ताज़ा खबर
 

सुब्रमण्यम स्वामी ने पूछा- क्या कोई मस्जिद गुरुद्वारे पर हमले को गैर इस्लामिक कहेगी? जावेद अख्तर बोले- जो धर्म को बदनाम कर रहे…

सुब्रमण्यम स्वामी और जावेद अख्तर अक्सर सोशल मीडिया पर एक-दूसरे के खिलाफ मोर्चा खोले नजर आते थे। पिछले दिनों जब, स्वामी ने ऑस्ट्रिया में कुछ मस्जिदों को बंद करने और उसके इमाम को हटाने का जिक्र किया था और इससे जुड़ी खबर ट्वीट की थी, तब भी जावेद अख्तर ने उन पर तंज कसा था और कहा था कि उन्हें (स्वामी को) भी हार्वर्ड से भगाया गया था।

सुब्रमण्यम स्वामी और जावेद अख्तर अक्सर सोशल मीडिया पर एक-दूसरे के खिलाफ मोर्चा खोले नजर आते थे।

बीजेपी नेता सुब्रमण्यम स्वामी (Subramanian Swamy) और गीतकार जावेद अख्तर (Javed Akhtar) अक्सर एक-दूसरे के खिलाफ सोशल मीडिया पर मोर्चा खोले नजर आते हैं, लेकिन इस बार जावेद अख्तर, स्वामी की बातों से सहमति जताते नजर आए। दरअसल, सुब्रमण्यम स्वामी ने अफगानिस्तान के गुरुद्वारे में हुए आतंकी हमले का जिक्र करते हुए लिखा था कि क्या भारत की किसी मस्जिद में इसके खिलाफ प्रस्ताव पारित किया जाएगा और इस कृत्य की निंदा की जाएगी? इस ट्वीट का जवाब देते हुए जावेद अख्तर ने लिखा कि मैं उन जानवरों की पुरजोर निंदा करता हूं, जिन्होंने काबुल के गुरुद्वारे में हमला कर निर्दोष लोगों की जान ली।

सुब्रमण्यम स्वामी (Subramanian Swamy) ने ट्वीट किया, ‘एक तरफ जब दुनिया कोरोना वायरस से जूझ रही है, तब ISIS के आतंकियों ने काबुल के गुरुद्वारे में घुसकर 25 सिखों की हत्या कर दी…यह दिल दहला देने वाला है। लेकिन क्या भारत की कोई मस्जिद इस कृत्य को गैर इस्लामिक करार देगी या प्रस्ताव पास कर इसकी निंदा करेगी? क्या कांग्रेसी या लुटियंस दिल्ली के लोग इसके खिलाफ बोलेंगे?’ जावेद अख्तर ने स्वामी के इस ट्वीट का जवाब दिया।

जावेद अख्तर ने ट्वीट किया, ‘मैं ISIS के उन जानवरों की पुरजोर निंदा करता हूं, जिन्होंने काबुल के गुरुद्वारे में घुसकर 25 निर्दोष लोगों की जान ले ली। क्या यह उन देशों का नैतिक कर्तव्य नहीं है कि आईएसआईएस, अल शबाब और बोको हराम जैसे खून के प्यासे गैंग्स को खत्म करने के लिए कदम उठाएं, जो खुद को इस्लामिक कहते हैं। क्या ये (आतंकी) आपके धर्म को बदनाम नहीं कर रहे हैं? आपको बता दें कि पिछले हफ्ते काबुल के एक गुरुद्वारे में ISIS के आतंकी घुस गए थे और उन्होंने अंधाधुंध फायरिंग की थी, जिसमें तमाम निर्दोष लोगों की जान चली गई थी।

आपको बता दें कि सुब्रमण्यम स्वामी और जावेद अख्तर अक्सर सोशल मीडिया पर एक-दूसरे के खिलाफ मोर्चा खोले नजर आते थे। पिछले दिनों जब, स्वामी ने ऑस्ट्रिया में कुछ मस्जिदों को बंद करने और उसके इमाम को हटाने का जिक्र किया था और इससे जुड़ी खबर ट्वीट की थी, तब भी जावेद अख्तर ने उन पर तंज कसा था और कहा था कि उन्हें (स्वामी को) भी हार्वर्ड से भगाया गया था। इस पर पलटवार करते हुए सुब्रमण्यम स्वामी ने जावेद अख्तर का नाम ‘डी कंपनी’ से जोड़ दिया था। नोंकझोंक का सिलसिला इतना बढ़ गया था कि जावेद अख्तर ने स्वामी को कोर्ट में देखने की बात कही थी।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘देश मुश्किल में, लेकिन आप करोड़ों रुपये विज्ञापन पर फूंक रहे’, फिल्म डायरेक्टर ने अरविंद केजरीवाल को घेरा
2 सोनम कपूर ने पूछा- आपको क्या लगता है ट्रोल्स की फंडिंग कौन करता है?, देखिये- लोग क्या-क्या कमेंट करने लगे
3 ‘जानवरों से भी बुरा बर्ताव हो रहा गरीबों पर, छिड़काव तो विदेश से आ रहे…’ बरेली में मजदूरों पर ‘केमिलकल’ छिड़काव पर भड़के डायरेक्टर