scorecardresearch

अपने घर पर बुलडोजर कब चलवाओगे?- बॉलीवुड एक्टर ने सीएम योगी पर दर्ज रहे केस का जिक्र कर पूछा सवाल तो मिले ऐसे जवाब

बॉलीवुड अभिनेता कमाल आर खान ने ट्विटर पर सवाल पूछा है कि सीएम योगी के घर बुलडोजर कब चलेगा?

Yogi Adityanath CM
यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ (सोर्स- @ANI)

उत्तर प्रदेश में योगी आदित्यनाथ की सरकार अपराधियों और आरोपियों के घर बुलडोजर चलाने को लेकर सुर्खियों में हैं। हाल ही प्रयागराज में हुई हिंसा के बाद प्रशासन का बुलडोजर जावेद पंप के घर पर चला था, जिसको लेकर अब विवाद खड़ा हो गया है कि बुलडोजर सिर्फ कुछ लोगों पर ही क्यों चलता है? क्या अब सरकार ही लोगों को सजा देने का काम करेगी? क्या अदालत, कोर्ट कचहरी का कोई काम नहीं रह गया? बॉलीवुड अभिनेता कमाल आर खान ने सीएम योगी पर तंज कसा है।

कमाल आर खान ने ट्विटर पर सीएम पर दर्ज रहे मुकदमों का एक फोटो शेयर किया है। जिसमें सीएम योगी पर दर्ज मुकदमों का जिक्र किया गया है। इसके साथ ही KRK ने लिखा कि “सीएम योगी जी, आप अपने ऊपर बुलडोजर कब चलवाएंगे?” इस पर लोग अपनी प्रतिक्रियाएं दे रहे हैं। दीपक नाम के यूजर ने लिखा कि ‘योगी जी को घर की आवश्यकता नहीं, वह सन्यासी हैं, कही भी रह सकते हैं, तुम अपनी सोचो, तुम्हारा घर गया तो कहां रहोगे?’

जुनेद खान नाम के यूजर ने लिखा कि ‘बुलडोजर कब चलेगा? अंध भक्त जवाब दो। मुसलमान का गुनाह कबूल भी नहीं हुआ तो उसकी सजा पूरे परिवार को दी गई बुलडोजर चला कर। योगी के घर बुलडोजर कब चलेगा?’ मोहसिन खान ने लिखा कि ‘इस ट्वीट में सीएम योगी को टैग क्यों नहीं किया?’ श्रीकांत नाम के यूजर ने लिखा कि ‘तुमको क्यों दिक्कत हो रही है बुलडोजर से, तुम्हारा भी अवैध निर्माण होगा तो उस पर भी बुलडोजर चलेगा।’

प्रथम नाम के यूजर ने लिखा कि ‘उससे पहले तुम्हारे घर चलेगा बुलडोजर।’ राज नाम के यूजर ने लिखा कि ‘वो योगी हैं, पत्थरबाज़ नहीं।’ वाहिद नाम के यूजर ने लिखा कि ‘विश्व के लोग तथाकथित सबसे बड़े लोकतंत्र भारत के नेताओं से मिलते हैं। जिस देश में ऐसे नेता हों वहां मुसलमान कभी भी समानता के साथ शांति से नहीं रह सकते।’ सात्विक नाम के यूजर ने लिखा कि ‘उपचुनाव और लोकसभा चुनाव में तुम्हारी सारी भविष्यवाणी गलत साबित हो चुकी हैं और अब अपनी बेइज्जती क्यों करवा रहे हो? तुमने कहा था ना कि अगर चुनाव की भविष्यवाणी गलत हुई तो राजनीति पर नहीं बोलूंगा तो क्यों बोल रहे हो?’

फैजल दरवेश नाम के यूजर ने लिखा कि ‘यदि विरोध करने वाले मुस्लिम घरों को अवैध रूप से बनाया गया था, तो क्या लद्दाख में चीनी पुल कानूनी रूप से बनाए गए हैं? भारत का हिंदू दक्षिणपंथी शासन वहां बुलडोजर क्यों नहीं भेजता?’ एक यूजर ने लिखा कि ‘कश्मीरी पंडित के लिए कुछ बोलने की हिम्मत नहीं है और चले आते हैं कुछ भी बोलने के लिए। जब पत्थर मारने के ख़िलाफ कुछ नहीं बोल सकते तो कार्रवाई के ख़िलाफ भी मुह बंद रखो।’

बता दें कि योगी सरकार पर विरोधी हमला बोल रहे हैं कि क्या अब बुलडोजर से ही सजा दी जाएगी? क्या कोर्ट, कचहरी बंद कर देनी चाहिए? गौरतलब है कि योगी सरकार अपराधियों की पहचान होते ही, घर अवैध पाए जाने पर बुलडोजर से घर गिराने का फरमान जारी कर देती है। लोगों का कहना है कि घर के एक सदस्य के गुनाह की सजा पूरे परिवार को क्यों दी जाती है? वो भी तब जबकि कोर्ट में आरोपी पर गुनाह साबित ना हुआ हो।

पढें मनोरंजन (Entertainment News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

X