ताज़ा खबर
 

कुमकुम भाग्य 14 दिसंबर फुल एपिसोड: प्रज्ञा खुद अभि की लाईफ से हुई दूर

kumkum Bhagya Full Episode: अभि की इस हालत के लिए खुद को दोषी मानते हुए प्रज्ञा, अभि का लाईफ से हमेशा के लिए दूर चली जाती है। अभि की दादी कहती है कि किसी भी कीमत पर प्रज्ञा को वो वाप लाकर रहेगी।

Author नई दिल्ली | December 15, 2016 9:39 AM
प्रज्ञा, अभि की लाईफ से दूर हुई

‘जी टीवी’ पर प्रसारित होने वाले शो ‘कुमकुम भाग्य’ में आपने देखा कि प्रज्ञा, तनु से कहती है अगली बार उसने उसके मंगलसूत्र को हाथ लगाया तो उसका बुरा हाल करेगी। वो उसे धमकी देती है कि वो उसे दुबारा अपनी शक्ल ना दिखाए। आलिया, डॉक्टर से कंफर्म करती है कि इस एक्सीडेंट के बाद अभि की मेमोरी वापस नहीं आएगी। तनु, आलिया को आकर कहती है कि प्रज्ञा ने उसके साथ किस तरह से बिहेव किया। आलिया उसे कहती है कि गलती उसकी हैं क्योंकि ऐसे नाजुक मौके पर उसे ऐसी बातें नहीं करनी चाहिए। क्योंकि प्रज्ञा अपने सुहाग की रक्षा के लिए उसके साथ कुछ भी कर सकती है तो वो इस समय उससे अलग ही रहे। वो तनु से कहती है कि वो अभि को अपना कहती है तो प्रज्ञा की बजाए उसे अभि को हॉस्पीटल लाना चाहिए। वो उसे वॉर्न करती है कि जब तक अभि सही ना हो जाएं वो खुद को तब तक कंट्रोल में रखे। वो कहती है कि वो किसी से डर नहीं रही है वो बस मौके की नजाकत को समझ रही है। हॉस्पीटल में सरला, दादी के पूछने पर कहती है कि भगवान ने उनके अभि को बचा लिया। वो सभी आईसीयू में अभि से मिलने आते हैं। वे प्रज्ञा को वहां सोते हुए देखती हैं। दादी कहती है कि प्रज्ञा के अभि के साथ होने से ही अभि सही है। वो कहती है कि भगवान अब उनके इम्तिहान लेना बंद कर दे। वो कहती है कि प्रज्ञा अब अभि की जीवनसाथी ही नहीं उसकी जीवन रक्षक बन गई है जो उसे किसी भी मुसीबत से बचा लेती है।

प्रज्ञा को सपने में आलिया की बातें याद आती है जब उसने कहा था कि उसकी वजह से अभि की लाईफ में मुसीबतें आ रही है। वो अभि की इस हालत के लिए खुद को ही दोषी मानने लगती है। वो कहती है कि वो उसकी खुशियों की वजह बनना चाहती है, उसकी तकलीफों की वजह नहीं बनना चाहती है। वो कहती है कि उसे सही सलामत देखने के लिए वो उससे दूर भी रह सकती है। वो कहती है कि उसने सोचा था कि उसके दुश्मनों को उससे दूर कर देगी लेकिन वो ही उसकी जान की दुश्मन बन चुकी है। वो कहती है कि उन दोंनो का साथ यहीं तक था, अब बस यादें ही रह जायेंगी या फिर वो भी नहीं। वो अपना मंगलसूत्र उतार कर अभि के हाथों पर रख देती है। वो वहां से निकल कर बिना किसी से मिले चली जाती है।

बीजी उसे देखती है तो आकर उसे रोकती है। प्रज्ञा कहती है कि वो अगर यहां और रुकेगी तो और भी दिक्कत आएगी। वो कहती है कि हर मुसीबत की वजह वो खुद है तो वो उनसे दूर जा रही है। बीजी के रोकने के बावजूद वो वहां से चली जाती है। दादी को हॉस्पीटल से फोन आता है। उन्हें पता चलता है कि प्रज्ञा, अभि की जिंदगी से हमेशा के लिए चली गई है। आलिया उनकी सारी बातें आलिया सुन लेती है औऱ वो तनु को आकर बताती है। वे दोनों भी पीछे से हॉस्पीटल जाते हैं। वे दोनों बातें करते है कि इस बार ऐसी गलती नहीं होनी चाहिए कि प्रज्ञा फिर से वापस आ जाए। तनु कहती है कि वो ऐसा बिल्कुल नहीं होने देगी। सरला के पूछने पर बीजी उन्हें बताती है कि प्रज्ञा ने खुद को अभि का दोषी मानते हुए यहां से जाने का फैसला किया है। दादी कहती है कि उन्हें किसी भी कीमत पर प्रज्ञा को वापस लाना होगा।

Read Also: कुमकुम भाग्य 13 दिसंबर फुल एपिसोड: पूरब ने अपना खून देकर अभि की जान बचाई

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App