ताज़ा खबर
 

जब दर्द से तड़प रहे थे अमिताभ बच्चन, इंदिरा गांधी ने भिजवाई विशेष ताबीज़; करवाई थी पूजा

इंदिरा गांधी ने देवरहा बाबा से सफेद कपड़े में लिपटा एक विशेष ताबीज मंगवाया। यह ताबीज अमिताभ के तकिये के नीचे रखा गया और...

amitabh bachchan, indira gandhi, entertainmnet newsअमिताभ बच्चन बेटे अभिषेक के साथ, दूसरी तरफ इंदिरा गांधी (फोटोसोर्स- इंडियन एक्सप्रेस आरकाइव)

साल 1983 में आई अमिताभ बच्चन की फिल्म ‘कुली’ जबरदस्त हिट साबित हुई थी, लेकिन इस फिल्म के सेट पर हुए हादसे को बिग-बी अभी तक नहीं भूल पाए हैं। एक फाइटिंग सीन की शूटिंग के दौरान अमिताभ को ऐसी चोट लगी कि उनकी जान पर बन आई। वे कोमा में चले गए और डॉक्टरों ने उन्हें उन्हें क्लिनिकली डेड घोषित कर दिया गया था।

दरअसल, बंगलुरु में ‘कुली’ की शूटिंग चल रही थी। एक फाइटिंग सीन शूट किया जा रहा था। अमिताभ के ऑपोजिट पुनीत इस्सर विलेन का रोल निभा रहे थे। शूटिंग के दौरान उन्होंने अमिताभ के पेट में एक घूंसा मारा। बिग बी दर्द से कराह पड़े। पहले-पहल तो किसी को कुछ समझ नहीं आया, खुद अमिताभ को भी नहीं। वह बाहर जाकर एक पार्क में लेट गए।

लेकिन जब दर्द असहनीय हो गया तो उन्हें डॉक्टरों के पास ले जाया गया, तब कहीं जाकर चोट की गंभीरता का पता चला। चोट की वजह से अमिताभ की आंतें फट गई थीं। आनन-फानन में उन्हें मुंबई के ब्रीच कैंडी हॉस्पिटल ले जाया गया।

अमिताभ बच्चन के लिए पूरे देश में दुआएं मांगी जा रही थीं। उनके प्रशंसकों का रो-रोकर बुरा हाल था। जिस वक्त अमिताभ को चोट लगी उस वक्त इंदिरा गांधी एक आधिकारिक दौरे पर अमेरिका गई थीं। उनके साथ राजीव गांधी भी थे। अमिताभ की चोट की खबर सुनकर वह परेशान हो गईं। उन्होंने बेटे राजीव को तत्काल भारत रवाना कर दिया।

रो पड़ी थीं इंदिरा गांधी: भारत लौटते ही वो खुद अमिताभ से मिलने हॉस्पिटल पहुंचीं। इस घटना का जिक्र करते हुए वरिष्ठ पत्रकार और लेखक राशिद किदवई अपनी किताब ‘नेता अभिनेता: बॉलीवुड स्टार पावर इन इंडियन पॉलिटिक्स’ में लिखते हैं कि अमिताभ को ऐसी हालत में देख इंदिरा गांधी की आंखों में आंसू आ गए थे।

देवरहा बाबा से मंगाई ताबीज़: किदवई, कांग्रेस के दिवंगत नेता माखन लाल फोतेदार की आत्मकथा ‘द चिनार लीव्स’ के हवाले से लिखते हैं कि अमिताभ की चोट से इंदिरा इतनी परेशान हो गईं कि उन्होंने अपने पारिवारिक पंडित से विशेष पूजा अर्चना करने को कहा।

इसके अलावा इंदिरा गांधी ने देवरहा बाबा से सफेद कपड़े में लिपटा एक विशेष ताबीज भी मंगाया। यह ताबीज 10 दिनों तक अमिताभ बच्चन के तकिए के नीचे तब तक रखा रहा, जब तक पंडित ने अपनी पूजा नहीं पूरी कर ली।

Next Stories
1 कोई छोटा-मोटा रोल चाहिए तो बताना- मिथुन के सामने ही उनका मजाक उड़ाने लगे राजकुमार; मिला था ऐसा जवाब
2 ‘ये मेरा एरोगेंस नहीं..’ मुकेश खन्ना ने बताया- लोग देते हैं ऐसी सलाह, बोले- ‘महाभारत के अर्जुन’ ने भी मेरे लिए कही थी ये बात
3 नकली घी बेचने वाला दुकानदार तो… रोहित सरदाना ने ममता बनर्जी के गोत्र पर किया सवाल तो BJP नेता से मिला ऐसा जवाब
ये पढ़ा क्या?
X