ताज़ा खबर
 

जिया खान मर्डर मामले में ब्यॉयफ्रेंड सूरज पंचोली के खिलाफ केस स्थगित

मुंबई हाई कोर्ट ने अभिनेत्री जिया खान को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोपी अभिनेता सूरज पंचोली के खिलाफ मुकदमे को आज स्थगित कर दिया और दिवंगत अदाकारा की मां राबिया द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई के लिए सात जून की तारीख निर्धारित कर दी।

Author मुंबई | May 23, 2016 17:32 pm
मुंबई हाई कोर्ट ने अभिनेत्री जिया खान को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोपी अभिनेता सूरज पंचोली के खिलाफ मुकदमे को सोमबार को स्थगित कर दिया।

मुंबई हाई कोर्ट ने अभिनेत्री जिया खान को आत्महत्या के लिए उकसाने के आरोपी अभिनेता सूरज पंचोली के खिलाफ मुकदमे को सोमबार को स्थगित कर दिया और दिवंगत अदाकारा की मां राबिया द्वारा दायर याचिका पर सुनवाई के लिए सात जून की तारीख निर्धारित कर दी।

राबिया अपनी बेटी की मौत की जांच विशेष जांच दल (एसआईटी) से कराए जाने का आग्रह कर रही हैं। जज बीआर गवई और जज शालिनी फंसालकर जोशी की अवकाशकालीन पीठ ने विशेष महिला अदालत के समक्ष चल रहे मुकदमे को स्थगित करते हुए राबिया की याचिका पर सुनवाई के लिए सात जून की तारीख निर्धारित कर दी।

Also Read: Cannes 2016: रेड कार्पेट पर Sexy रेड गाउन ने दिया इस मॉडल को धोखा, सबके सामने हुईं शर्मिंदा 

विशेष अदालत ने राबिया के हाई कोर्ट जाने की इजाजत मांगने पर 20 मई को मुकदमा 10 जून के लिए स्थगित कर दिया था। हाई कोर्ट में दायर याचिका में राबिया ने एसआईटी जांच की मांग की थी। उन्होंने आरोप लगाया कि वर्तमान में मामले की जांच कर रही सीबीआई मुंबई पुलिस के इस निष्कर्ष से सहमत थी कि यह आत्महत्या का मामला है, न कि हत्या का।

Also Read: किम कारदाशियां ने खोला राज, किसने दी उन्हें न्यूड Photoshoot कराने की सलाह 

राबिया के वकील सुभाष झा ने कहा, ‘‘हाई कोर्ट ने आज मेरी दलीलों को स्वीकार किया कि पूर्व में भी हाई कोर्ट की नियमित पीठ ने मामले में स्थगन दिया था, लेकिन बाद में स्थगन बढ़ाने से इनकार कर दिया। इसके बाद राबिया ने सुप्रीम कोर्ट से संपर्क किया जिसने 17 मई को याचिका पुन: हाई कोर्ट में दायर करने को कहा और हाई कोर्ट से कहा कि वह मामले में तेजी से फैसला करे।

उनकी याचिका में कहा गया, ‘‘निचली अदालत में मुकदमा सही ढंग से आगे नहीं बढ़ रहा है और मामले में आरोपी (सूरज) के बरी हो जाने की संभावना है। ’’ राबिया का कहना है कि सीबीआई ‘‘खुद को अच्छी तरह से ज्ञात कारणों की वजह से’’ मामले में महाराष्ट्र सरकार द्वारा विशेष लोक अभियोजक की नियुक्ति का पुरजोर विरोध कर रही है। झा ने कहा कि जांच एसआईटी को दी जानी चाहिए क्योंकि सीबीआई ने अपने आरोपत्र में भी कहा है कि मौत हत्या नहीं थी, जबकि फॉरेंसिक साक्ष्य इसके उलट इशारा कर रहे हैं।

Also Read: Instagram पर बिना हिजाब वाली फोटो के मामले को लेकर ईरानी मॉडल ने ब्यॉयफ्रेंड संग छोड़ा देश

राबिया ने तीन जून 2013 को हुई जिया की मौत को आत्महत्या की श्रेणी में रखे जाने पर सीबीआई के खिलाफ हाई कोर्ट में याचिका दायर की थी। राबिया ने हाई कोर्ट से मामले की नए सिरे से जांच करने के लिए एसआईटी गठित करने का आग्रह किया।

जिया के दोस्त-अभिनेता सूरज को आत्महत्या के लिए उकसाने के मामले में 10 जून 2013 को गिरफ्तार किया गया था, लेकिन हाई कोर्ट द्वारा जमानत दिए जाने पर उसे दो जुलाई 2013 को रिहा कर दिया गया।

तीन जून 2013 को 25 साल की जिया ने अपने घर में फांसी लगाकर जान दे दी थी। आरोपपत्र के अनुसार जिया उस सुबह सूरज के मकान से लौटी थी जहां वह दो दिन रही थी।

Hindi News से जुड़े अपडेट और व्‍यूज लगातार हासिल करने के लिए हमारे साथ फेसबुक पेज और ट्विटर हैंडल के साथ गूगल प्लस पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News App