जागो ग्राहक जागो- केंद्रीय मंत्री बोले, तेल की कीमतों से हो रही मुफ्त वैक्सीन की भरपाई तो कुमार विश्वास ने कसा तंज़

केंद्रीय मंत्री रामेश्वर तेली के एक बयान पर कवि कुमार विश्वास ने रिएक्ट किया है।

kumar vishwas, aryan khan
मशहूर कवि कुमार विश्वास (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

देश में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में इजाफे के बीच केंद्रीय मंत्री रामेश्वर तेली (Rameshwar Teli) का एक अटपटा बयान सामने आया है। उनका कहना है कि तेल की कीमतें नहीं बढ़ीं हैं बल्कि उनपर टैक्स ज्यादा लग रहा है, इसलिए वैक्सीन फ्री में मिली है। भरपाई के लिए ऐसा किया गया है। केंद्रीय मंत्री के इस बयान पर कवि कुमार विश्वास ने भी रिएक्ट किया है। डॉ कुमार विश्वास ने रामेश्वर तेली के बयान पर चुटकी लेते हुए कहा-‘जागो ग्राहक जागो।’

कुमार विश्वास के अलावा तमाम यूजर्स भी टिप्पणी कर रहे हैं। सुभाष नाम के एक यूजर ने कहा- ‘इसमें गलत क्या है। सरकार को कहीं न कहीं से तो रिकवरी करनी ही पड़ेगी। पिछले दो साल से चावल और गेहूं फ्री में बांटा जा रहा है। हम फ्री बिजली-पानी के लालच के चक्कर में इन्हें सत्ता सौंप देते हैं। कभी किसी ने किसी नेता से पूछा कि ‘फ्री’ का जो लालच देते हैं वो कहा से लाएंगे?’

राकेश शर्मा नाम के यूजर ने लिखा- ‘क्या आपने कभी पूछा है नेताओं से कि वो लोग सब कुछ फ्री में लेते हैं और हम सब टैक्स दे देते हैं। हमें भी तो टैक्स का कुछ रिटर्न चाहिए।’ शांतिनाथ चौधरी ने कहा- ‘सर जी, हम भारतीयों से बहुत बड़ी गलती हो गई है। अब इस Free Vaccine का क़र्ज़ ज़िंदगी भर चुकाना पड़ जाएगा! कुछ भी होगा तो बस फ्री वैक्सीन के नाम माफ़ करना पड़ेगा। ये फ्री बहुत महंगा पड़ गया।’

मंजीत नाम के यूजर बोले- ‘और दो इनको वोट, 500 के टीके लगवाए जो कि बजट से लगा। उसके अलावा पेट्रोल पर 2 साल में टैक्स दे चुके हो तकरीबन 12000 रुपए से ज्यादा। इसके अलावा सिलेंडर पर टैक्स अलग।’ आशुतोष शर्मा ने कहा- ‘सच को स्वीकार कीजिए। झूठ और भ्रम तो मत फैलाइए कि समूचे देश को मुफ्त में वैक्सीन दी जा रही है।’ एक यूजर ने कहा- ‘ये फ्री बिजली और पानी जो केजरीवाल हर प्रदेश में जा कर ऐलान करते हैं उससे भी भयंकर है।’

वी सुधांधु नाम के यूजर ने कहा- ‘ग्राहक पूरा जागा हुआ है, कितना जगाओगे। सबको पता है पेट्रोल महंगा हो गया है। फिर भी तेल लेने की लाइन लगी है। कुछ चीज़ें लोगों को फ्री में चाहिए। अगर आपकी सरकार आ गई तो इस फ्री के चक्कर में न जाने लोगों का कितना पैसा बर्बाद होगा। अभी कम से कम पैसा बर्बाद तो नहीं हो रहा है।’ मृत्युंजय उपाध्याय ने कहा- ‘तब तो इन्हें वैक्सीन के पैसे लेने चाहिए जो भी सरकार वैक्सीन का दाम लगाए। ये पैट्रोल डीजल के दाम बढ़ा के महंगाई क्यों बढ़ा रहे हैं और बात करते है फ्री वैक्सीन की।’

बताते चलें कि असम में केंद्रीय राज्य मंत्री रामेश्वर तेली ने बीते 9 अक्टूबर को ये बयान दिया था। उन्होंने कहा था कि, “पेट्रोल और डीजल की कीमतें ज्यादा नहीं हैं, लेकिन इसमें टैक्स शामिल है। फ्री वैक्सीन तो आपने ली होगी, उसका पैसा कहां से आएगा? आपने उसका भुगतान नहीं किया है, ऐसे में इस तरह से ये वापस लिया जा रहा है।”

पढें मनोरंजन समाचार (Entertainment News). हिंदी समाचार (Hindi News) के लिए डाउनलोड करें Hindi News App. ताजा खबरों (Latest News) के लिए फेसबुक ट्विटर टेलीग्राम पर जुड़ें।

अपडेट