ताज़ा खबर
 

5-G नेटवर्क के खिलाफ़ दिल्ली हाई कोर्ट पहुंचीं जूही चावला, जानें क्या है पूरा मामला

जूही चावला ने 5-जी टेक्नोलॉजी के खिलाफ दिल्ली हाई कोर्ट में याचिका दायर की है जिस पर आज सुनवाई हुई। उनका कहना है कि जनहित और पर्यावरण के हितों की रक्षा के लिए उन्होंने 5-जी के खिलाफ याचिका दायर की है।

जूही चावला एक सजग पर्यावरण कार्यकर्ता रहीं हैं (Photo-Juhi Chawla/Instagram)

बॉलीवुड अभिनेत्री और पर्यावरण मुद्दों पर प्रखर जूही चावला ने भारत में 5-G नेटवर्क को लागू करने के खिलाफ अदालत का रुख किया है। उन्होंने 5जी टेक्नोलॉजी के खिलाफ दिल्ली हाई कोर्ट में याचिका दायर की जिस पर आज सुनवाई हुई है। जस्टिस सी हरी शंकर ने मामले की सुनवाई करते हुए इस मामले को एक दूसरे बेंच को ट्रांसफर कर दिया है जिसकी सुनवाई अब 2 जून को होगी।

पिछले कई सालों से 5जी के खिलाफ जूही चावला बोलती आई हैं। उनका कहना है कि जनहित और पर्यावरण के हितों की रक्षा के लिए उन्होंने 5जी के खिलाफ याचिका दायर की है। एक बयान में जूही चावला के प्रवक्ता ने कहा, ‘देश में 5-G तकनीक को लागू किए जाने से पहले RF रेडिएशन से मानव जाति, महिला, पुरुष, बच्चों, जानवरों, जीव जंतुओं, वनस्पतियों और पर्यावरण पर पड़ने वाले प्रभावों को लेकर बारीकी से ध्यान दिया जाए। यह स्पष्ट किया जाए कि 5जी टेक्नॉलजी भारत की मौजूदा और आनेवाली पीढ़ी के लिए सुरक्षित है या नहीं?’

वहीं जूही चावला का कहना है कि वो तकनीक के खिलाफ नहीं हैं। उन्होंने कहा, हम तकनीकी एडवांसमेंट को लागू किए जाने के खिलाफ नहीं हैं बल्कि इसके उलट हम तो टेक्नोलॉजी की दुनिया के लेटेस्ट प्रोडक्ट्स यूज करते हैं।’

 

जूही ने आगे कहा, ‘लेकिन इन प्रोडक्टस का इस्तेमाल करते समय हम हमेशा असमंजस में रहते हैं क्योंकि वायरलेस गैजेट्स और मोबाइल टावरों से निकलने वाले RF रेडिएशन के बारे में रिसर्च और स्टडी करने के बाद अब हमारे पास पर्याप्त कारण है जिससे हम यह विश्वास कर पाएं कि रेडिएशन स्वास्थ्य और लोगों की सुरक्षा के लिए बहुत ही खतरनाक है।’

 

आपको बता दें कि मोबाइल ब्रॉडबैंड के क्षेत्र में 5जी लेटेस्ट अपग्रेड है। भारत ने साल 2018 में यह निर्णय लिया था कि देश में जल्द से जल्द 5जी सर्विस को शुरू किया जाएगा। उसी साल जूही चावला ने महाराष्ट्र के तत्कालीन मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस की चिट्ठी लिखकर मोबाइल रेडिएशन के प्रति आगाह किया था। उन्होंने कहा था कि सरकार डिजिटल इंडिया का लक्ष्य प्राप्त करने के लिए आंख मूंदकर 5-जी टेक्नोलॉजी लागू कर रही है।

Next Stories
1 ‘उनका नामोनिशान मिटा देना चाहते हैं लोग!’ अपने बंगले को नहीं बेचना चाहते थे राजेश खन्ना, ये थी काका की आखिरी ख्वाहिश
2 वाह! क्या स्ट्राइक रेट है- पेट्रोल की बढ़ती कीमतों पर उर्मिला मातोंडकर ने कसा तंज़, यूजर्स दे रहे ऐसा रिएक्शन
3 जब कपिल ने बाबा रामदेव से पूछ लिया था उम्र को लेकर सवाल, योगगुरु ने दिया था धांसू जवाब..देखें वीडियो
ये पढ़ा क्या?
X