ताज़ा खबर
 

दिल्‍ली को मौत का कुुुुुआं बना दिया- अरविंंद केजरीवाल पर कुमार विश्‍वास ने साधा निशाना, समर्थकों ने भी निकाली भड़ास

मशहूर कवि कुमार विश्वास (Kumar Vishwas) ने ट्वीट कर दिल्ली सरकार पर निशाना साधा है। कुमार विश्वास ने ट्वीट कर लिखा...

कोरोना वायरस के रोजाना बढ़ते मामलों के बीच दिल्ली की सरकार के सामने अब अपने कर्मचारियों को वेतन देने का संकट उत्पन्न हो गया है। उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया (Manish Sisodia) ने जहां प्रेस कॉन्फ्रेंस कर इस बारे में जानकारी दी वहीं दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने ट्वीट कर केंद्र सरकार से निवेदन करते हुए कहा कि आपदा की इस घड़ी में आप दिल्ली के लोगों की मदद करें। दिल्ली सरकार के केन्द्र सरकार से पैसों को लेकर मदद मांगने पर ‘आम आदमी पार्टी’ के बगावती नेता और मशहूर कवि कुमार विश्वास (Kumar Vishwas) ने ट्वीट कर दिल्ली सरकार पर निशाना साधा है। वहीं कुमार विश्वास के समर्थक भी दिल्ली के मुख्यमंत्री पर अपनी भड़ास निकाल रहे हैं।

कुमार विश्वास ने ट्वीट कर कहा, ‘लाखों करोंड़ की चुनावी-रेवड़ियाँ, टैक्सपेयर्स के हज़ारों करोड़ अख़बारों में 4-4 पेज के विज्ञापन व चैनलों पर हर 10 मिनट में थोबड़ा दिखाने पर खर्च करके, पूरी दिल्ली को मौत का कुआँ बनाकर अब स्वराज-शिरोमणि कह रहे हैं कि कोरोना से लड रहे डॉक्टरों को सैलरी देने के लिए उनके पास पैसा नहीं हैं।’ कुमार विश्वास के इस ट्वीट पर यूजर्स जमकर रिएक्ट कर रहे हैं।

एक यूजर ने लिखा, और अभी तो देखते जाओ, केंद्र से पैसे मांगे हैं। अगर उतने पैसे नहीं मिलते हैं तो ये सारे आपिये मोदी जी को ज़िम्मेदार ठहरा देंगे। इन सबके लिए, जैसे मानो मोदी जी ने ही इनको करोड़ों के विज्ञानपन छपवाने को कहा हो। एक अन्य ने दिल्ली के सीएम पर भड़ास निकालते हुए लिखा, हर चैनल पर 15-15 मिनट के टीवी विज्ञापन के पैसे हैं? डॉक्टरों को देने को नहीं हैं? कोरोना तो सब जगह है, किस राज्य और उसके सीएम के कोरोना को लेकर इतने टीवी विज्ञापन आते हैं? करोड़ों रुपये के इनके विज्ञापन टीवी और न्यूज़ पेपर में रोज आते हैं। जंग में कत्ल सिपाही होंगे। सुर्खरू जिल्ले-इलाही होंगे।

बता दें कि दिल्ली के उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने पैसों की कमी के बारे में बोलते हुए कहा, ‘अपने कर्मचारियों को केवल वेतन देने और ऑफिस के खर्च वहन करने के लिए 3500 करोड़ रुपये हर महीने की जरूरत है। दिल्ली के रेवेन्यू पर काफी असर पड़ा है। पिछले दो महीने में 500-500 करोड़ रुपये जीएसटी से आए हैं। अन्य स्रोतों से हुई आमदनी को भी जोड़ दें, तो कुल 1735 करोड़ रुपये का राजस्व आया है।’

मनीष सिसोदिया ने आगे कहा, ‘ दिल्ली सरकार का टैक्स कलेक्शन करीब 85 फीसदी नीचे चल रहा है। हम अपने कर्मचारियों को वेतन कैसे दें इस बात को लेकर चिंताा है। हमें लगभग 5000 करोड़ रुपये की जरूरत है। वित्त मंत्री को पत्र लिखकर यह सहायता राशि तत्काल उपलब्ध कराने की मांग की है, जिससे दिल्ली सरकार अपने डॉक्टरों और अन्य कर्मचारियों को वेतन दे सके।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 भजन सम्राट अनूप जलोटा पर भी पड़ा लॉकडाउन का असर, बोले- ‘इनकम जीरो हो गई है, इसलिए हम…’
2 प्रवासी मजदूरों की मदद कर रहीं स्वरा भास्कर ट्रोल्स से हुईं परेशान, तो जीशान अय्यूब बोले- इन्हें इग्नोर करें, ऐसे लोग…
3 राहुल गांधी ने शेयर किया महिला के साथ हिंसा का वीडियो, फिल्ममेकर अशोक पंडित ने पूछा- क्या आपको यकीन है यह वीडियो भारत का है?
यह पढ़ा क्या?
X