ताज़ा खबर
 

करणी सेना ने कहा- भंसाली अगर मुंबई में शूटिंग करते समय इतिहास के साथ छेड़छाड़ करेंगे तो हम कर देंगे सेट बर्बाद

कलयानवत ने कहा- राजस्थान पत्रिका में एक रिपोर्ट छपी थी कि फिल्म में एक सपने वाला सीन है। जिसमें दीपिका पादुकोण को रणवीर सिंह से मिलते हुए दिखाया गया है।
Author नई दिल्ली | February 1, 2017 11:09 am
फिल्म निर्देशक संजय लीला भंसाली। (Image Source: Indian Express)

ऐसा लगता नहीं है कि फिल्म निर्देशक संजय लीला भंसाली के इर्द-गिर्द मंडरा रहे काले बादल जल्दी छंटने वाले नहीं हैं। जयपुर में फिल्म पद्मावती की शूटिंग करने पहुंचे भंसाली को मारपीट का सामना करना पड़ा था। साथ ही उनके सेट को बर्बाद कर दिया गया था। वेब पोर्टल से बात करते हुए राजपूत ग्रुप के प्रवक्ता विजेंद्र सिंह कलयानवत ने इस बात की घोषणा की है अगर निर्देशक इतिहास के साथ छेड़छाड़ करते हैं और मुंबई में फिल्म की शूटिंग करते हैं तो हम वहां जाएंगे और उनके सेट को बर्बाद कर देंगे जैसा हमने जयपुर में किया था।

कलयानवत ने कहा- राजस्थान पत्रिका में एक रिपोर्ट छपी थी कि फिल्म में एक सपने वाला सीन है। जिसमें दीपिका पादुकोण को रणवीर सिंह से मिलते हुए दिखाया गया है। अब रानी पद्मिनी एक साधारण महिला नहीं हैं। वो राजस्थान की देवी हैं। और आप उस देवी को आतंकवादी अलाउद्दीन खिलजी से सपने में भी मिलते हुए नहीं दिखा सकते। अगर भंसाली ने इतिहास के साथ छेड़छाड़ की और मुंबई में इसकी शूटिंग की तो हम वहां जाएंगे और जयपुर की तरह वहां भी सेट बर्बाद कर देंगे।

विजेंद्र ने आगे बताया कि शुक्रवार को क्या हुआ था और कैसे परिस्थिति इतनी बदतर बन गई। उन्होंने याद करते हुए कहा- हमने भंसाली के ऑफिस को कई पत्र लिखे। जिसमें फिल्म को लेकर अपना नाराजगी दर्ज करवाई। हमने लिखा था कि इतिहास के साथ छेड़छाड़ नहीं की जानी चाहिए। हमने सूचना और प्रसारण मंत्रालय को भी पत्र लिखे। शुक्रवार को जब हम जयगढ़ के किले में भंसाली से मिलने पहुंचे उनके गार्ड्स ने हवाई फायरिंग की। फायरिंग के बाद वहां मारपीट हुई।

कलयानवत ने कहा- भंसाली के बॉडीगार्ड्स ने हवा में चार राउंड फायरिंग की जिसकी वजह से परिस्थिति हमारे हाथों से निकल गई। उन्होंने अपना कार्यकर्ता वाले स्टैंड को क्लीयर करते हुए कहा- मेरी जानकारी में पिछले 50 सालों में 340 फिल्मों की शूटिंग राजस्थान में हुई है। इसमें हॉलीवुड फिल्में भी शामिल हैं। राजपूत समुदाय ने कभी किसी फिल्म का विरोध नहीं किया। सिवाय दो फिल्मों- जोधा अकबर और पद्मावती के। राजस्थान को मेहमानों का स्वागत करने के लिए जाना जाता है लेकिन केवल ये दो फिल्मों ही मुश्किल में क्यों आईं? ये फिल्में मुश्किल में आई क्योंकि दोनों निर्माता एक कंट्रोवर्सी पैदा करना चाहते थे।

संजय लीला भंसाली की फिल्म ‘पद्मावती’ को लेकर विरोध प्रदर्शन जारी; फिल्म के नाम को बदलने की मांग

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App

  1. No Comments.