scorecardresearch

कुमार विश्वास ने शेयर की केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान के साथ तस्वीर, लोग करने लगे ऐसे सवाल

कुमार विश्वास ने केरल के गवर्नर आरिफ मोहम्मद खान के साथ एक तस्वीर शेयर की है। इस पर लोग तमाम तरह के सवाल पूछ रहे हैं। 

Kumar Vishwas II Arif Mohmmad Khan II Kerala
केरल के राज्यपाल के साथ कुमार विश्वास (फोटो सोर्स- कुमार वोश्वस/ ट्विटर)

कवि कुमार विश्वास सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहते हैं।  अक्सर वह किसी विषय पर अपनी प्रतिक्रिया ट्विटर के जरिए लोगों के सामने रखते हैं। हाल ही कुमार विश्वास ने केरल के गवर्नर आरिफ मोहम्मद खान के साथ एक तस्वीर शेयर की है। इस पर लोग तमाम तरह के सवाल पूछ रहे हैं। 

केरल के राज्यपाल के साथ तस्वीर शेयर करते हुए कुमार विश्वास ने लिखा कि “भारतीय राजनीति में दुर्लभप्रायः वैदुष्ययुक्त शालीनता के प्रतीक, अध्ययनशील, जिज्ञासु, तत्वदर्शी मेधासम्पन्न अग्रज ईश्वरीय आभाप्रदेश केरल के राज्यपाल आरिफ मोहम्मद खान के साथ हवाई सत्संग में जमीनी चर्चा हुईं।आपके सौजन्य व आद्यशंकर की भूमि की ओर से आमंत्रण के प्रति सादर आभार!”

लोगों की प्रतिक्रियाएं: अरुण राजभर नाम के यूजर ने लिखा कि ‘आपने सारी संज्ञा दे दिया, बस उपराष्ट्रपति कहना बाकी रह गया।’ एक यूजर ने लिखा कि ‘हवा में भी अच्छा खाना कैसे मिलता है भाई? कौन सी फ्लाइट है?’ एनआर कदम ने लिखा कि ‘दोनों ही ज्ञान के भंडार हैं। यकीन मानिए, हवाई जहाज में हवाई नहीं धर्म, संस्कृति और ज्ञान की बातें हुई होंगीं।’

कमलेश्वर मिश्रा नाम के यूजर ने लिखा कि ‘इनको भी शुभकामनाएं दे दिए, क्या आप उपराष्ट्रपति बनने का..?’ एक यूजर ने लिखा कि ‘ऐसा क्या प्लानिंग करते हैं राजनेता कि सब बिजनेस क्लास में यात्रा करने लायक हो जाते हैं।’ सुमित सचदेवा ने लिखा कि ‘गुवाहाटी की तरफ जा रहे हैं क्या?’ 

राजेश गौर नाम के यूजर ने लिखा कि ‘कविवर इतनी उपाधियां तो मुझे नहीं लगता, अब तक आपने किसी को दी होंगी। सोहेल अख्तर ने लिखा कि ‘ऐसा लगता है जल्द आप बीजेपी ज्वाइन करने वाले हैं। शायद आपकी विचारधारा अलग है लेकिन समझौता नाम का एक शब्द भी होता है।’

बता दें कि कुमार विश्वास अक्सर देश हो रही राजनीतिक गतिविधि पर अक्सर अपनी प्रतिक्रिया देते हैं। महाराष्ट्र में जब सियासी संकट खड़ा हुआ तो उन्होंने बिना किसी का नाम लिए ट्वीट किया था कि सत्ता के अहंकार में चूर सभी हिरण्यकश्यपों और अपनी सात्विकता के सहारे उनसे जूझने का पराक्रम दिखा रहे अनेक प्रह्लादों की यह कहानी सबको याद रखनी चाहिए ताकि समय के शिलालेख पर हमारी पुण्य-साधनाएँ वरदान-रक्षित होलिका के रूप में अंकित होने से बच सकें।’ 

लोगों 

पढें मनोरंजन (Entertainment News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट

X