ताज़ा खबर
 

कोरोना, रमजान और आइपीएल के त्रिकोण में फंसा बॉलीवुड

बड़े निर्माताओं को अपनी फिल्म के प्रदर्शन के लिए एक साल से भी ज्यादा इंतजार करना पड़ा है, बावजूद इसके अभी भी फिल्मों के प्रदर्शन के लिए हालात अनुकूल नहीं है। महाराष्ट्र में 30 अप्रैल तक सिनेमाघर बंद करने की घोषणा हो चुकी है। रमजान और आइपीएल भी शुरू होने जा रहे हैं, जिनके कारण धंधा वैसे भी मंदा रहना है इसलिए लगभग दो महीने तक सिनेमाघर फिर से सूने नजर आएंगे और उनमें चहलपहल ईद के बाद ही दिखाई देगी।

Bollywoodकोरोना के कारण सिनेमा हॉल फिर खाली पड़े।

कोरोना के कारण बंद और प्रतिबंध के रास्तों से गुजरते हुए भारतीय सिनेमा को एक साल हो गया है। इस एक साल में इस फलते-फूलते कारोबार की दशा और दिशा दोनों बिगड़ गई हैं ंजबकि प्रतिबंध और बंद जस के तस हैं। 22 मार्च, 2020 को जनता कर्फ्यू की घोषणा के बाद से बंद सिनेमाघर अक्तूबर 2020 में आधी और फरवरी 2021 में पूरी क्षमता के साथ खुले थे। टिकट खिड़की पर इसका असर भी पड़ा।

एक अनुमान के मुताबिक 2019 में 4,891 करोड़ का धंधा करने वाले बॉलीवुड ने 2020 में मात्र 870 करोड़ रुपए ही कमाए। साल भर पहले 1,460 करोड़ का धंधा करने वाली तमिल फिल्मों ने टिकट खिड़की पर सिर्फ 320 करोड़ ही जुटाए। 1,404 करोड़ की कमाई करने वाली तेलुगू फिल्मों का कारोबार 525 करोड़ पर आ गया। 520 करोड़ रुपए से कन्नड़ फिल्मों का कारोबार सिमट कर मात्र 45 करोड़ रह गया।

2019 में 604 करोड़ रुपए का राजस्व जुटाने वाली मलयालम फिल्में 2020 में सिर्फ 150 करोड़ रुपए ही निकाल पार्इं। हॉलीवुड की भारत में रिलीज होने वाली फिल्मों के तो मानो भारत से पांव ही उखड़ गए थे। बीते साल उनका बॉक्स आॅफिस एकत्रण 2019 के डेढ़ हजार करोड़ रुपए के मुकाबले 70 करोड़ पर आ गया। ये आंकड़े बीते साल के झंझावात से हुई तबाही का बयान कर रहे हैं कि कोरोना ने फिल्म कारोबार को कितनी बुरी तरह से प्रभावित किया है।

इस एक साल में कई मौके आए जब फिल्म निर्माताओं को घोषणा के बाद भी अपनी फिल्मों का प्रदर्शन टालना पड़ा। ऐसी ही एक फिल्म रही है ‘सूर्यवंशी’, जो बीते साल ईद पर रिलीज होने वाली थी मगर अभी तक इसकी रिलीज की तारीख तय नहीं हो पाई है। इस बीच ‘सूर्यवंशी’ के रिलीज की कई बार घोषणाएं हुई। पिछली घोषणा के मुताबिक इसकी प्रदर्शन तारीख 30 अप्रैल है।

मगर महाराष्ट्र सरकार द्वारा 30 अप्रैल तक सिनेमाघरों को बंद रखने की घोषणा के कारण निर्माता ने ‘सूर्यवंशी’ का प्रदर्शन फिर स्थगित कर दिया है। अमिताभ बच्चन की ‘चेहरे’ और रानी मुखर्जी की ‘बंटी और बबली’ का प्रदर्शन पहले ही स्थगित हो चुका है। कुल मिलाकर हालात ऐसे नहीं है जिनमें फिल्में प्रदर्शित की जा सकें।

30 अप्रैल तक महाराष्ट्र के सिनेमाघर बंद हैं। अगर कोई निर्माता अपनी फिल्म का प्रदर्शन करता है तो उसे महाराष्ट्र का धंधा खोना पड़ेगा, जो कुल एकत्रण का लगभग एक तिहाई होता है। फिर नौ अप्रैल से आइपीएल क्रिकेट प्रतियोगिता शुरू होने जा रही है जो 30 मई तक चलेगी। भारत में क्रिकेट को लेकर जुनून होता है। निर्माता क्रिकेट के सीजन में फिल्में रिलीज करने से बचते हैं।

दूसरी ओर 12 अप्रैल से रमजान का महीना शुरू हो रहा है, जो 13 मई की ईद पर खत्म होगा। इस महीने में मुसलिम समुदाय सिनेमाघरों से दूर रहता है। इसलिए परंपरागत फिल्म निर्माता रमजान के खत्म होने के बाद अपनी फिल्में रिलीज करना पसंद करते हैं। मगर सलमान ‘राधे’ के 13 मई को होने वाले प्रदर्शन को लेकर कश्मकश में हैं। उनका कहना है कि अगर हालात ठीक रहे तो ही वह ईद पर राधे रिलीज करेंगे। वरना राधे अगले साल ईद पर रिलीज की जाएगी।

Next Stories
1 ‘आहें न भरी शिकवे न किए…’
2 उम्मीदें जगाते उभरते कलाकार
3 कंगना रनौत का वार- मूवी माफिया से डरते हैं अक्षय जैसे बड़े सितारे, खुल कर नहीं, फोन पर कर रहे थलाइवी की तारीफ
ये पढ़ा क्या?
X