instagram

 

LAXMI BOMB टाइटल पर मेरे द्वारा अपने सोशल अकाउंट पर किए गए पोस्ट पर चन्द बुद्धिजीवी लोगों का ये बचकाना तर्क आया कि ५० सालों से देश भर में इसी नाम के पटाखे फोड़े जाते रहे हैं। किसी ने विरोध नहीं किया तो आज इतना बवाल क्यों ? उनको जवाब देने के लिए मैंने ये विडीओ बनाई है। ख़ुद देख लीजिये।

A post shared by Mukesh Khanna (@iammukeshkhanna) on

मुकेश खन्ना ने आगे कहा- ‘उस वक्त लोगों को बस अपने बच्चों को पटाखे दिलाने होते थे फुलझड़ियां देनी होती थीं, वो खरीद देते थे उसपर नाम नहीं पढ़ते थे।उस समय सोचते नहीं थे। आवाज उठाने के लिए उस वक्त सोशल मीडिया नहीं होता था। अरे भाई जब जागो तब सवेरा। जैसे पहले मीटू के लिए भी बोला था। अरे भाई जब कोई बोलता है तो उसका समर्थन करो भाई। बम के नाम पर ऑब्जेक्शन नहीं है तो पटाखे के नाम पर क्यों नहीं भाई, समझो। फिल्म मीडियम दिखती है, दीवार पर पोस्टर लगते हैं। वो ज्यादा विजिबल रहता है। 90प्रतिशत से ज्यादा लोगों ने मेरी बात का समर्थन किया है।’

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 बाला साहब ठाकरे ने कहा था साध्वी के साथ अन्याय मत करो- Republic टीवी पर अर्नब गोस्वामी से बोलीं प्रज्ञा ठाकुर
2 MNS ने दी बिग बॉस की शूटिंग रोकने की धमकी तो जान कुमार सानू ने मांगी माफी; जानें पूरा मामला
3 बिग बॉस के घर में मराठी में ज़वाब देने से रोकने का मामला गरमाया, गृह मंत्री बोले- पुलिस करेगी कार्रवाई
यह पढ़ा क्या?
X