ताज़ा खबर
 

KBC के मंच पर अब तक ये ‘आम आदमी’ बन चुके हैं करोड़पति, जानिए हॉटसीट पर बैठ कर कौन हुआ कितना मालामाल!

KBC 12: बीतें सालों में देखें तो इस शो से कई आम लोग लखपति-करोड़पति विजेता बने। लेकिन कुछ लोग ऐसे रहे हैं जिन्होंने अब तक की सबसे अधिक इनाम राशि जीती है।

केबीसी के मंच पर अमिताभ बच्चन

अमिताभ बच्चन के गेम शो ‘कौन बनेगा करोड़पति‘ कब किसकी किस्मत बदल दे, कहा नहीं जा सकता। साल 2000 में शुरू हुए इस शो का 12वां सीजन कल यानी 28 सितंबर से शुरू हो चुका है। कोविड 19 सिचुएशन के बावजूद इसका रोमांच दर्शकों में कम नहीं हुआ है। बीतें सालों में देखें तो इस शो से कई आम लोग लखपति-करोड़पति विजेता बने। लेकिन कुछ लोग ऐसे रहे हैं जिन्होंने अब तक की सबसे अधिक इनाम राशि जीती है। आज हम आपको केबीसी के उन्हीं विजेताओं के बारे में बता रहे हैं।

सुशील कुमार – केबीसी के इतिहास में सबसे ज्यादा इनाम राशि जीतने का रिकॉर्ड सबसे पहले बिहार के मोतिहारी जिले के सुशील कुमार के नाम दर्ज़ हुआ था। सुशील उस वक़्त एक कंप्यूटर ऑपरेटर थे। साल 2011 में उन्होंने केबीसी के सीजन 5 में 5 करोड़ की धनराशि जीतकर इतिहास रच दिया था। थोड़े दिनों पहले सुशील ने एक फेसबुक पोस्ट लिखा था जिसमें उन्होंने बताया कि केबीसी जीतने के बाद उनकी ज़िंदगी में अच्छी चीजों के साथ कुछ बुरी बातें भी हुईं। उन्होंने बताया था कि वे नशे, ठगी आदि का शिकार हुए और उनकी पारिवारिक ज़िन्दगी भी खराब हो गई। फेसबुक पोस्ट में उन्होंने बताया कि 2017 में उन्होंने खुद को संभाला और एक सरकारी टीचर बन गए। सुशील अब जनसेवा का काम भी कर रहे हैं, उन्होंने महा दलित तबके के 100 बच्चों की शिक्षा का ज़िम्मा उठाया है।

सनमीत कौर – मूल रूप से पंजाब की रहने वालीं सनमीत ने केबीसी के सीजन 6 में 5 करोड़ की इनाम राशि जीती थी। वो शो में आने से पहले फ़ैशन डिजाइनिंग का कोर्स करना चाहती थीं, लेकिन पैसों की कमी के चलते नहीं कर पाईं। शो जीतने के बाद उन्होंने फ़ैशन डिजाइनिंग का कोर्स पूरा किया और अब वो अपने एक दोस्त के साथ एक फैशन हाउस चलाती हैं। वो अपने पति और दो बेटियों के साथ मुंबई में रहती हैं। उनके पति फिल्मों के छोटे रोल करते हैं।

अचिन और सार्थक नरूला – केबीसी में सीजन 9 में दिल्ली के दो भाइयों अचिन और सार्थक नरूला ने 7 करोड़ की इनाम राशि जीतकर सबकी चौंका दिया था। 2014 में प्रसारित इस शो में दोनों भाइयों ने बताया था कि इस जीत के पीछे उनके 10 सालों की कड़ी मेहनत है। इस 10 साल की लंबी यात्रा में दोनों को कई समस्याएं आईं, लेकिन उन्होंने कभी हार नहीं मानी। उन्होंने इनाम राशि से कैंसर से जूझ रही अपनी माता का इलाज करवाया और बाकी के पैसों से अपना खुद का बिज़नेस शुरू किया।

Next Stories
1 AIIMS की रिपोर्ट से खुलासाः सुशांत के विसरा में नहीं था पॉइजन, पोस्टमार्टम रिपोर्ट पर उठाए सवाल
2 Live डिबेट में बोले नासिर अब्दुल्ला-रानी पद्मावती तोते की कहानी; भड़के संबित पात्रा बोले- कान पकड़कर माफी मांगो
3 ‘आज भगत सिंह होते तो किसके सपोर्ट में होते?..’ जावेद अख्तर के ट्वीट पर कंगना रनौत ने पूछे सवाल, सोशल मीडिया पर छिड़ी बहस
ये पढ़ा क्या?
X