ताज़ा खबर
 

मुंबई में मरीजों के साथ मुर्दों को रखा तो वीडियो शेयर कर बोले अशोक पंडित- जावेद अख़्तर इसका खंडन जरूर करेंगे

Javed Akhtar: वीडियो में दिखाई दे रहा है कि कोरोना वायरस के मरीजों को इस अस्पताल में भर्ती किया गया है लेकिन इस अस्पताल के बेडों पर मरीजों के अलावा शव भी पड़े दिख रहे हैं। इन शवों के बीच COVID-19 मरीजों का इलाज किया जा रहा है।

Javed Akhtar, Lyricist Javed Akhtar, Ashok Pandit, Film Director Ashok Pandit, FimMaker Ashok Pandit Asked Javed Akhtar, Corona Patient Staying With Dead bodies, Corona Virus Maharashtra, entertainment news, bollywood news, television newsबॉलीवुड गीतकार जावेद अख्तर, फिल्म डायरेक्टर अशोक पंडित

Javed Akhtar, Coronavirus: मुंबई स्थित सायन अस्पताल में लापरवाही का एक बड़ा मामला सामने आया, जिसका वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। वीडियो में दिखाई दे रहा है कि कोरोना वायरस के मरीजों को इस अस्पताल में भर्ती किया गया है लेकिन इस अस्पताल के बेडों पर मरीजों के अलावा शव भी पड़े दिख रहे हैं। इन शवों के बीच COVID-19 मरीजों का इलाज भी किया जा रहा है।

ये वीडियो ट्विटर फेसबुक और इंस्टा पर वायरल हो रहा है। ऐसे में फिल्ममेकर अशोक पंडित ने इस वीडियो को देख कर अपना रोष प्रकट किया। अशोक ने इस वीडियो को शेयर कर एक ट्वीट भी किया जिसमें उन्होंने जावेद अख्तर को भी टैग कर तंज भरे अंदाज में इस घटना के बारे में रिएक्ट करने को कहा। डायरेक्टर अशोक पंडित ने  लिखा- ‘आदरणीय जावेद साहब मुझे आशा है कि आपने यह Sion Hospital का वीडियो ज़रूर देखा होगा। जिसमें मुर्दों को ज़िंदा पेशंट्स के बीच में रखा गया है! इससे बड़ी त्रासदी एक ज़िंदा इंसान के लिए नहीं हो सकती! मुझे आशा है कि आप इस ट्रैजेडी का खंडन ज़रूर करेंगे!’

अशोक पंडित के इस ट्वीट के बात लोगों ने इस वीडियो को देख रिएक्ट करना शुरू कर दिया। साथ ही लोग तरह-तरह के कमेंट्स करने लगे। एक यूजर ने लिखा- ‘जावेद साहब बहुत बिजी हैं अभी। उनको अपने फेवरेट टॉपिक का इंतज़ार है….फिर बोलेंगे- देखिये हिन्दू मुस्लिम हो रहा।’ तो कोई बोला- ‘ जावेद नहीं करेगें, शर्त लगा लो!! इनको जिंदा मजदूर दिख रहे है, लेकिन मुर्दा लाशे इसके प्रोपेगंडा से बाहर है!!’

एक ने कहा कि ‘साहब गांधारी की तरह आंखों में पट्टी बांधे हुए हैं।’ तो कोई बोला- ‘अशोकजी, आप इन मूर्खों पर ध्यान मत दीजियेगा। उनका एजेंडा तो आपको पता ही है।’ तो किसी ने कहा- ‘फिलहाल उम्मीद कम है, हां अगर सरकार भाजपा की होती तो जावेद साहब का बड़ा-बड़ा लेख पढ़ने को मिल सकता था।’ इधर बीएमसी ने इस मामले में सफाई देते हुई कहा है कि परिवार के लोग शव नहीं ले जा रहे हैं, इसलिए शव अस्पताल में ही रखे हैं।

Hindi News के लिए हमारे साथ फेसबुक, ट्विटर, लिंक्डइन, टेलीग्राम पर जुड़ें और डाउनलोड करें Hindi News AppOnline game में रुचि है तो यहां क्‍लिक कर सकते हैं।

Next Stories
1 ‘राज मिस्त्री ने बताया कि उस गांव में एक खूबसूरत…’, पूरी फिल्मी है एक्टर पंकज त्रिपाठी की लव स्टोरी, जानिये पूरा किस्सा
2 ‘कुछ भी हो जाए ‘मैं कुर्ता नहीं उतारूंगा…’, हॉलीवुड में इंटीमेट सीन के लिए इरफान खान से हुई थी कपड़े उतारने की डिमांड, एक्टर का ऐसा था जवाब
3 ‘मुझे तो मार-मार कर…’ एक्ट्रेस नहीं बनना चाहती थीं रेखा, 13 साल की उम्र में आना पड़ा था मुंबई
ये पढ़ा क्या?
X