…और इस तरह दिलीप कुमार का ऑटोग्राफ लेने में अमिताभ बच्चन को लग गए 46 साल

अमिताभ बच्चन को आज कौन नहीं जानता, हर कोई उनकी एक झलक पाने को बेताब रहता है। लेकिन एक समय ऐसा भी था जब अमिताभ बच्चन किसी की झलक पाने के लिए बेचैन रहते थे। जी हां, बचपन से ही अमिताभ बच्चन दिलीप कुमार के बहुत बड़े प्रशंसक रहे हैं।

दिलीप कुमार के साथ अमिताभ ने ‘शक्ति’ फिल्म में काम किया है(फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

आजकल फैन स्टार के साथ सेल्फी लेकर अपनी तमन्ना पूरी करते हैं, लेकिन एक दौर वो भी था जब फेवरेट स्टार को देखते ही लोग उनके पीछे ऑटग्राफ लिए घंटों भागा करते थे। अभी लोग ऑटग्राफ लेते है पर इसका चलन अब पहले के मुकाबले काफी कम हो गया है। अब फैन जब तक स्टार के साथ सेल्फी ना खींचवा ले तब तक उसे शांति नहीं मिलती है। यहां हम बात कर रहे हैं बॉलीवुड के शहंशाह अमिताभ बच्चन की। अमिताभ बच्चन को आज कौन नहीं जानता, हर कोई उनकी एक झलक पाने को बेताब रहता है। लेकिन एक समय ऐसा भी था जब अमिताभ बच्चन किसी की झलक पाने के लिए बेचैन रहते थे। जी हां, बचपन से ही अमिताभ बच्चन दिलीप कुमार के बहुत बड़े प्रशंसक रहे हैं। 1960 में बिग बी ने पहली बार दिलीप कुमार को देखा था और उन्हें देखते ही वह स्टेशनरी की शॉप पर भाग गए थे। वहां से वह एक ऑटग्राफ बुक खरीद लाए, जिसके बाद वह दिलीप कुमार के पास ऑटोग्राफ लेने पहुंच गए। अमिताभ के दो बार कहने के बाद भी जब दिलीप कुमार की तरफ से कोई रिएक्शन नहीं आया तो वह निराश हो गए। लेकिन घरवालों के समझाने के बाद वह इस बात को जल्द ही भूल गए।

बिग बी ने अपने ब्लॉग में उस घटना का जिक्र करते हुए लिखा था कि दिलीप साहब ने न तो मुझे और न ही मेरी बुक की ओर देखा। कुछ ही देर में वह वहां से चले गए। निराश अमिताभ उनके पीछे-पीछे बढ़े, लेकिन कुछ कदम चलकर वापस अपनी सीट पर आकर बैठ गए। उस समय परिवार के लोगों ने उन्हें सांत्वना देते हुए कहा कि हो सकता है दिलीप साहब ने उन्हें नहीं देखा हो। यह दिलीप साहब के साथ उनकी पहली मुलाकात थी।

इसके बाद दिलीप कुमार के साथ अमिताभ ने ‘शक्ति’ फिल्म में काम किया, लेकिन किसी वजह से वह यहां भी दिलीप कुमार का ऑटोग्राफ लेने में कामयाब नहीं रहें। अमिताभ बच्चन के मुताबिक जब 2006 में वडाला के आईमैक्स में उनकी फिल्म ब्लैक का प्रीमियर था तो यहां दिलीप कुमार भी आए थे और फिल्म देखने के बाद उन्होंने अमिताभ को एक लेटर दिया जिसमें उनकी एक्टिंग की खूब तारीफ की गई थी और साथ ही लेटर के नीचे दिलीप कुमार के दस्तखत थे। इस तरह दिलीप साहब के ऑटग्राफ पाने के लिए बिगबी को 46 साल लंबा इंतजार करना पड़ा।

Next Stories
1 अक्सर-2 ट्रेलर रिलीजः फिर लौटी मोहब्बत और साजिशों की एक नई कहानी
2 अमिताभ बच्चन-रेखा के ‘लव सीन’ पर तब जया बच्चन की आंखों से छलक आए थे आंसू, घर से जाने की दे दी थी चेतावनी
3 किसी फिल्म की कहानी से कम नहीं है अनिल कपूर और सुनीता की लव स्टोरी
यह पढ़ा क्या?
X