ताज़ा खबर
 
title-bar

कमल हासन बोले- जो विधायक काम नहीं करते उन्हें नहीं मिलनी चाहिए सैलरी

कमल ने सवाल किया कि नेताओं पर काम नहीं तो वेतन नहीं की नीति लागू क्यों नहीं होना चाहिए।

Author नई दिल्ली | September 16, 2017 3:13 PM
अभिनेता कमल हासन तीन राष्ट्रीय पुरस्कार जीत चुके हैं। (फाइल फोटो)

बॉलीवुड एक्टर-डायरेक्टर कमल हासन ने रिसॉर्ट में बैठ कर जनता के पैसे पर ऐश करने वाले नेताओं पर हमला बोला है। कमल ने सवाल किया कि नेताओं पर काम नहीं तो वेतन नहीं की नीति लागू क्यों नहीं होना चाहिए। उन्होंने कहा कि तमिलनाडु सरकार ने कहा है कि हड़ताली शिक्षकों और अन्य कर्मचारियों का उन दिनों का वेतन काटा जाएगा। जब उन्होंने काम नहीं किया। उन्होंने कहा कि माननीय न्यायालय ने हड़ताल कर रहे टीचर्स को चेतावनी दी है। जानकारी के मुताबिक कमल हासन ने कहा है कि वह अपनी खुद की राजनीतिक पार्टी बनाने पर विचार कर रहे हैं। कहा जा रहा है कि कमल तमिलनाडु में स्थानीय निकाय चुनाव लड़ने का मन बना रहे हैं।

द क्विंट को दिए इंटरव्यू में कमल हासन ने कहा कि वह राजनीतिक पार्टी बनाने के बारे में सोच रहे हैं। हासन ने कहा कि कोई भी मौजूदा पार्टी उनके विचारों से मेल नहीं खाती थी। कमल हासन से अक्सर अलग-अलग पार्टियों के नेता मिलने पहुंचते रहते थे। ऐसे में मीडिया कयास लगाता रहता था कि वह कि पार्टी में जाएंगे। इसपर बात करते हुए हासन ने कहा कि राजनीतिक पार्टी में विचारधारा प्रमुख होती है और मुझे नहीं लगता कि किसी भी राजनीतिक पार्टी से मेरी विचारधारा मेल खाती है।

हासन ने तमिलनाडु के मौजूदा राजनीतिक हालात पर भी बात की। उन्होंने कहा कि AIADMK से शशिकला को निकाला जाना एक अच्छा कदम रहा। हासन ने कहा कि वह काफी दिनों से उनको निकालने की वकालत कर रहे थे। हासन ने कहा कि उनको लगता है कि अब तमिलनाडु की राजनीति में बदलाव लाया जा सकता है। हासन इस वक्त तमिल बिग बॉस को होस्ट कर रहे हैं। उनका संघ और भाजपा पर दिया गया बयान काफी चर्चा में रहा था। हासन ने कहा था कि उनके कई रंग हो सकते हैं लेकिन भगवा नहीं होगा।

https://www.jansatta.com/entertainment/

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ लिंक्डइन पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App