scorecardresearch

ट्रैफिक हवलदार कब बन गए? जावेद अख्तर ने सुभाष चंद्र बोस के स्टैच्यू पर की टिप्पणी तो लोग करने लगे ऐसे कमेंट्स

जावेद अख्तर अपने एक ट्वीट को लेकर लोगों के निशाने पर आ गए हैं। इस ट्वीट में उन्होंने नेताजी सुभाष चंद्र बोस की प्रतिमा पर ट्वीट किया था।

javed akhtar, taliban,
गीतकार जावेद अख्तर (फोटो सोर्स- इंडियन एक्सप्रेस)

दिल्ली में बीते रविवार को प्रधानमंत्री मोदी ने इंडिया गेट पर नेताजी सुभाष चंद्र बोस के हेलोग्राम स्टैच्यू का अनावरण किया था। वहां पर नेताजी की ग्रेनाइट की प्रतिमा रखी जाएगी। इस मौके पर प्रधानमंत्री ने लोगों को संबोधिथ करते हुए कहा कि हमारे उन नायकों की भूमिका, जिनकी यादें आजादी के बाद मिटाई जा रही थीं, अब पुनर्जीवित हो रही हैं। उन्होंने कहा था, “नेता जी की प्रतिमा एक कृतज्ञ राष्ट्र के महान स्वतंत्रता सेनानी को श्रद्धांजलि है।” इंडिया गेट पर लगने वाली इस प्रतिमा को लेकर अब मशहूर गीतकार और लेखक जावेद अख्तर ने ट्वीट किया है।

जावेद अख्तर ने प्रधानमंत्री मोदी द्वारा इंडिया गेट पर नेताजी की प्रतिमा लगाए जाने के प्रस्ताव पर प्रतिक्रिया देते हुए लिखा, “नेताजी की मूर्ति लगाने का सुझाव अच्छा है, लेकिन प्रतिमा का चुनाव करना सही नहीं है। हर वक्त प्रतिमा के चारों और ट्राफिक ही रहेगा और वह प्रतिमा सलामी की मुद्रा में खड़ी रहेगी। यह उसकी मर्यादा के नीचे है।”

जावेद अख्तर ने अपने ट्वीट में आगे लिखा, “या तो प्रतिमा बैठी हुई मुद्रा में होनी चाहिए या फिर अपनी मुट्ठी उठाते हुए ऐसी मुद्रा में हो, जैसे कोई नारा लगा रही हो।” नेताजी सुभाषचंद्र बोस की प्रतिमा को लेकर किया गया जावेद अख्तर का यह ट्वीट सोशल मीडिया पर जमकर वायरल हो रहा है। लेकिन इस ट्वीट के कारण मशहूर गीतकार कुछ लोगों के निशाने पर भी आ गए।

आनंद गुप्ता नाम के यूजर ने जावेद अख्तर पर तंज कसते हुए लिखा, “ये ट्राफिक हवलदार कब बन गए।” वहीं एक यूजर ने जावेद अख्तर से सवाल करते हुए लिखा, “आप कभी इंडिया गेट गए भी हैं?” दूसरे यूजर ने जावेद अख्तर पर ट्वीट को लेकर निशाना साधते हुए लिखा, “कुछ न कुछ नकारात्मक कहना ही है। बिना नकारात्मकता फैलाए नहीं रह सकते, भले ही विचार और तथ्य सामान्य ज्ञान से रहित हों।”

एक यूजर ने जावेद अख्तर के ट्वीट पर चुटकी लेते हुए लिखा, “इंडिया गेट के पास ट्राफिक? आर्थो ऑयल दिमाग में असर नहीं करता क्या?” सुप्रीम कोर्ट के वकील शशांक शेखर झा ने जावेद अख्तर पर निशाना साधने के साथ-साथ कांग्रेस को भी आड़े हाथों लिया और लिखा, “ट्राफिक? वहां पर सार्वजनिक यातायात को मंजूरी नहीं दी गई है। कांग्रेस नेता जी से इतना नफरत करती क्यों है?”

मोहित नाम के यूजर ने जावेद अख्तर पर तंज कसते हुए लिखा, “मैं आपकी बात से सहमत हूं। कायदे से नेताजी की प्रतिमा कुर्सी पर बैठे हुए, हाथ में फोन लिये, आपके इन विचारों पर हंसते हुई मुद्रा में होना चाहिए था, जिसकी कोई परवाह नहीं करता।”

पढें मनोरंजन (Entertainment News) खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News)के लिए डाउनलोड करें Hindi News App.

अपडेट