ताज़ा खबर
 

सिर्फ खाने का ही नहीं बल्कि खिलाने का भी शौक था डॉ हाथी को, एक्टिंग के अलावा करते थे ये साइड बिज़नेस

'दरअसल अब लोग मुझे डॉ हाथी के नाम से ही जानते हैं, मेरे पर्सनल नाम के बारे में लोगों को कम ही जानकारी होती है लेकिन मुझे इससे कोई परेशानी नहीं है, मुझे लगता है कि लोग मेरे काम को इतना पसंद कर रहे हैं कि मैं अपने कैरेक्टर के रोल के नाम से ही लोगों के जहन में रहता हूं'।

कवि कुमार आज़ाद की मलाड और मीरा रोड में दुकान चलती है।

सीरियल तारक मेहता का उल्टा चश्मा में डॉ हंसराज हाथी के नाम से मशहूर कवि कुमार आज़ाद की कार्डियेक अरेस्ट के चलते मौत से टीवी इंडस्ट्री में शोक की लहर है। कवि कुमार आज़ाद मूलतः बिहार के रहने वाले हैं। मुंबई में छोटे मोटे रोल्स करने के बाद आखिरकार उन्हें  सब टीवी के शो ‘तारक मेहता का उल्टा चश्मा’ के सहारे एक बड़ा ब्रेक मिला था। डॉक्टर हाथी का वज़न काफी ज़्यादा था और उन्हें देखते ही इस रोल के लिए चुन लिया गया था। उनका वजन उस दौर में लगभग 215 किलो था और 2010 में एक सर्जरी से वे लगभग 80 किलो वज़न घटाने में कामयाब रहे थे।

उन्होंने अपने एक इंटरव्यू में कहा था – ‘दरअसल अब लोग मुझे डॉ हाथी के नाम से ही जानते हैं, मेरे पर्सनल नाम के बारे में लोगों को कम ही जानकारी होती है लेकिन मुझे इससे कोई परेशानी नहीं है, मुझे लगता है कि लोग मेरे काम को इतना पसंद कर रहे हैं कि मैं अपने कैरेक्टर के रोल के नाम से ही लोगों के जहन में रहता हूं। मैं इस शो में डॉक्टर हूं, खाता-पीता रहता हूं, इंजॉय करता रहता हूं और रियल लाइफ में भी ऐसा ही हूं। मुझे लिखने का भी शौक है और मेरा एक साइड बिजनेस भी है।

HOT DEALS
  • Lenovo K8 Plus 32 GB (Venom Black)
    ₹ 8199 MRP ₹ 11999 -32%
    ₹410 Cashback
  • Apple iPhone 7 32 GB Black
    ₹ 41990 MRP ₹ 50810 -17%
    ₹6000 Cashback

इस साइड बिजनेस के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा था – ‘मेरा बिजनेस भी खाने पीने का ही है। मुंबई में कुसुम रोल्स नाम से एक मेरी दुकान है। एक दुकान मीरा रोड में है और एक मलाड में है। भगवान की दुआ से सब कुछ बढ़िया चल रहा है।’  गौरतलब है कि कवि कुमार अगर किसी बीमारी से गुज़र रहे होते थे तो भी हमेशा कोशिश करते थे कि वे सेट पर शूट के लिए पहुंच जाए। वे बेहद कम छुट्टियां लेते थे और शो पर मौजूद लोगों के अनुसार, कवि कुमार एक पॉज़िटिव और ज़िंदादिल आदमी थे, जो  कई परेशानियों में भी  परेशान नहीं होते थे।

https://www.jansatta.com/entertainment/

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App