लखीमपुर केस: गुंडा तबके से मंत्री बनेंगे तो देश का यही हाल होगा- BJP मंत्री पर बिफरे राकेश टिकैत

राकेश टिकैत ने बीजेपी मंत्री अजय मिश्र टेनी पर निशाना साधते हुए कहा है कि सरकार में दागी मंत्री होंगे तो देश का यही हाल होगा।

rakesh tikait, ajay mishra teni, lakhimpur kheri
राकेश टिकैत ने अजय मिश्र टेनी पर निशाना साधा है (photo-File)

उत्तर प्रदेश के लखीमपुर खीरी जिले में हुई हिंसा में बीजेपी में गृह राज्य मंत्री और स्थानीय सांसद अजय मिश्र टेनी का नाम सामने आ रहा है। उनके बेटे आशीष मिश्र पर आरोप है कि उनकी गाड़ी से कुचलकर कई किसानों की मौत हो गई और कई घायल हो गए। इस पूरे मामले पर भारतीय किसान यूनियन के प्रवक्ता और किसान नेता राकेश टिकैत लगातार बीजेपी सरकार पर हमलावर दिखे। अब उन्होंने तल्ख लहजे में कहा है कि सरकार में दागी मंत्री होंगे तो देश का यही हाल होगा।

द लल्लनटॉप से बातचीत में उन्होंने कहा कि अजय मिश्र गुंडा तबके से आते हैं। जब उनसे पूछा गया कि योगी आदित्यनाथ सरकार और नरेंद्र मोदी सरकार से उनकी क्या मांगे हैं तो उन्होंने जवाब दिया, ‘जो गुंडा तबका है, उनका कैरेक्टर सर्टिफिकेट भी देखना चाहिए। जिस पर गुंडा एक्ट लगी हो और वो देश का गृह मंत्री बने तो फिर यही हाल होगा देश का।’

इधर अजय मिश्र का दावा है कि उनकी पार्टी के कुछ लोग भी मारे गए हैं। इस बात का जवाब देते हुए राकेश टिकैत ने कहा, ‘भाजपा के तो नहीं थे। वो जीप चढ़ाने गए थे, जीप चढ़ाई, वो पलटी। नहीं होना चाहिए ऐसा। किसी के बालकों को बहकाकर सांसद ले जाए और फिर उससे लड़ाई लड़वाए, ये गलत चीज है। हमने तो कहा कि मुआवजा उनको, सबको मिलना चाहिए।’

भाजपा मंत्री अजय मिश्र टेनी की बात करें तो, एक वक्त अपने प्रदेश लखीमपुर में उनकी छवि दबंग की थी। अपने क्षेत्र में ‘महाराज’ कहे जाने वाले टेनी को पहलवानी का भी शौक था। उन्होंने कुछ वक्त तक पहलवानी भी की।

साल 2003 में लखीमपुर के ही तिकोनिया के रहने वाले 24 वर्षीय युवक की हत्या में टेनी को नामजद किया गया। युवक की गोली मार कर हत्या कर दी गई थी जिसका आरोप अजय मिश्र टेनी पर लगा। कोर्ट में सुनवाई के दौरान टेनी को गोली मार दी गई थी। हालांकि इससे उन्हें ज्यादा चोट नहीं आई थी। इस हत्याकांड में अजय मिश्र टेनी 2004 में बरी हो गए थे। इसी के बाद अजय मिश्र राजनीति की तरफ मुड़ गए।

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट